"उल्टा झंडा" लगी गाड़ी में शान से घूमे उच्च शिक्षा मंत्री.. मामले की भनक लगते ही ड्राइवर पर गिरी गाज.. - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

"उल्टा झंडा" लगी गाड़ी में शान से घूमे उच्च शिक्षा मंत्री.. मामले की भनक लगते ही ड्राइवर पर गिरी गाज..

"उल्टा झंडा" लगी गाड़ी में शान से घूमे उच्च शिक्षा मंत्री..
मामले की भनक लगते ही ड्राइवर पर गिरी गाज..




राजगढ़  मध्यप्रदेश


प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव की गाड़ी में स्वतंत्रता दिवस की सलामी परेड के दौरान लगे उल्टे झंडे की खबर ने सोशल मीडिया में काफी ट्रेंड किया। मामला देश के हृदय यानी मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले से सामने आया है।


 स्वतंत्रता दिवस के दौरान परेड की गाड़ी पर उल्टा तिरंगा लगाया था। इस बारे में जब कलेक्टर नीरज कुमार सिंह से चर्चा भी की गई तो ततकाल संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक श्री प्रदीप शर्मा द्वारा जिप्सी में उल्टा झंडा लगाए जाने के मामले में वाहन चालक को निलंबित कर दिया । साथ ही दो अन्य को शोकॉज नोटिस जारी किए गए हैं। 


जानिए आखिर क्या है पूरा मामला..???

दरअसल स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राजगढ़ जिले के मुख्य ध्वजारोहण कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए उच्च शिक्षा मंत्री और राजगढ़ के प्रभारी मंत्री डॉ मोहन यादव कार्यक्रम स्थल पहुंचे। मंत्री जी ने तयशुदा कार्यक्रम के तहत ध्वजारोहण किया। लेकिन इसके बाद इतनी बड़ी चूक हो गयी। जिसके बारे में किसी ने ख्वाबों-ख़यालों में भी नहीं सोचा होगा।

 आपको जान कर आश्चर्य होगा कि राजगढ़ जिले के ध्वजारोहण कार्यक्रम  के बाद परेड लेते समय प्रभारी मंत्री महोदय जिस गाड़ी में सवार थे। उसमें जो झंडा लगा था वह पूरे समय उल्टा लगा रहा।

जिसका वीडियो सोशल मीडिया वायरल हो गया, यही नहीं उल्टा झंडा लगा फोटो को मंत्री ने ट्वीट भी कर दिया लेकिन जब कुछ देर पर बाद उन्हें इस विवाद का पता चला तो उन्होंने अपना ट्वीट हटा दिया।





इस मामले में राजगढ़ पुलिस ने माना है कि झंडा उल्टा लगा था, लेकिन उस मामले में सिर्फ ड्राइवर पर कार्रवाई की गई और दो लोगों को नोटिस दिया गया है वहीं “एसपी राजगढ़ प्रदीप शर्मा ने कहा है कि जिप्सी में उल्टा झंडा लगाएं जाने के मामले में ड्राइवर को सस्पेंड कर दिया गया है, साथ ही दो अन्य को शोकॉज नोटिस जारी किए गए हैं। जवाब मिलने पर उनके विरुद्ध भी वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।”


आखिर जिम्मेदारों को क्यों नहीं दिखी ये चूक..

इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस के प्रवक्ता के के मिश्रा ने शहर के जिम्मेदार अधिकारियों और नेताओ पर  सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा कि...

स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व के दौरान ऐसी चूक होना आम बात नहीं है। माना जा सकता है कि गाड़ी सजाने वाले से जल्दबाजी में यह गलती हो गयी हो। लेकिन खास बात तो यह है कि इसी गाड़ी पर प्रभारी मंत्री और जिले के एसपी और कलेक्टर जैसे  सबसे जिम्मेदार अधिकारी भी सवार थे। जो इसी उल्टे तिरंगे को देख रहे थे लेकिन उन्हें उनकी उस गलती के लिए कोई नोटिस नहीं दिया गया। और वाहन चालक को निलंबित कर मामले को रफ़ा दफा करने का काम किया जा रहा है।