कोरोना में भी जारी..सियासी तू-तू..मैं-मैं.. भाजपा छिंदवाड़ा जिलाध्यक्ष ने पूर्व सीएम पर लगाए आरोप - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

कोरोना में भी जारी..सियासी तू-तू..मैं-मैं.. भाजपा छिंदवाड़ा जिलाध्यक्ष ने पूर्व सीएम पर लगाए आरोप

कोरोना में भी जारी..सियासी तू-तू..मैं-मैं..
 भाजपा छिंदवाड़ा जिलाध्यक्ष ने पूर्व सीएम पर लगाए आरोप




सुदेश नागवंशी ,छिंदवाड़ा

छिंदवाड़ा कोरोना काल जैसी आपदा की घड़ी में भाजपा और कांग्रेस के बीच बयानबाजी का दौर जारी है, जिससे छिंदवाड़ा की सियासत का पारा उफान पर है। चाहे भाजपा और या कांग्रेस हर कोई कोरोना के बहाने एक दूसरे पर आरोप लगाने का मौका नहीं छोड़ रहे है, आज भाजपा जिलाध्यक्ष ने एक प्रेस वार्ता में कोरोना के बहाने पूर्व सीएम कमलनाथ पर तंज कसते हुए जमकर आरोप लगाए। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते पूर्व सीएम पर आरोप लगाया कि जब कोरोना की दूसरी लहर आई तो पूर्व सीएम कमलनाथ मुश्किल से छिंदवाड़ा में सिर्फ 6 घंटे ही रूके है, वे विपदा की इस घड़ी में छिंदवाड़ा से भाग रहे है। भाजपा जिलाध्यक्ष ने यह भी आरोप लगाया कि कोरोना काल में छिंदवाड़ा आना इसलिए मजबूरी बन गई है , क्योंकि पिछले साल जब कोरोना की लहर आई थी तो जनता ने उनके लापता होने के पोस्टर लगा दिए थे, जिसके कारण मजबूरी में उन्हे छिंदवाड़ा आना पड़ रहा है।


आक्सीजन के नाम पर भी कर रहे गुमराह !


भाजपा जिलाध्यक्ष ने बताया कि कोरोना काल में छिंदवाड़ा को जो आक्सीजन टेंकर प्राप्त हो रहे है वे प्रदेश सरकार की ओर से भेजे जा रहे है, पूर्व सीएम ने जिले में एक ग्राम आक्सीजन भी नहीं भेजी है, वे सिर्फ झूठ बोल रहे है, वहीं विवेक साहू ने भाजपा सरकार के द्वारा आक्सीजन की व्यवस्था, रेमडेसीविर इंजेक्शन और छिंदवाड़ा में चालू किए गए आक्सीजन प्लांट को लेकर सरकार की उपलब्धियां भी गिनाई।


कोविड केयर सेंटर खुलवाने का दावे पर भी उठाए सवाल ?


प्रेस कांफे्रस में भाजपा नेता विवेक साहू बंटी ने पूर्व सीएम कमलनाथ और उनके बेटे सांसद नकुलनाथ पर एक और आरोप लगाते हुए उनकी मंशा पर सवाल उठाया, उन्होंने कहा कि रानी कोठी में एक निजी संस्था ने अस्थाई अस्पताल खोला है लेकिन पूर्व सीएम और सांसद ने विज्ञप्ति जारी कर इसे अपनी उपलब्घि बताई थी, साहू के अनुसार दो दिन पहले जब यहां जांच रिपोर्ट में गड़बडी के बाद एक कोरोना पीडि़त वृध्द अनशन पर बैठ गया तो कांग्रेस इस बात से मुकर गई और अब यह विज्ञप्ति जारी करने लगी कि पूर्व सीएम और सांसद का इस कोविड केयर से कोई लेना देना नहीं है।