Breaking

सोमवार, 3 मई 2021

दमोह उपचुनाव हारने के बाद बीजीपी में हो रहा अंतर क्लेश पूर्व मंत्री पीसी शर्मा के बयान


दमोह उपचुनाव  हारने के बाद बीजीपी में हो रहा अंतर क्लेश 
पूर्व मंत्री पीसी शर्मा के बयान




बीजेपी के दमोह उपचुनाव  हारने के बाद बीजीपी में हो रहा अंतर क्लेश ।  कुछ इसी तरीके के अल्फाजों के साथ मीडिया से रूबरू हुए कांग्रेस पूर्व मंत्री पीसी शर्मा । उन्होंने कहा कि भाजपा में क्लेश दिल्ली से लेकर भोपाल तक हुआ है। दस मंत्रियों को बीजेपी ने बंगाल के चुनाव में भेजा था ,वह सफाया हो गया ,,वह आपदा में अवसर ढूंढ रहे थे  राहुल लोधी जो करोड़ों में बिक गया था। बीजेपी में  वह राहुल लोधी 17 दे 18 हज़ार  वोटों से हार गए,, अब चार्ज लगा रहा है जयंत मलैया जी पर,,,,

 मध्यप्रदेश के गृहमंत्री कह रहे है कि जयचंदो की वजह से हारे,,,



कोरोनाकाल मे सरकार  की व्यवस्थाओं पर बोले पीसी शर्मा


पूरे हिंदुस्तान में  इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कमी हुई है,,,, जो बीच का समय मिला था सरकार को  उस समय मध्य प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी पीठ थपथपा रहे थे ,,वैक्सीन दूसरे देशों को बेच दी गई और आज छोटे-छोटे कोरिया जैसे देशों के सामने हाथ फैला रहे,, कोरोना काल में सरकार का जो फैलियर हुआ है उसकी वजह से हजारों लोगों की जानें गई,,,,,, 



कोरोना काल में किए गए चुनाव और कोरोना की वजह से दोनों पार्टियों के  नेताओं की मृत्यु पर विधायक शर्मा ने कहा कि,,,,भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष थे नंदू भैया की  उनकी मृत्यु हो गई,,, वही कांग्रेस के विधायको की जान कोरोना में चली गई और  कुल मिलाकर भारतीय जनता पार्टी कोरोना से अपनी जंग नहीं लड़ पाई,,

BJP दमोह चुनाव में जीतकर अपनी स्थिति मजबूत करना चाहती थी मगर


 दमोह चुनाव में मध्य प्रदेश की जनता ने BJP को यह संदेश दे दिया है अब खरीद फरोख्त की सरकार नहीं चलेगी,,,,,



करोना जांच के लिए 500 करोड़ का बजट आवंटन करने पर पीसी शर्मा ने कहा कि,, यह सब पहले होना चाहिए था 6 महीने पहले होता तो भोपाल में,, कोरोना से 25 सौ  लोगों की मौते हुई है इन्ही के हिसाब दे  यह सड़कर मौत के  आंकड़े भी छुपा रहे हैं,, यह हम ही नहीं कह रहे हैं ,,,,,


इंदौर के सांसद ललवानी कह रहे हैं कि मीडिया वाले खुद फैला रहे करो ना जिस पर पीसी शर्मा ने लालवानी पर तंज कसते हुए कहा कि,, ललवानी जी इंदौर की हालत बहुत खराब है वहां आप आकर देखो पत्रकारों पर आरोप मत लगाओ



शिवराज सिंह चौहान के अभिमान ने पत्रकारों को फ्रंटलाइन कोरोना वारियर घोषित करने पर कहा कि,,

कमलनाथ जी ने खुद कहा था कि पत्रकार कोरोना वारियर का खिताब दिया जाए क्योंकि वह अपनी जान हथेली पर लेकर 24 घंटे करो ना महामारी में घूमते हैं,,, शिवराज सिंह चौहान को सभी पत्रकारों को फ्रंटलाइन कोरोना बरियार करना चाहिए ,,उन्होंने कह दिया अधिमान्य अधिमान्य तो भारतीय जनता पार्टी के नेता बने बौठे है शिवराज ने उन्हें देने के लिए किया है क्या,,


पीसी शर्मा कांग्रेस पूर्व मंत्री और विधायक

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार