Breaking

गुरुवार, 29 अप्रैल 2021

नेमा परिवार के बुजुर्ग दंपति ने जीती कोरोना से जंग कोरोना से घबराएं नही , समझदारी एवं दृण इक्षाशक्ति से करें इसका मुकाबला



नेमा परिवार के बुजुर्ग दंपति ने जीती कोरोना से जंग
कोरोना से घबराएं नही , समझदारी एवं दृण इक्षाशक्ति से करें इसका मुकाबला



*कोरोना को मात देकर शहर के प्रतिष्ठित परिवार के सदस्य स्वस्थ होकर घर को घर लौटे


*हम सभी मिलकर इस महामारी को हराने की क्षमता रखते हैं*


नेमा परिवार - *अमरवाड़ा के ही निवासी प्रतिष्ठित अधिवक्ता शिवकुमार नेमा 85 वर्ष और उनकी पत्नी श्रीमती कृष्णा नेमा 76 वर्ष और बेटा राजेन्द्र नेमा 53 वर्ष कोरोना की लड़ाई से जीतकर घर बापिस हुए*


कोरोना महामारी के इस दौर में हमारे चिकित्सक और उनका स्टाफ संक्रमित मरीजों के उपचार में पूरे समर्पण से लगा हुआ है और बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के प्रयास किए जा रहे हैं। चिकित्सकों और उनकी टीम की मेहनत रंग ला रही है , परिणामस्वरूप कई मरीज कोरोना से जंग जीतकर अपने घर को लौट रहे हैं। इसी कड़ी में विगत दिनों के लिए चिरायु अस्पताल  bhopal अस्पताल में भर्ती हुए  स्वस्थ्य होकर अपने घर को लौटे। जब दंपत्ति कोरोना को मात देकर पूर्णतः स्वस्थ होकर 20अप्रैल 2021 को डिस्चार्ज होकर घर लौटे तब उनके मन में बड़े ही खुशी के भाव थे। उन्होंने प्रदान किए गए सेवाभाव के लिए अस्पताल प्रबंधन की सराहना की और आभार भी व्यक्त किया । उनके बेटे एडवोकेट राजेंद्र नेमा भी कोरोना पॉजिटिव थे उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है वह भी स्वस्थ है  कोरोना की गाइडलाइन के जो नियम है उनको ध्यान में रखते हुए कोरोना से बचने का यही एकमात्र उपाय है सभी इसका पालन करीगे तो निश्चित ही कोरोना हारेगा भारत जीतेगा



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार