Breaking

शुक्रवार, 2 अप्रैल 2021

बेटे के शव को अस्पताल से हाथ ठेले में लादकर लाया पिता अस्पताल प्रबंधन ने नहीं दिया वाहन..

बेटे के शव को अस्पताल से
हाथ ठेले में लादकर लाया पिता
अस्पताल प्रबंधन ने नहीं दिया वाहन..






सरकार भले ही अपनी बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लाखों नगाड़े बजा ले लेकिन जमीनी स्तर की जो हकीकत है वह सरकार द्वारा किए गए वायदों से लाखों दूर है ऐसा नहीं है कि इन सेवाओं को बेहतर करने के लिए सरकार कोई कदम नहीं उठा रही लेकिन इन सेवाओं को जनता तक पहुंचाने वाले जिम्मेदार बार-बार अपनी हरकतों के चलते आम आदमी का जीना दूभर करते आ रहे अब तो आलम यह है की आम आदमी यदि उपचार करवाने पहुंचता है तो इलाज के दौरान लाखों रुपये खर्च करने के बाद भी उसे सुविधा के नाम पर महज धोखा ही मिलता है।

मामला मध्यप्रदेश के गुना जिले से है ,जहां कुंभराज स्वास्थ्य केंद्र में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। नितेश राव की मंगलवार को ससुराल जाते वक्त अचानक तबीयत बिगड़ गई थी। पिता हेमराज राव ने बताया कि अस्पताल में डॉक्टर ने  उनके बेटे को मृत घोषित कर दिया। बुधवार को पीएम हुआ लेकिन शव ले जाने के लिए अस्पताल प्रबंधन ने कोई वाहन नहीं दिया। 
लाचार पिता ने एक हाथ ठेला किराए पर लिया और शव ले जाने लगा। यह देख नागरिक मंच कुंभराज ने आपत्ति की, तब पुलिस ने एक ऑटो से शव भिजवाया। कुंभराज स्वास्थ्य केंद्र के मेडिकल ऑफिसर महेश जाटव का कहना है कि वाहन हमारे पास नहीं है। तो हमने पुलिस को बोल दिया था।


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार