Breaking

शनिवार, 17 अप्रैल 2021

इस अस्पताल से हुए 850 रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी।

 इस अस्पताल से हुए
 850 रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी।



 पूरा मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सामने आया है जहां पर राजधानी भोपाल के हमीदिया अस्पताल से अचानक नाटकीय ढंग से 850 रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी हो जाने की बात सामने आई आपको बता दें कि पूरे देश में इस इंजेक्शन को लेकर मारामारी का दौर चल रहा है वही लोगों की जीवन रक्षा के लिए जैसे तैसे मध्य प्रदेश को इंजेक्शन की खेप उपलब्ध कराई गई थी और कल ही भोपाल की हमीदिया अस्पताल में इस इंजेक्शन को पहुंचाया गया था। लेकिन अचानक इंजेक्शन की चोरी हो जाने की बात ने पूरे राजनीति जगत में हलचल मचा दी है।

आज ही लगने थे मरीजों को इंजेक्शन जिला प्रशासन ने कल ही करा दिए थे अस्तपाल को उपलब्ध


अस्पताल प्रशासन और अधिकरी कर रहे मामले की जांच सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुटी पुलिस


कुछ ही दिन पहले आया था रेमडेसिविर इंजेक्शन का नया स्टोक अस्पताल स्टाफ के चोरों की मदद करने की संभावना कोहफिजा पुलिस मामले की जांच में जुटी.


वहीं मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि अभी तक रेमडेसिविर इंजेक्शन मिल नहीं रहे थे, इनकी कालाबाजारी हो रही थी अब खबर आ रही है कि हमीदिया अस्पताल से 800 से ज्यादा रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी हो गये हैं, जिनकी भी अंततः कालाबाजारी होगी 


जहाँ एक ओर लोग अस्पताल दर अस्पताल, रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए भटक रहे हैं ऐंसी परिस्थितियों में इन इंजेक्शनों का चोरी होना गंभीर विषय है भोपाल के प्रतिष्ठित अस्पताल हमीदिया में यह घटना होना सरकार की व्यवस्थाओं की पोल खोलता है मेरा मानना है कि स्वास्थ्य मंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए


*पीसी शर्मा पूर्व मंत्री मध्य प्रदेश*


मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल हमीदिया हॉस्पिटल से कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए सबसे कारगर रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी होने का मामला सामने आया है। यह प्रदेश का पहला मामला है जब इंजेक्शन की चोरी हुई है।


खबर है कि हमीदिया अस्पताल से 850 रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी हो गए हैं जो आज ही मरीजों को लगाए जाने थे।


हमीदिया अस्पताल को जिला प्रशासन ने कल ही यह इंजेक्शन मरीजों की मांग पर उपलब्ध करवा दिए थे जो आज चोरी हो गए हैं। चोरी की घटना प्रकाश में आने के बाद अस्पताल प्रशासन और जिला प्रशासन के अधिकारी मामले की जांच में जुट गए हैं।


वही घटना की सूचना किलते ही भोपाल के कोहेफिजा थाने की पुलिस भी हमीदिया अस्पताल पहुँची और सीसीटीवी फुटेज खंगालकर चोर का पता लगा रही है।


आपको बता कुछ ही दिन पहले ही प्रदेश में 9247 रेमडेसिविर इंजेक्शन इंदौर आये थे और फिर लगभग 2000 इंजेक्शन भोपाल भेजे गए थे जिसमें से 850 इंजेक्शन चोरी हो गए हैं।


संभावना जताई जा रही है अस्पताल प्रबंधन या स्टाफ से कोई व्यक्ति ऐसा हो सकता है जो इन चोरों के साथ मिला हो। क्योकि इस समय बाजार में रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग अधिक है इसकी जमकर कालाबाजारी हो रही है। बिना अस्पताल के इतनी बड़ी चोरी होने नामुमकिन है।


 विश्वास सारंग चिकित्सा शिक्षा मंत्री



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार