‘‘कृषि यंत्रों के रख-रखाव‘‘ पर जबलपुर में तीन दिवसीय प्रशिक्षण किसानों की आय में वृद्धि योजना का उद्देश्य : डॉ. मिश्र - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

‘‘कृषि यंत्रों के रख-रखाव‘‘ पर जबलपुर में तीन दिवसीय प्रशिक्षण किसानों की आय में वृद्धि योजना का उद्देश्य : डॉ. मिश्र



‘‘कृषि यंत्रों के रख-रखाव‘‘ पर जबलपुर में तीन दिवसीय प्रशिक्षण
किसानों की आय में वृद्धि योजना का उद्देश्य : डॉ. मिश्र



जबलपुर । खरपतवार अनुसंधान निदेशालय, जबलपुर द्वारा दिनांक ०१-०३ सितम्बर को ‘‘कृषि यंत्रों के रख-रखाव‘‘ हेतु ‘‘कृषक प्रक्षेत्र में खरपतवार प्रवंधन हेतु उपयोग में आने वाले छिडकाव व निदाई यंत्रों का रख-रखाव’’ विषय पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण फार्मर-फस्र्ट परियोजना के तहत चयनित ग्राम बरौदा एवं उमरिया चैबे में आयोजित प्रशिक्षण में लगभग १०० किसान भाईयों ने भाग लिया।

निदेशालय के निदेशक डॉ. जे.एस. मिश्र ने इस परियोजना की सराहना करते हुए कहा कि योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय बढ़ाना एवं उनके जीवन स्तर को ऊँचा करना है ,योजना के हितग्राहियों से इस योजना का पूरा लाभ उठाने के साथ ही उनसे सहयोग करने की अपीेल की ताकि इस योजना का लाभ सही लाभाथिNयों तक अधिक से अधिक पहुंच सके।

डॉ. मिश्र ने कहा कि कृषि यंत्रों के सही रख-रखाव से कृषि की कार्यप्रणाली सुगम होती है जिससे उन्नत कृषि सुचारु रुप से एवं फसल उत्पादन में वृद्धि होती है।

परियोजना प्रमुख डॉ. पी.के. मुखर्जी, ने परियोजना में चलाये जा रहे विभिन्न माड्यूल्स जैसे उन्नत फसल उत्पादन, सब्जी उत्पादन, मुर्गी पालन एवं मशरूम उत्पादन के वारे में वताया साथ ही खरपतवार नियंत्रण में प्रयोग होने वालें विभिन्न नोजलों के विषय में जानकारी प्रदान की गयी

डॉ.आर.पी.दुबे प्रधान वैज्ञानिक ने कहा कि आज के समय में पोषक कदन्न फसला (ज्वार,कोदो,कुटकी,रागी, सवा आदि) का उत्पादन महत्वपूर्ण हो गया है जिससे हमारा समाज को पोषत अनाज पर्याप्त मात्रा में मिल सके।




इस कार्यक्रम में डॉ. विजय चौधरी, डॉ. योगिता घरडे, डॉ. दीपक पवार, इंजी.चेतन सी आर, डॉ. दिवाकर राय, डॉ दसारी श्रीकांत, डॉ. जमालुद्दीन ए. एवं परियोजना से जुड़े एस.आर.एफ. जितेन्द्र दुबे एवं परियोजना सहायक अंजनीकांत चतुर्वेदी एवं संदीप पटेल उपस्थित रहे एवं डॉ. दीपक पवार वैज्ञानिक द्वारा धन्यवाद प्रस्तुत किया गया।

पेज