मोबाईल टार्च और मोमबत्ती के उजाले में महिलाओं की डिलेवरी.. कागजों में दुरुस्त सरकारी अस्पताल का हाल.. - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

मोबाईल टार्च और मोमबत्ती के उजाले में महिलाओं की डिलेवरी.. कागजों में दुरुस्त सरकारी अस्पताल का हाल..

 मोबाईल टार्च और मोमबत्ती के उजाले में महिलाओं की डिलेवरी..
कागजों में दुरुस्त सरकारी अस्पताल का हाल..



 शिवपुरी मप्र


पोहरी विधानसभा के झिरी उप स्वास्थ्य केंद्र में मोबाइल टॉर्च के उजाले में होती है डिलेवरी, हो सकता है जच्चा-बच्चा की जान को खतरा


10 दिनों से खराब पड़ी है उप स्वास्थ्य केंद्र की बिजली,

शिकायत के बाद भी नहीं हुई सुनवाई


PWD राज्यमंत्री एवं पोहरी विधायक सुरेश राठखेड़ा के क्षेत्र के हाल बेहाल


शिवपुरी मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा की स्थिति आज भी दयनीय बनी हुई है.सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लाख दावे करे लेकिन जमीनी हकीकत इसके बिल्कुल विपरीत है.सरकारी अस्पताल में मोबाइल टॉर्च और मोमबत्ती के उजाले में प्रसूता महिलाओं और नवजात बच्चे की जान जोखिम में डाल  डिलेवरी कराई जा रही है।




मामला शिवपुरी जिले की पोहरी विधानसभा क्षेत्र से है जहां झिरी उप स्वास्थ्य केंद्र का है जहां मोबाइल टॉर्च और मोमबत्ती के उजाले में प्रसूताओं की डिलेवरी कराई जा रही है.जिससे जच्चा-बच्चा की जान को खतरा बना हुआ है आपको बता दें कि झिरी उप स्वास्थ्य केंद्र की बिजली लाइन खराब होने से ऐसे हालात बने हैं.हैरानी की बात तो यह है कि अस्पताल की बिजली लाइन पिछले 10 दिनों से ज्यादा समय से खराब पड़ी हुई है।


जिसकी शिकायत यहां पदस्थ एएनएम द्वारा बिजली विभाग के सुपरवाइज़र सहित पोहरी बीएमओ डॉ शशांक चौहान को की जा चुकी है.लेकिन अभी तक इसे ठीक नहीं कराया गया है.जिस कारण ग्रामीण क्षेत्रों की प्रसूता महिलाओं और नवजात बच्चों की जान पर संकट बना हुआ है।


मीडिया में मामला आते ही विभाग का अमला सक्रिय हो गया है। इस पूरे मामले में जब पत्रकारों ने शिवपुरी के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अर्जुन लाल शर्मा से बात की तो उन्होंने बताया कि बीते दिनों हुई भारी बारिश के चलते पूरे क्षेत्र की विद्युत व्यवस्था चरमरा गई थी। जगह जगह पर क्षतिग्रस्त हुए बिजली के खम्बों और ट्रांसफार्मर के चलते बिजली की सप्लाई बाधित हुई थी। बहरहाल उन्होंने बिजली विभाग के आला अधिकारियों से संपर्क कर तत्काल ही उप स्वास्थ्य केंद्र की बिजली व्यवस्था सुधारने की बात की है। जलद ही अस्पताल में सभी व्यवस्था सुचारू रूप ले लेगी।