केंद्र की चिठ्ठी में राज्यों को अलर्ट रहने की सलाह अस्पतालों पर बढ़ सकता है दबाब - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

केंद्र की चिठ्ठी में राज्यों को अलर्ट रहने की सलाह अस्पतालों पर बढ़ सकता है दबाब

केंद्र की चिठ्ठी में राज्यों को अलर्ट रहने की सलाह
अस्पतालों पर बढ़ सकता है दबाब







नई दिल्ली, 

 देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले के बीच केंद्रीय
स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सोमवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य सचिवों को पत्र लिखा है। राजेश भूषण ने सभी राज्यों को कोरोना के हालात पर पैनी नजर रखने को कहा है। इसके साथ- साथ उन्होंने राज्यों को लिखे पत्र में कहा है कि वर्तमान में कोरोना मामलों में आए उछाल के बीच 5 से 10 फीसदी सक्रिय मामलों को ही अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ रही है। इसके लिए हमें तैयार रहना पड़ेगा।

हालांकि, उन्होंने राज्यों को चेतावनी देते हुए लिखा है कि स्थिति तेजी से बदल रही है और अस्पतालों में भर्ती की स्थिति भी तेजी से बदल सकती है। उन्होंने सभी राज्यों को कोरोना के एक्टिव मामलों पर नजर रखने कानिर्देश दिया है। बता दें कि भारत में एक दिन में कोरोना वायरस के 1,79,723 नए मामले आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3,57,07,727 पर पहुंच गई है, जिनमें से अभी तक 27 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश से आए ओमिक्रॉन वैरिएंट के 4,033 मामले भी शामिल हैं। 

आंकड़ों के अनुसार, ओमिक्रॉन के 4,033 मरीजों में से 1,552 स्वस्थ हो गए हैं या देश छोड़कर चले गए हैं। महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के सबसे अधिक 1,216 मामले आए। इसके बाद राजस्थान में 529, दिल्ली में 513, कर्नाटक में 441, केरल में 333 और गुजरात में 236 मामले आए। देश में एक दिन में संक्रमण के कुल 1,79,723 नए मामले आए, जो 227 दिनों में सबसे अधिक हैं।

 पिछले साल 27 मई को 1,86,364 नए मामले आए थे। देश में सात अगस्त 2019 को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2019 को 30 लाख और पांच सितंबर 2019 को 40 लाख से अधिक हो गई थी।

वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2019 को 50 लाख, 28 सितंबर 2019 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2019 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2019 को 80 लाख और 20नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे।

पेज