हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने मारीशस से किया अहम समझौता - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने मारीशस से किया अहम समझौता



हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने
मारीशस से किया अहम समझौता







हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने मॉरीशस सरकार के साथ उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर के निर्यात के लिए एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं। इसका इस्तेमाल मॉरीशस पुलिस बल करेंगे। मॉरीशस सरकार पहले से ही हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड निर्मित एएलएच और डीओ-228 विमान संचालित कर रही है।

 एचएएल ने अपने बयान में कहा कि इस अनुबंध के साथ एचएएल और मॉरीशस सरकार ने तीन दशकों में लंबे समय से चले आ रहे अपने व्यापारिक संबंधों को और मजबत किया है। जारी बयान में कहा गया है कि यह समझौता मित्र देशों को रक्षा निर्यात को बढ़ावा देने के भारत सरकार के दृष्टिकोण के अनुरूप है। अनुबंध पर एचएएल के हेलीकॉप्टर डिवीजन के महाप्रबंधक बीके त्रिपाठी और मॉरीशस सरकार के प्रधानमंत्री कार्यालय के गृह मामलों के सचिव ओके दाबिदीन द्वारा हाल ही मेंएचएएल के परिवहन विमान प्रभाग कानपुर हस्ताक्षर किए गए थे। एएलएच एमके थ्री 5.5 टन वजह की श्रेणी में एक मल्टी रोल, बहु-मिशन बहुमुखी हेलीकॉप्टर है। 

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के बनाए इस हेलिकाप्टर ने भारत और विदेशों में प्राकृतिक आपदाओं के दौरान कई जीवन रक्षक मिशनों सहित विभिन्न उपयोगिता भूमिका में अपनी योग्यता साबित की है। अब तक इस तरह के 335 से अधिक एएलएच हेलिकाप्टरों का उत्पादन किया जा चुका है। 

बयान में कहा गया है कि एचएएल हेलिकॉप्टर की सेवाक्षमता को सुनिश्चित करने के लिए ग्राहकों को तकनीकी सहायता भी सुनिश्चित करता है। उल्लेखनीय है कि सरकार की रक्षा निर्यात बढ़ाने की योजनाओं को लगातार सफलताएं मिल रही हैं। हाल ही में फिलीपींस ने भारतीय ब्रह्मोस एयरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड के 37.49 करोड़ अमेरिकी डालर (2779 करोड़ रुपये) के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।

पेज