आशा कार्यकर्ताओं एवं स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा अधिकारियों पर लगाए गए दुरव्यवहार के आरोप - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

आशा कार्यकर्ताओं एवं स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा अधिकारियों पर लगाए गए दुरव्यवहार के आरोप

आशा कार्यकर्ताओं एवं स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा
अधिकारियों पर लगाए गए दुरव्यवहार के आरोप





 छतरपुर मध्य प्रदेश

छतरपुर जिला के बमीठा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली बसारी स्वास्थ्य केंद्र की आशा कार्यकर्ताओं को रोजाना दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ता है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पीएसी बसारी स्वास्थ्य केंद्र में खिलाड़ी नामदेव के द्वारा आशा कार्यकर्ताओं के साथ बदतमीजी से बात की जाती है ।


केंद्र के बाहर उतारो चप्पल..नियम सिर्फ निचले कर्मचारियों के लिए


आशा कार्यकर्ताओं ने बताया कि यहां स्वास्थ्य केंद्र में चप्पल पहन के अंदर आते हैं तो उनसे बदतमीजी से बात की जाती है और बताया गया कि सभी अधिकारी जूते चप्पल पहन कर घूमते हैं स्वास्थ्य केंद्र में आशा कार्यकर्ताओं चप्पल जूते बाहर उतारने पड़ते हैं ऐसा न करने पर उनकी बेइज्जती पीएसी के अधिकारियों द्वारा की जाती है।


आशा कार्यकर्ताओं ने सौपा ज्ञापन

उपरोक्त समस्याओं और दुर्व्यवहार को लेकर स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉक्टर यशवंत बमोरिया जी को ज्ञापन दिया गया  जिसमें आशा कार्यकर्ताओं ने लिखा की आपदा की इस घड़ी में हैम खुद की परवाह किये बिना समर्पण भाव से कार्य कर रहे है लेकिन हमारे अधिकारी ही हमे हीं भावना से देखते है। हमारे साथ केंद्र में अक्सर दुर्व्यवहार किया जाता है। इस अवसर पर सेक्टर बसारी सहयोगिनी पार्वती पटेल सेक्टर बसारी सभी आशा कर्ताओं की उपस्थिति में डॉ यशवंत बमोरिया को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन के दौरान उन्हें आश्वासन दिया गया है कि आज के बाद आप लोगों को कोई परेशान नहीं करेगा ।


मीटिंग के दौरान बैठने को कुर्सी तक नहीं दी जाती..

आशा कार्यकर्ताओं बताया के यहां कुर्सी की व्यवस्था नहीं है यहां मीटिंग बाहर खड़े होकर ली जाती है इसे लेकर भी कई बार शिकायत की जा चुकी है। लेकिन अभी तक कोई निराकरण नहीं किया गया। डॉक्टर यशवंत बमोरिया द्वारा आश्वासन दिया गया है की जल्द ही कुर्सियों की व्यवस्था की जाएगी और ध्यान रखा जाएगा कि कोई आशा कार्यकर्ताओं को बेवजह परेशान न करे। वहीं आशाओं ने जानकारी देते हुए कहा कि पीएससी बसारी की एएनएम मधुबाला पटेरिया द्वारा  बेवजह आशा कार्यकर्ताओं को  परेशान किया जाता है।

 

बताया गया कि एलएचबी हसबीन बानो को  प्रतिदिन देती हैं आशा कार्यकर्ता जानकारी परंतु आशा कार्यकर्ताओं के साथ की जाती हैं बदतमीजी आशा कार्यकर्ताओं के खिलाफ लिख दिए जाते हैं झूठे नोटिस जबकि संपूर्ण कार्य आशा कार्यकर्ता करती हैं और एनएचसी बसारी हासबीन बानो न तो कभी समय पर आते हैं ना ही कभी फील्ड पर जाती है परंतु आशा कार्यकर्ताओ के लिए लिख दिए जाते हैं झूठे नोटिस 


सीएससी चपरासी आशा कार्यकर्ताओं से करते हैं  बदतमीजी... चपरासी से खुद चप्पल पहन के घूमते हैं एवं सभी स्वास्थ्य केंद्र पदाधिकारी भी परंतु आशा कार्यकर्ताओं को नहीं आने दिया जाता है चप्पल पहन के अंदर... चपरासी द्वारा दिखाई जाती हैं गुंडागर्दी... आशा कार्यकर्ताओं ने बताया गया कि स्वस्थ कर्मियों द्वारा आशा कार्यकर्ताओं को किया जाता है परेशान।