सचिव रोजगार सहायक संयुक्त मोर्चा ने दी.. 9 मई से काम बंद हड़ताल की चेतावनी - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

सचिव रोजगार सहायक संयुक्त मोर्चा ने दी.. 9 मई से काम बंद हड़ताल की चेतावनी

 सचिव रोजगार सहायक संयुक्त मोर्चा ने दी..
9 मई से काम बंद हड़ताल की चेतावनी





*सचिव रोजगार सहायक संयुक्त मोर्चा संगठन ने*

 *समस्याओं का निराकरण नहीं करने पर.*

 *9 मई से काम बंद कलम बंद कार्यालय बंद हड़ताल की दी चेतावनी*


हाशिम खान-सिवनी-छपारा

छपारा- सचिव रोजगार सहायक संयुक्त मोर्चा के तत्वधान ऊपर ब्लॉक छपारा संगठन पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक संगठन द्वारा जिला कलेक्टर के नाम जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को एक ज्ञापन सौंपते हुए अपनी लंबित समस्याओं को समय रहते निराकरण करने के लिए ज्ञापन सौंपा है। जिसमें चेतावनी देते हुए कहा गया है यदि 9 मई तक समस्याओं का निराकरण नहीं किया जाता है तो काम बंद कलम  बंद कार्यालय बंद किया जाएगा बताया जाता है कि यह ज्ञापन छपारा विकासखंड ग्राम पंचायत सचिव संघ के अध्यक्ष उदय बेलवंशी एवं रोजगार सहायक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष ईश्वर ठाकुर के द्वारा जनपद पंचायत छपारा सीईओ को अवगत कराया है कि पंचायत सचिवों और रोजगार सहायकों भयंकर महामारी कोरोना के दौरान जमीनी स्तर पर कार्य को देखते हुए कोरोना योद्धा घोषित करने के लिए 26 अप्रैल को जिला कलेक्टर सहवन को पंचायत सचिव रोजगार सहायक समेत ग्रामीण विकास विभाग के अमले को जिला बार कोरोना योद्धा के अंतर्गत पात्र कर्मचारी के आदेश जारी करने के निर्देश जारी किए गए थे इसके बावजूद प्रदेश भर में 10 से 12 कलेक्टर सहवान के द्वारा उनके द्वारा पूर्व में जारी आदेश निरस्त कर दिए गए हैं प्राप्त जानकारी के अनुसार आदेश निरस्त करने के भोपाल स्तर से बीसी में निर्देश दिए गए हैं जबकि कोरोना महामारी के बीच ड्यूटी करते हुए मध्य प्रदेश में 50 से अधिक सचिव एवं रोजगार सचिवों की मृत्यु हो  चुकी है इसके बावजूद अधिकारियों के द्वारा प्रदेश के 46 हजार सचिव एवं रोजगार सचिवों के कोरोना के नाम पर आंख मेंचोली की जा रही है। सुबह से शाम तक बिना सक्षम अधिकारी के लिखित आदेश जारी किए गए हैं व्हाट्सएप मैसेज के माध्यम से काम कराया जा रहा है। प्रदेश भर के बड़े अधिकारी वीसी रूम में अपने परिवार के साथ घर में आराम से बैठकर सचिव एवं रोजगार सहायक सचिवों को मौत के मुंह में धकेल रहे हैं। और कोरोना योद्धा के नाम पर भी षड्यंत्र कर रहे हैं।

 ज्ञापन में लिखा है पंचायत सचिव संगठन एवं रोजगार सहायक सचिव संगठन द्वारा संयुक्त रूप से निर्णय लिया गया है कि 9 मई तक निम्नलिखित समस्याओं का निराकरण नहीं किया जाता है तो प्रदेश भर के सचिव एवं रोजगार सहायक 10 मई से काम बंद कर देंगे अपने परिवार की चिंता करते हुए अपने घर पर रहेंगे ।कोरोना योद्धा नहीं" तो काम नहीं के लिए बध्य होंगे जिसका प्रशासन स्वयं जिम्मेदार होगा यह मांग की गई है उन्होंने आगे मांग किया है दिवंगत हुए सचिव एवं सहायक सचिवों के परिजनों को तत्काल 50, 50 लाख रूपये  की क्षतिपूर्ति राशि का भुगतान किया जाए यह मांग उठाते हुए यह भी कहा गया है प्रदेश भर में सचिव एवं रोजगार सहायकों से व्हाट्सएप मैसेज से कोरोनावायरस के दौरान ड्यूटी कराई जा रही है।  एसडीएम स्तर के अधिकारियों से ड्यूटी आदेश जारी कराए जाएं।