Breaking

शुक्रवार, 23 अप्रैल 2021

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने किया जिला अस्पताल का निरीक्षण

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने किया
जिला अस्पताल का निरीक्षण




केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल एवं वेयरहाउसिंग लॉजिस्टिक के अध्यक्ष राहुल सिंह ने जिला अस्पताल पहुचकर किया निरीक्षण


जिला अस्पताल का निरीक्षण के दौरान मरीजो एवं परिजनों से की बात  


जिला अस्पताल में डॉक्टरों से चर्चा कर दिए आवश्यक दिशा निर्देश 


गंभीर मरीजो को ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्ध कराने की बात


ख़बर दमोह जिले से है। जहां जिले में लगातार कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के साथ ही  जिला अस्पताल सहित निजी अस्पतालो में भी कोरोना संक्रमित मरीजो से भरे पड़े है जीवन रक्षक उपकरणों की कमी के चलते  अस्पताल की व्यवस्थाएं चरमरा गई है,अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजनों के द्वारा ऑक्सीजन की कमी और रेमडेसिवर इंजेक्शन नही मिलने से हंगामा किया जा रहा है। जिसको लेकर आज दमोह सांसद एवं केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्यमंत्री प्रहलाद पटेल एवं कैबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त वेयरहाउसिंग लॉजिस्टिक कारपोरेशन के अध्यक्ष राहुल सिंह जिला अस्पताल पहुंचे और अस्पताल की व्यवस्थाओं का जायजा लिया और कोविड वार्ड सहित अन्य वार्डो का निरीक्षण कर ऑक्सीजन एवं रेमडेसिवर इंजेक्शन की जानकारी ली और अस्पताल स्टाफ को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस दौरान सांसद प्रहलाद पटेल एवं राहुल सिंह ने यहा भर्ती मरीजो एवं उनके परिजनों से मुलाकात की और उनकी समस्या को सुनकर अधिकारियों को समस्या का समाधान करने की बात कही।


वही केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल का कहना है कि आज से ब्लाक स्तर पर सब कोविड सेंटर की शुरुआत हो रही है जिससे जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार होगा ग्रामीण क्षेत्र के मरीजो को वही इलाज मिलेगा गंभीर मरीजो को ही जिला अस्पताल रेफर किया जायेगा वही अस्पताल में जनप्रतिनिधि हो या आम लोग जो मिलने आते है वो न आये, अस्पताल में भीड़ इकठ्ठी होती वाहनों की और व्यक्तियों की उसे सयंमित करना,जो सस्पेक्टेड कोरोना वार्ड है वहा स्टाफ की कमी के कारण एक अटेंडर को रहने की परमीशन दी गई है शाम तक व्यवस्था बनाने कहा है कार्ड उपलब्ध कराए जाएं जिससे पुलिस को सुविधा हो सके कोई अन्य वार्ड तक न पहुच सके। इसके साथ ही अस्पताल में ऑक्सीजन या रेमडेसिवर इंजेक्शन डॉक्टर की मर्जी से ही लगने दे इसमे कोई सोर्स या सिफारिश न करे गंभीर मरीजो को ही ये लगने दे।


वही राहुल सिंह ने मप्र वेयरहाउसिंग लॉजिस्टिक के एमडी से बातकर सीएसआर फंड से 25 लाख रुपए जिला अस्पताल एवं साढ़े 12 लाख रुपए हिंडोरिया स्वास्थ्य केंद्र के लिए व्यवस्था करा रहे है जिससे ऑक्सीजन कन्सटेंटर,सिलेंडर,आईसीयू बेड मॉनिटर के साथ ये व्यवस्था चार पांच दिन में चालू हो जाएगी।



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार