चांदी की चम्मच मुंह में रखकर पैदा होने वाले क्या जाने... अनुशासन क्या चीज है..??? चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग का बयान - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

चांदी की चम्मच मुंह में रखकर पैदा होने वाले क्या जाने... अनुशासन क्या चीज है..??? चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग का बयान

चांदी की चम्मच मुंह में रखकर पैदा होने वाले क्या जाने... अनुशासन क्या चीज है..???
चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग का बयान




बालाघाट इन्वेस्टरमीट पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास  सारंग अपने पूरे फार्म में दिखे। मानो की वे मौका ही तलाश रहे थे कि कब उन्हें अपनी बात रखने का अवसर मिले। और आखिरकार उन्हें बालाघाट इन्वेस्टर मीट पर यह मौका मिल ही गया और फिर उन्होंने अपने जाने पहचाने आक्रामक अंदाज में कांग्रेस की एक के बाद एक धज्जियां उड़ाना शुरू कर दिया। दरअसल कार्यक्रम के शुरुआती दौर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री निवेशकों को संबोधित करते हुए नजर आए उन्होंने कहा,

 मध्यप्रदेश में निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए इस बात को सुनिश्चित कर रहे हैं देश की हर सेगमेंट की इंडस्ट्रीज मध्य प्रदेश में निवेश करें।निवेश पॉलिसी पर हम काम कर रहे हैं।मध्य प्रदेश में निवेश करने वालों को योजनाओं का लाभ देतें है। इंवेस्टरमीट में अलग-अलग सेगमेंट पर बातचीत हो रही है, उसमें मिलर्स भी शामिल है।


दुष्कर्म पीड़िता का वीडियो सोशल मीडिया से नहीं हटाने पर राहुल गांधी को फेसबुक से मिला नोटिस।


विश्वास सारंग ने कहा -


 नेहरू परिवार हर समय से अनुशासनहीनता करता आया है।

राहुल गांधी कभी स्कूल नहीं गए न कभी अनुशासन का पाठ पढ़ा।

राहुल चांदी का चम्मच मुंह में लेकर पैदा हुए अनुशासन क्या होता है इसका ज्ञान नहीं है।

उनकी परवरिश साम्राज्यवादी है उनका परिवार तो इस देश पर राज करता रहा है।

उनके भाषण उनका ट्वीट उनकी बॉडी लैंग्वेज इस बात को दर्शाती है कि वह अपने आप को समाज से ऊपर मानते हैं। पीड़ित महिलाओं को राहुल ने बदनाम किया है।

लेकिन यह देश संविधान पर चलेगा।


जन आशीर्वाद यात्रा पर सारंग ने कहा - 


यह  हमारी भावनाओं को प्रतिपादित करती है।

हम जनता के कल्याण के लिए है।

हम एसी कमरों में बैठकर राज नहीं करना चाहते 

हमारे मंत्रियों ने संविधान की शपथ ली है ना कि चमचमाती गाड़ी और एसी कमरों में बैठकर सरकार चलाने के लिए।

हम जनता के बीच जाएंगे जनता की समस्या को सुनेंगे।

हमारी रीति नीति और कार्यक्रमों को जनता के बीच में जाकर बताएंगे।

यह सुनिश्चित करेंगे की बीजेपी सरकार की योजनाओं का लाभ आम जनता को मिल सके।


दिग्विजय सिंह को तालिबानी एक्टिविटी होने का पहले से ही पता होने पर सारंग ने कहा - 


दिग्विजय सिंह तालिबानी मानसिकता से ग्रस्त हैं।

दिग्विजय सिंह ने तालिबानी नीतियों को संरक्षण देने का प्रयास किया है।

कांग्रेस ने अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर हिंदुस्तान का नाम बदनाम हो हमारा सम्मान कम हो इसका प्रयास किया है।

अंतरराष्ट्रीय विषय पर बीजेपी का कोई नेता नहीं बोल रहा है।

अंतराष्ट्रीय मुद्दा है सरकार का विषय है इस पर हम कुछ भी टिप्पणी करेंगे तो उसका असर भारत के मान सम्मान और विदेश नीति पर पड़ सकता है, लेकिन दिग्विजय सिंह को इससे क्या लेना देना लेकिन दिग्विजय सिंह को मीडिया की सुर्खियां बनने से मतलब है।


कांग्रेस का सिंधिया के नाम पर राजनीति करने पर सारंग ने कहा - 


नाच ना आवे आंगन टेढ़ा क्योंकि सिंधिया जी ने कांग्रेस को घुटने पर ला दिया है।सिंधिया ने यह स्थापित कर दिया है की वह देशद्रोहियों के साथ नहीं रहेंगे।

सारंग ने कहा सिंधिया देश प्रेमियों के साथ आ गए हैं, इसलिए कांग्रेसियों के पेट में दर्द हो रहा है। 

आराम करने वाले कांग्रेसी भ्रष्टाचार के माध्यम से अपनी दुकानें चलाना चाहते थे, उनकी दुकानों को बंद करना है काम ज्योतिराज सिंधिया ने किया है। 

सिंधिया हमारे नेता के रूप में आगे बढ़ते जा रहे है उन को कोसने से कुछ फर्क नहीं पड़ेगा।


कांग्रेस की भाषा पर सारंग ने कहा - 


कांग्रेस से अनुशासन और मर्यादा की अपेक्षा नहीं कर सकते हैं।

कांग्रेस हिंदुस्तान की नहीं इटली की है। 

इटली की महारानी जो सिखाती है कांग्रेस वो सीख रही है।



.चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग