Breaking

शनिवार, 6 मार्च 2021

मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली संदिग्ध कार के मालिक की रहस्यमयी मौत... हत्या या आत्महत्या..???

मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली संदिग्ध कार के मालिक की रहस्यमयी मौत...
हत्या या आत्महत्या..???




पहले एक नामी-गिरामी पूंजीपति के घर के बाहर संदिग्ध कार का मिलना और उस संदिग्ध कार में संदिग्ध सामान का रखा होना... मुंबई पुलिस की परेशानियां काफी बड़ा चुका है लेकिन जैसे ही जांच पड़ताल शुरू होती है एक के बाद एक कई नए खुलासे होने लगते हैं इन सब के बीच जब पुलिस को यह लगता है कि वह मामले को सुलझाने के करीब पहुंच चुकी है तो अचानक ऐन मौके में संदिग्ध कार के मालिक का शव पूरी जांच टीम को चौंका कर रख देता है...


*सिंग्रामपुर के राज्य स्तरीय जनजातीय सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि सम्मिलित होंगे..* *महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद...*


मुंबई । रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर संदिग्ध कार मिलने के मामले में शुक्रवार को एक बड़ा मोड़ आया है। दरअसल शुक्रवार सुबह करीब साढ़े दस बजे अधिकारियों ने कलवा क्रीक पर एक शव बरामद किया है। यह उस स्कॉर्पियो के मालिक का शव है, जो एंटीलिया के बाहर संदिग्ध हालात में मिली थी।


अधिकारियों ने कहा कि शव मनसुख हीरन का है। वह मुंबई से सटे ठाणे शहर के नौपाड़ा इलाके में रहते थे. पेशे से वह व्यापारी थे और क्लासिक मोटर्स के मालिक थे,अधिकारियों को शक है कि उन्होंने सुसाइड किया है। हालांकि,अभी इस मामले में कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया गया है। बताया गया है कि मनसुख ठाणे के व्यापारी और क्लासिक मोटर्स की फ्रेंचाइजी चलाते थे। वे गुरुवार को लापता हो गए थे और शुक्रवार को उनका शव मिला है। उधर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा  में विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस ने इस पूरे मामले की जांच एनआईए से कराने की मांग की है।


*इन शहरों में 8 मार्च से शुरू हो जाएगा..* *रात्रिकालीन कर्फ्यू...* *जानिए क्या है पूरा आदेश..??*


गौरतलब हो कि हाल ही में मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया से करीब 200 मीटर दूर एक संदिग्ध एसयूवी से जिलेटिन की 20 छड़ें मिलीं थीं। एसयूवी पर फर्जी नंबर प्लेट लगी थी। सीसीटीवी फुटेज की जांच में सामने आया कि एंटीलिया के बाहर कार 24 फरवरी की रात करीब 1 बजे पार्क की गई थी। इससे पहले ये कार 12:30 बजे रात को हाजी अली जंक्शन पहुंची थी और यहां करीब 10 मिनट तक खड़ी रही। बरामद कार मुंबई के विक्रोली इलाके से चुराई गई थी। इसका चेसिस नंबर बिगाड़ दिया गया है, लेकिन पुलिस ने कार के असली मालिक की पहचान कर ली थी। क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी के मुताबिक, कार के मालिक मनसुख हिरेन ने बताया था कि 17 फरवरी की शाम को वे ठाणे से घर जा रहे थे। रास्ते में गाड़ी बंद हो गई। उन्हें जल्दी थी, इसलिए गाड़ी ऐरोली ब्रिज के पास सड़क के किनारे खड़ी कर दी। अगले दिन वे कार लेने गए तो वह नहीं मिली। उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से भी की थी। बहरहाल यह आत्महत्या है या फिर हत्या ? पुलिस मामले की गहराई से जांच में जुटी है। 


*जेल में महज चंद पैसों में..* *सभी सुविधाएं दिलाने का दावा..* *पकड़ा गया घूंसखोर...*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार