जानिए क्या हुआ..?? जब टूटा... लड्‌डू गोपाल का हाथ रोते हुए अस्पताल पहुंचा पुजारी डॉक्टर ने चढ़ाया प्लास्टर - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

जानिए क्या हुआ..?? जब टूटा... लड्‌डू गोपाल का हाथ रोते हुए अस्पताल पहुंचा पुजारी डॉक्टर ने चढ़ाया प्लास्टर

जानिए क्या हुआ..??
जब टूटा.. लड्‌डू गोपाल का हाथ
रोते हुए अस्पताल पहुंचा पुजारी
डॉक्टर ने चढ़ाया प्लास्टर




आगरा, मध्यप्रदेश

कहतें है जब भक्ति सर चढ़कर बोलती है तब सारी मर्यादाएं धरी की धरी रह जाती है। इस दौरान भक्तों एक ऐसी मानसिक अवस्था में होता है कि उसे अहसास ही नहीं होता कि वह क्या कर रहा है। भक्ति गीति चरम सीमा को कुछ लोग वैराग्य कुछ समाधि तो कुछ लोग पागलपन की पराकाष्ठा कहते हैं। भले ही हम हर कसौटी को विज्ञान की नजर में परखने का प्रयास करते हो लेकिन कई बार कुछ ऐसी घटनाएं घट जाती है जिनका विज्ञान के पास कोई भी तर्क या जबाब नहीं होता। ऐसा ही एक मामला बीते दिनों प्रकाश में आया जब एक भक्त अपने भगवान को सीधे अस्पताल ले गया और उसे वहां एडमिट कराने की जिद पर अड़ गया । उसके बाद जो हुआ वह भक्त भगवान के अटूट संबंधों की  जीती जागती मिसाल पेश करता है।

मामला उत्तरप्रदेश के आगरा का है जहां एक मंदिर के पुजारी की अपने आराध्य भगवान श्री कृष्ण के प्रति अटूट भक्ति का नजारा देखने को मिला। यह घटना 19 नवंबर शुक्रवार की बताई जा रही है जहां एक पुजारी से लड्डू गोपाल को स्नान करवाते समय भगवान की प्रतिमा गिरी। जिससे मूर्ति का हाथ टूट गया। भगवान की टूटी मूर्ति देख पुजारी ने रोना शुरू कर दिया। पुजारी टूटी हुई मूर्ति को कपड़े में लपेट कर जिला अस्पताल पहुंचा। जहां वह लाइन में लगकर पर्ची बनावाने लगा। इस दौरान पुजारी लगातार रोता रहा औऱ मूर्ति के इलाज की गुहार लगाता रहा। वह वहां लड्डू गोपाल को अस्पताल में भर्ती कराने की जिद पर अड़ गया।


स्नान कराते वक्त टूटा लड्डू गोपाल का हाथ

घटना शाहगंज के खासपुरा एरिया के पथवारी मंदिर की है। मंदिर के पुजारी लेख सिंह करीब 25-30 साल मंदिर में विराजमान लड्डू गोपाल की सेवा करते आ रहे हैं। शुक्रवार सुबह 5 बजे स्नान कराते समय लड्डू गोपाल लेख सिंह के हाथों से गिर गए और उनका हाथ टूट गया। उन्होंने खुद खपच्ची बांधी और दर्द का मरहम लगाकर 8 बजे तक भगवान को गोद मे बिठाकर इंतजार किया।


पुजारी लड्डू गोपाल को अस्पताल में भर्ती कराने की जिद पर अड़ा

मगर, अस्पताल में कोई लड्‌डू गोपाल का इलाज करने को तैयार नहीं हुआ। ना ही उनका पर्चा बनाया गया। इससे वो बहुत परेशान हो गए। लड्‌डू गोपाल को इलाज न मिलने पर पुजारी रेलिंग में अपना सिर मार-मार कर रोने लगे। वह रोते-रोते बेहोश हो गए। इसको देखकर वहां पर भीड़ लग गई। सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें समझाया कि भगवान के चोट नहीं लगती। लेकिन पुजारी लड्डू गोपाल को अस्पताल में भर्ती कराने की जिद पर अड़ा रहा।


For Video News Click Here




डॉक्टर ने लड्डू गोपाल का प्लास्टर किया

प्लास्टर करवाने के लिए पर्चा बनवाने गए पुजारी को गार्ड ने भी भगा दिया। रोते बिलखते पुजारी को देख स्टाफ ने प्रमुख अधीक्षक को बताया। उन्होंने पर्चा बनवाकर हाथ की पट्टी कर दी। प्रमुख अधीक्षक डॉ. एके. अग्रवाल ने बताया श्री कृष्ण पिता का नाम श्री भगवान के नाम से पर्चा बनवाया। इसके बाद सीएसएम अशोक कुमार ने अपने केबिन को ऑपरेशन थिएटर बनाते हुए सबको बाहर किया। डॉक्टर ने लड्डू गोपाल का प्लास्टर किया और अपने हाथों से पुजारी को सौंपा।


सीएमएस डॉ. एके अग्रवाल ने बताया कि ऐसा मामला उनके सामने पहली बार आया है। लड्डू गोपाल का इलाज होने के बाद भी पुजारी लेख सिंह के आंसू नहीं रुक रहे थे। पुजारी की भक्ति देख वहां लड्डू गोपाल के दर्शन के लिए लोगों की भीड़ लग गई। पुजारी की इस अटूट भक्ति की हर ओर चर्चा हो रही है।