हिन्दू-मुस्लिम दंगा भड़काने की साजिश.. खुद मस्जिद में लिखा "जय श्री राम" और फिर थाने में की शिकायत - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

हिन्दू-मुस्लिम दंगा भड़काने की साजिश.. खुद मस्जिद में लिखा "जय श्री राम" और फिर थाने में की शिकायत

हिन्दू-मुस्लिम दंगा भड़काने की साजिश..
खुद मस्जिद में लिखा "जय श्री राम" और फिर थाने में  की शिकायत




हैदराबाद

 कभी सनक कभी भटकाव तो कभी राजनीतिक उसकाव के चलते अक्सर कुछ लोग सांप्रदायिक दंगे भड़काने का प्रयास करते हैं लेकिन वे यह भूल जाते हैं की इन वारदातों के साथ-साथ देश की एकता और अखंडता भी बाधित होती है। जबरन सांप्रदायिक दंगे भड़काने का प्रयास करने का ताजा मामला हैदराबाद से सामने आया है जहां पर एक युवक ने खुद ही मस्जिद में जय श्री राम लिखा और उसके बाद थाने पहुंचकर इस बात की शिकायत की कि किसी अपराधिक तत्वों ने मस्जिद में जय श्री राम लिखा है लेकिन पुलिस की तत्परता के चलते दंगे भड़काने की साजिश नाकाम हो गई आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला..

कहां का है यह मामला..?? क्या है पूरी कहानी..??


तेलंगाना के भैंसा के ASP किरण खरे ने बताया  कि मस्जिद की दीवारों पर ‘जय श्री राम’ लिखने वाले लोगों की CCTV फुटेज से शिनाख्त कर ली गई है। आरोपितों में से एक की पहचान मोहम्मद अब्दुल कैफ के तौर पर हुई है और दूसरा नाबालिग है। घटना तेलंगाना के भैंसा की है। बता दें कि हाल ही में भैंसा में हिंदू-मुस्लिम का दंगा भड़का था, जिसके चलते वहाँ पर सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न हो गया था।

सीसीटीवी फुटेज ने खोला लाल बाग ना हो सकती थी बड़ी वारदात


पुलिस अधिकारी का कहना है कि उन्हें शिकायत मिली थी कि 26 मई को स्थानीय मस्जिद की दीवारों पर कुछ असामाजिक तत्वों ने ‘जय श्री राम’ लिख दिया था। शिकायत के बाद, पुलिस ने फ़ौरन मामले की जाँच की और संबंधित CCTV फुटेज एकत्र किए। इसके बाद दो संदिग्धों की शिनाख्त कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार किए गए आरोपितों में मोहम्मद अब्दुल मजीद का 20 वर्षीय बेटा मोहम्मद अब्दुल कैफ है और एक 14 वर्षीय नाबालिग शामिल है।दोनों आरोपित मस्जिद के पास के इलाके में रहते हैं। आरोपित ने कहा कि नाबालिग लड़के ने बड़े लड़के द्वारा ऐसा करने का आदेश दिए जाने के बाद ‘जय श्री राम’ लिखा। CCTV फुटेज के साथ ही लिखावट भी संदिग्ध से मेल खाती है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपितों ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है।

2 दिन पूर्व ही हुई थी सांप्रदायिक झड़प


बता दें कि बीते दिनों भैंसा में दो धार्मिक समूहों के बीच सांप्रदायिक झड़प हुई थी, जिसके परिणामस्वरूप दो घरों और नौ वाहनों में आग लगा दी गई थी। पथराव में कुछ पत्रकारों और पुलिसकर्मियों समेत 10 लोग जख्मी हो गए थे। पुलिस ने बाद में कहा था कि हिंसा दो व्यक्तियों के बीच एक बाइक हादसे पर बहस के बाद हुई, जो बाद में दो धार्मिक समूहों के बीच लड़ाई में बदल गई और पूरे शहर में फैल गई।

यह भी जरूर पढ़ें...