गढ़ा पुलिस ने किया नाबालिग की हत्या का खुलासा जीजा ने अपहरण कर हजार फीट की खाई से फेंका - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

गढ़ा पुलिस ने किया नाबालिग की हत्या का खुलासा जीजा ने अपहरण कर हजार फीट की खाई से फेंका

 गढ़ा पुलिस ने किया नाबालिग की हत्या का खुलासा
जीजा ने अपहरण कर हजार फीट की खाई से फेंका



जबलपुर-विकास की कलम

जबलपुर के गढ़ा थानांतर्गत 345 JDA स्टोर के पास रहने वाले मिश्रा परिवार ने अपने 16 वर्षीय नाबालिग लड़के के गुम हो जानते कि शिकायत दर्ज कराई थी। इस दौरान परिजनों ने बताया कि उनका लड़का अतुल मिश्रा उम्र 16 वर्ष  बीते 11 जून को सुबह 10:30 पर दुकान जाने को कह कर घर से निकला था । बाद में उन्हें पता चला की उनका दमाद अभिषेक मिश्रा जबलपुर आया हुआ था और उनके लड़के अतुल मिश्रा को बुला कर बहला फुसला कर अपने साथ ले गया था। पीड़ित परिवार द्वारा अपने दमाद अभिषेक मिश्रा पर संदेह जाहिर करने पर मामला पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।मामले को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी गढा राकेश तिवारी के नेतृत्व मे एक टीम गठित की गई। जांच के दौरान  स्टेशन के आस पास के सीसीटीवी फूटेज खगांले गये, साथ ही संदेहियो से पूछताछ की गयी। वहीं सायबर सेल जबलपुर द्वारा   अभिषेक मिश्रा की लोकेशन भोपाल मे मिलने पर पता साजी हेतु टीम गठित कर भोपाल रवाना की गई एवं अभिषेक मिश्रा के मिलने पर हिरासत में लेकर थाना गढ़ा लाया गया।


जीजा ने खोली हत्या की गुत्थी


इधर पुलिस की गिरफ्त में आये अपहृत बालक के जीजा अभिषेक मिश्रा द्वारा सघन पूछताछ में बताया गया कि अपहृत बालक इसका साला था। जोकि इसकी पत्नि खुशबू को उसके चरित्र को लेकर अपशब्द गंदे कमेंट करता था। जिसकी जानकारी खुशबू द्वारा अपने पति अभिषेक को दी गयी थी।इस बात से नाराज अभिषेक ने अपने मन मे अतुल की हत्या करने का विचार बना लिया था। जिसने सोची समझी योजना के तहत अपने साथी मयंक द्विवेदी के साथ अपराध घटित करना स्वीकार किया ।जहां धार के काकड़ाखो खांई मे अपहृत बालक अतुल मिश्रा को मार पीट कर उठाकर काकड़खेड़ा की 1000 फिट की ऊचाई की खांई से फेंक देना स्वीकार किया ।


धार पुलिस कर चुकी थी शव दफ़्न,मृतक के सामान से हुई पहचान


घटना की विस्तृत जानकारी के बाद एक एक साक्ष्य और जानकारी जोड़ने पर पता चला कि  धार के मांडव थाना में एक अज्ञात मृतक की लाश मिली एवं अज्ञात मर्ग होने के कारण धार पुलिस द्वारा वहीं मर्ग कायम कर विधि पूर्वक कफन दफन की कार्यवाही कर दी गयी थी। मामले में  संदेही के कथनो की तस्दीकी एवं थाना मांडव मे मिले शव की शिनाख्तगी हेतु टीम गठित कर परिजनो के साथ थाना मांडव जिला धार रवाना की गई। थाना मांडवा पहुँचकर परिजनो द्वारा अज्ञात शव के कपड़े फोटो देख कर अपह्रत अतुल मिश्रा का होना स्वीकार किया।जिस पर शव उत्खनन करा कर परिजनो द्वारा पहचान कार्यवाही की गई। बाद मुखबिर द्वारा सूचना मिली के प्रकरण के आरोपी मयंक द्विवेदी ग्राम रेवड़, थाना पृथ्वीपुर मे उपस्थित है तत्काल टीम द्वारा मौके पर जाकर मयंक द्विवेदी को हिरासत में लेकर विस्तृत पूछताछ की गई। 


आरोपी जीजा और उसका साथी भेजा गया जेल..


इधर आरोपी जीजा के साथी मयंक से भी सघनता से पूछताछ की गई। जहां पूछताछ के दौरान मयंक ने भी अपराध करना स्वीकार किया। इसके बाद मयंक की निशानदेही पर आरोपी अभिषेक मिश्रा से उसके किराये के कमरे से मृतक अतुल मिश्रा का पिट्ठू बैग जिसमे मृतक का इलेक्ट्रिक सामान तथा मार्कशीट थे एवं आरोपी मयंक द्विवेदी से मृतक अतुल मिश्रा का स्टील का टिफिन और पर्स जिसमे मृतक का आधार कार्ड है। उसके किराये के कमरे बरादम किया गया। आरोपीयो द्वारा अपराध घटित करना सिद्ध पाये जाने पर दौनों आरोपियों को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश किया गया है। इस दौरान आरोपियो की पतासाजी तथा गिरफ्तारी मे थाना प्रभारी थाना गढा राकेश तिवारी, उपनिरीक्षक विनोद कुमार द्विवेदी, उपनिरीक्षक निर्भय सिंह, उ.नि. प्रशांत शुक्ला, आर. सचिन, आर. अश्विनी, आर. संतोष जाट, आर. नीरज सेन, पुलिस लाईन जबलपुर के स.उ.नि. विजय शुक्ला, स.उ.नि. राजेश शुक्ला, प्र.आर. ज्ञानेंद्र पाठक, प्र.आर. अजय यादव,प्र.आर. आनंद तिवारी, सायबर सेल के प्र.आर. अमित की सराहनीय भूमिका रही जो श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय जबलुपर द्वारा उक्त टीम को नगद पुरूस्कार से पुरूष्कृत करने की घोषणा की गई ।