Breaking

मंगलवार, 27 अप्रैल 2021

इस अस्पताल में अचानक ऑक्सीजन खत्म हो जाने से थम गई 5 मरीजों की सांसें..

 इस अस्पताल में अचानक ऑक्सीजन खत्म हो जाने से 
थम गई 5 मरीजों की सांसें..





 ग्वालियर


एंकर:- ग्वालियर में ऑक्सीजन की कमी से जयारोग्य चिकित्सालय  समूह के कमला राजा महिला एवं बाल चिकित्सालय में मरीजों की जान खतरे में पड़ गई, ऑक्सीजन की किल्लत से 5 मरीजों ने दम तोड़ दिया दो अन्य मरीजों की हालत गंभीर बताई जा रही है, बताया जा रहा है कि आज सुबह लगभग 9:00 बजे कमला राजा अस्पताल की तीसरी मंजिल पर बने फीमेल वार्ड में ऑक्सीजन खत्म हो गई जिसके बाद मौके से मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर और अन्य पैरामेडिकल स्टाफ भाग खड़ा हुआ जब ऑक्सीजन खत्म होने की जानकारी मरीज के परिजनों को लगी तो हड़कंप मच गया घटना की जानकारी मिलने के बाद कांग्रेस के दो विधायक सतीश सिकरवार और प्रवीण पाठक कमलाराजा अस्पताल पहुंचे और यहां ऑक्सीजन की व्यवस्था में जुट गए बड़ी मशक्कत के बाद एक टैंकर ऑक्सीजन कमलाराजा अस्पताल लाया गया लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी, इस दौरान यहां भर्ती 5 मरीजों ने अपना दम तोड़ दिया यह देख परिजनों में चीख-पुकार मच गई कांग्रेस के दोनों विधायक लोगों को संभालने में जुटे रहे काफी देर बाद अस्पताल को ऑक्सीजन मुहैया कराया गया, अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही के आरोप लगाए, मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अफसरों का  दावा है कि उन्होंने व्यवस्थाओं को दुरुस्त कर लिया है लेकिन कांग्रेस विधायकों ने ऑक्सीजन की कमी को लेकर शासन और प्रशासन को कटघरे में खड़ा किया है, उन्होंने डॉक्टरों की तो तारीफ की है, लेकिन बदइंतजामी पर सवालिया निशान खड़े किए हैं, कमलाराजा अस्पताल में सामान्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों का इलाज चल रहा था क्योंकि वहां जय रोग अस्पताल  के अन्य भाग को कोविड के  इलाज के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है इस कारण वहा भर्ती  अन्य मरीजों को कमला राजा अस्पताल में शिफ्ट किया गया था....... उधर जीआरएमसी के डॉक्टरों ने मरीजों के परिजन से खुद की जान को खतरा बताते हुए काम करने से इंकार कर दिया उन्होंने खुद को सुरक्षा मुहैया कराए जाने की मांग शासन प्रशासन से की है उनका कहना है कि जिस तरीके से डॉक्टर लगातार कई घंटे काम कर रहे हैं वह अपने स्वास्थ्य की भी चिंता न करते हुए मरीजों की सेवा में लगे हुए हैं ऐसे में कई मरीजों की बहुत कोशिश के बाद भी जान नहीं पाती, लेकिन मरीजों के तीमारदार उन्हें ही अपने निशाने पर ले लेते हैं उनके साथ मारपीट की जाती है उससे सभी चिकित्सक भयभीत हैं उन्हें जल्द से जल्द सुरक्षा प्रदान की जानी चाहिए गौरतलब है कि कमलाराजा अस्पताल में ऑक्सीजन की किल्लत होने के बाद डॉक्टरों ने वहां से डर के मारे भाग खड़े हुए थे और तीन ऑफिस पर हंगामा किया था लेकिन बाद में बहुत समझाइश के बाद उन्होंने वापस काम शुरू किया है।


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार