गोलीकांड पर भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का बयान, असदुद्दीन ओवैसी राष्ट्रभक्त नहीं पर हैं देशभक्त... - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

गोलीकांड पर भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का बयान, असदुद्दीन ओवैसी राष्ट्रभक्त नहीं पर हैं देशभक्त...

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए गुरुवार को मेरठ पहुंचे ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी जब दिल्ली वापस लौट रहे थे तो रास्ते में उनके काफिले पर हमला हो गया। इस घटना को लेकर उन्होंने संसद में सरकार पर हमला भी बोला। उन्होंने कहा कि इस हमले से साफ हो गया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था कितनी मुस्तैद है। अब ओवैसी पर हुए हमले के दो दिन बाद मामले में भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि भले ही ओवैसी राष्ट्रवादी न हों लेकिन देशभक्त हैं।

अपने बेबाक बयानों और कई बार अपनी ही मोदी सरकार को घेरने वाले भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने असदुद्दीन ओवैसी पर मेरठ में हुए हमले को लेकर बयान दिया है। शनिवार सुबह एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, "केवल तर्कहीन कट्टरपंथी ही ओवैसी सांसद की हत्या करना चाहेंगे। ओवैसी राष्ट्रवादी न होते हुए भी देशभक्त हैं। अंतर यह है कि ओवैसी हमारे देश की रक्षा करेंगे लेकिन वह यह नहीं मानते हैं कि हिंदू मुस्लिम डीएनए एक ही है। हमें उनके मुखर तर्कों को पूरा करना चाहिए न कि बर्बरता से।"

गौरतलब है कि गुरुवार को यूपी चुनाव के मद्देनजर चुनाव प्रचार से लौटते वक्त हापुड़ के छजरासी टोल पर आईएमआईएम के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी की कार पर गोलियां चलाई गई थी। इस घटना में पुलिस दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। इस गोलीकांड की घटना ने सड़क से संसद तक सियासत को गरमा दिया है। संसद में ओवैसी ने जेड सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया है लेकिन उनकी मांग है कि आतंकरोधी कानून के तहत कार्रवाई होनी चाहिए। हाईप्रोफाइल इस मामले में पुलिस अभी जांच में जुटी है।

जानिए आरोपियों का कबूलनामा
आरोपियों के खिलाफ ओवैसी के मित्र और करीबी यामीन खान ने मुकदमा दर्ज कराया है। आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया कि उन्होंने ओवैसी के बयानों से नाराज होकर हमला किया था। अभी कई सवाल हैं, जिन्हें लेकर पुलिस की जांच जारी है। आईजी मेरठ प्रवीण कुमार पूरे मामले पर नजर रखे हुए हैं और उनके द्वारा मॉनीटरिंग की जा रही है। दोनों आरोपियों के परिजनों से भी पूछताछ की गई है।

पेज