रोजा बख्शवाने गए थे, नमाज गले पड़ गई MPEB का नया स्टंट..बिल भुकतान हेतू अनशन पर बैठे ठेकेदारों पर निकाली करोड़ों की लेनदारी, नोटिस किया जारी.. - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

रोजा बख्शवाने गए थे, नमाज गले पड़ गई MPEB का नया स्टंट..बिल भुकतान हेतू अनशन पर बैठे ठेकेदारों पर निकाली करोड़ों की लेनदारी, नोटिस किया जारी..


रोजा बख्शवाने गए थे, नमाज गले पड़ गई 
MPEB का नया स्टंट..बिल भुकतान हेतू अनशन पर बैठे ठेकेदारों पर निकाली करोड़ों की लेनदारी, नोटिस किया जारी..




मध्य भारत विद्युत ठेकेदार संगठन का आंदोलन शक्ति भवन के प्रांगण स्थल पर लगातार 20 वे दिन भी जारी है। इस श्रमिक आंदोलन एवं अनशन में लगभग डेढ़ सौ ठेकेदार लगातार भाग ले रहे हैं। ठेकेदारों ने आरोप लगाते हुए कहा कि हमारी स्थिति अत्यधिक  दयनीय हो चुकी है।जिसका मुख्य कारण मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी हैं। उन्होंने उचित समय पर हमारा भुगतान नहीं किया एवं बिना किसी आदेश के इस भुगतान को लगातार तीन वर्षों से रोक कर बैठे हैं एवं यह पूर्ण हुए कार्यों का मापन करने से भी कतरा रहे हैं ।


नेशनल लोक अदालत में चले लात घूंसे सहायक यंत्री के साथ गुस्साए लोगों ने की मारपीट जानिए क्या है पूरा मामला


अधिकारियों पर बना दबाब तो उल्टे रिकवरी का थमा दिया नोटिस


वह कहते हैं ना कि...

रोजा बख्शवाने गए थे, नमाज गले पड़ गई 

कुछ ऐसे ही हाल अब अपने ही बिलों का भुगतान करवाने के लिए अनशन पर बैठे ठेकेदारों का हो गया है यह तो विदित ही है की सौभाग्य योजना के दौरान विद्युत विभाग द्वारा ठेकेदारों से काम कराया गया था लेकिन योजना में भारी भ्रष्टाचार हुआ और फिर ठेकेदारों की पेमेंट रोक ली गई अब अपनी पेमेंट विभाग से वापस पाने विद्युत ठेकेदार प्रदेशभर से आकर रामपुर स्थित शक्ति भवन में डेरा जमाए हुए हैं लेकिन उन्हें अंदाजा भी नहीं था कि अनशन पर बैठे विद्युत ठेकेदार जिस विभाग से वे अपने बिल का भुगतान मांग रहे हैं वही विभाग उल्टे ही उन ठेकेदारों के ऊपर करोड़ों रुपए की लेन दानी निकालकर नोटिस थमा देगा।


प्राप्त जानकारी के अनुसार केवल डिंडोरी जिले के ही ठेकेदारों से 11 करोड़ रुपए वसूलने के लिए नोटिस जारी कर दिए गए हैं।  जबकि बाकी के जिलों में शीघ्र ही नोटिस जारी कर कुल 45 करोड़ रुपए वसूले जाएँगे। अब सवाल ये उठता है कि जो ठेकेदार खुद अपने लंबित बिलों की मांग के लिए अनशन पर बैठे हैं वह करोड़ों रुपए की देनदारी कैसे चुकाएंगे..???


मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने तीन साल पहले प्रधानमंत्री हर घर सहज बिजली योजना के तहत काम कराया था।  अब कंपनी ने गड़बड़ी वाले 7 जिलों के ठेकेदारों पर करीब 45 करोड़ रुपये की लेनदारी निकाली है। बताया जाता है कि सौभाग्य योजना के तहत सिंगरौली, मंडला, सीधी, अनूपपुर, सागर, डिंडोरी और रीवा में कराए गए कार्यों की जाँच कराई गई।


जबलपुर पुलिस ने नशीले इंजेक्शन का जखीरा लेकर घूम रहे दो आरोपियों को किया गिरफ्तार


विद्युत ठेकेदारों ने किया चुनाव का बहिष्कार सरकार से मांगा इच्छा मृत्यु का वरदान



जबलपुर में बिजली ठेकेदार अपने किये गए कार्यो के लंबित भुगतान को लेकर लगातार बीस दिनों से जबलपुर विद्युत मंडल के कार्यालय के सामने अनशन पर बैठे है वही भुगतान न होने के चलते बिजिली ठेकेदारों ने सरकार से इच्छा मृत्यु की मांग की है साथ ही आने वाले पंचायत चुनाव को लेकर बिजली ठेकेदारों ने बहिस्कार की बात कही है,जहा बिजिली ठेकेदार का कहना है कि  उनके किये गए कार्यो का मध्यप्रदेश विद्युत मंडल भुगतान लंबे समय से नह कर रहा है जिसके कारण वह काम पर लगाये गए मजदूरों का भुगतान नही कर पा रहे है उनके साथ भी उनका परिवार जुड़ा हुआ है,,वही शाशन प्रशाशन उनकी भुगतान की मांगों पर ध्यान नही दे रहा है ऐसे में उन्हें इच्छा मृतुय की अनुमति दी जाए

मयंक श्रीवास्तव


खबरों में आगे है....


एमपी में अब और भी तेज रफ्तार के साथ दौड़ सकेंगी ट्रेनें जानिए WCR ने ऐसा क्या कर दिया


छात्रों ने शिक्षकों के सर पर डाला कूड़ा और पार कर दी बेशर्मी की सारी हद जानिए क्या है पूरा मामला


हवाला कारोबार के चलते सीबीआई ने दर्ज किए सात पुलिसकर्मियों के नाम पढ़िए क्या है यह पूरा मामला