कमल पर डलवाया; सपा ने EC के सामने लगाई शिकायतों की बाढ़, कमल पर डलवाया; सपा ने EC के सामने लगाई शिकायतों की बाढ़ - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

कमल पर डलवाया; सपा ने EC के सामने लगाई शिकायतों की बाढ़, कमल पर डलवाया; सपा ने EC के सामने लगाई शिकायतों की बाढ़


लखनऊ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले फेज की वोटिंग के तहत गुरुवार को 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान चल रहा है। समाजवादी पार्टी ने कई बूथों पर गड़बड़ी की शिकायत चुनाव आयोग से की है। पार्टी ने आरोप लगाया है कि आगरा में एक बुजुर्ग से कर्मचारियों ने कमल पर वोट डलवा दिया, जबकि वह साइकिल को वोट देना चाहते थे। वोटिंग शुरू होने के बाद से सपा की ओर से लगातार अलग-अलग बूथों पर गड़बड़ी की शिकायत चुनाव आयोग से की जा रही है।

समाजावादी पार्टी ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त को यह शिकायत भेजी है। पार्टी की ओर से कहा गया है कि आगरा जनपद के विधानसभा क्षेत्र-94 बाह के बूथ संख्या 126 पर 70 वर्षीय एक बुजुर्ग साइकिल को वोट देना चाहते थे, लेकिन कर्मचारियों ने उनका वोट कमल पर डलवा दिया। पार्टी ने तुरंत इसका संज्ञान लेकर कार्रवाई करने की मांग की है ताकि निष्पक्ष चुनाव हो।

एक अन्य शिकायत में सपा ने कहा है कि जनपद मेरठ के विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 26 पर मतदाता के पास पर्ची होने के बाद भी उसे मतदान नहीं करने दिया जा रहा है।

नोएडा और बुलंदशहर में भी गड़बड़ी का लगाया आरोप

समाजवादी पार्टी ने कहा है कि नोएडा-61 विधानसभा के बूथ संख्या 540 पर पुलिस भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में कार्य करते हुए मतदाताओं को वोट नहीं डालने दे रही है। पार्टी ने चुनाव आयोग से संज्ञान लेकर तत्काल कार्रवाई करते हुए आरोपी पुलिसकर्मियों को हटाने की मांग की है। सपा ने कहा है कि बुलंदशहर की डिबाई विधानसभा-68 के बूथ नंबर 1 पर मतदाताओं की शिकायत है कि ईवीएम में साइकिल का बटन दबाने पर लाइट नहीं जल रही है।

गाजियाबाद में भी गड़बड़ी का आरोप

सपा की ओर से कहा गया है कि विधानसभा क्षेत्र संख्या लोनी के बूथ संख्या 450, 461, 462, 463 पर मतदान अधिकारी द्वारा मतदान धीमा कर दिया गया है। भाजापा के एजेंट को छोड़कर अन्य विपक्षी पार्टियों के एजेंट को मतदान कक्ष से बाहर कर दिया गया है। पुलिस प्रशासन दबाव बनाकर मतदाताओं को बाद में आने के लिए कहा जा रहा है। जिससे मतदाताओं में काफी रोष है और वहां कानून व्यवस्था की स्थिति पैदा हो सकती है।

पेज