Breaking

मंगलवार, 6 अप्रैल 2021

सीएम शिवराज कोरोना को महामारी न समझते हुए मान रहे हैं अवसर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी

सीएम शिवराज कोरोना को 
महामारी न समझते हुए 
मान रहे हैं अवसर ....
पूर्व मंत्री जीतू पटवारी





मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने राजधानी भोपाल के इंदिरा भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की जिसमें उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना को महामारी नहीं अवसर समझ रहे हैं और इस अवसर का लाभ उठाते हुए शिव प्रचार कर रहे हैं और अभियान की नाम पर सैकड़ों की संख्या में लोग इकट्ठा कर रहे हैं उनके साथ 300 गाड़ियों का काफिला हजारों की संख्या में लोग रहे उससे कोरोना महामारी नहीं खेलेगी और जनता भी परेशान होती रही जहां धारा 144 लगी हुई है वहां पर इस तरह की गतिविधि होना कोरोना को बढ़ावा देना है


जीतू पटवारी ने मांग की है कि rt-pcr और अन्य जांच कोरोना से संबंधित फ्री की जाए बता दे कि पूरे भारत की बात करें तो सबसे महंगी जांच मध्यप्रदेश में हो रही थी वही अभी कम करके ₹900 कर दी गई है हम यह चाहते हैं कि कोरोना वायरस की जांच फ्री में हुए और प्राइवेट मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल को सरकार को अधिग्रहण करना चाहिए जिसके चलते कि लोगों का पैसा ना लगे और उनकी इलाज फ्री में हुए क्योंकि यह राष्ट्रीय आपदा है और जो भी व्यक्ति को रोना के नाम पर हॉस्पिटल जाता है उसका लाखों रुपए का बिल बन जाता है।


वही पटवारी ने कहा रोजमर्रा की दुकानें तुम 9:00 बजे तक से ही बंद कराई जा रही है परंतु शराब की दुकान है 11:00 बजे रात तक खुली रहती है मध्यप्रदेश में जहरीली शराब पीने से हर जिले में कई लोगों की मौत हो रही है कोरोना से ज्यादा शराब से मौत हो रही है परंतु शराब की दुकान है जो अर्थव्यवस्था को बढ़ाने के लिए रात्रि 11:00 बजे तक खुली है और शासन प्रशासन भी उसे बंद नहीं करा रहा वहां लोगों की भीड़ लगी होती है और वहां भी को रोना पड़ रहा है इसके बावजूद होश नहीं है।


पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि इसे महामारी नहीं प्रचार का साधन समझ रखा है और मीडिया चैनल पेपरों का पेट भर रहे हैं कोई उन्होंने कहा कि इस महामारी को वह महामारी ना समझते अवसर समझ रहे हैं और जगह जगह खुद ही अभियान के नाम पर भीड़ कर रहे हैं पूरे भोपाल में धारा 144 होने के बावजूद मुख्यमंत्री बीती शाम यहां पर अभियान चला रहे थे।

जीतू पटवारी, पूर्व मंत्री

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार