Breaking

रविवार, 28 मार्च 2021

अवैध संबंधों के शक में की थी पत्नी की हत्या, पुलिस ने आरोपी पति को 24 घंटों के भीतर किया गिरफ्तार

 अवैध संबंधों के शक में की थी पत्नी की हत्या, पुलिस ने आरोपी पति को 24 घंटों के भीतर किया गिरफ्तार




विकास द्विवेदी


मोरवा थाना इलाके के गोरबी चौकी अंतर्गत गोरबी बस्ती में गुरुवार रात पति ने पत्नी को अवैध संबंध के शक में मौत के घाट उतार दिया था। घटना को अंजाम देकर पति मौके से फरार हो गया था। जिसे पुलिस ने 24 घंटों के भीतर गिरफ्तार कर लिया।


गौरतलब है कि गोरवी बस्ती निवासी बब्बी बैगा पति *जीवन बैगा उम्र 30 वर्ष पर उसका पति जीवन बैगा* अवैध संबंध को लेकर शंका जाहिर करता था। बताया जाता है कि इसी शक के चलते पति-पत्नी में हमेशा विवाद होता था। गुरुवार रात बब्बी का पति जीवन बैगा के बीच इसी बात को लेकर विवाद हो रहा था कि कहीं तुम्हारा अवैध संबंध चल रहा है। पति के द्वारा इस तरह के आरोप लगाने से दोनो के बीच कहासुनी शुरू हुई और यह कहा सुनी इतना बढ़ गई कि  दोनो के बीच हाथापाई पर उतारु हो गई। दरमियानी रात अवैध संबंध के शक में जीवन बैगा ने अपनी पत्नी बब्बी बैगा को लाठी डड़े से इस कदर पीटा की उसकी मौत हो गई। घटना की खबर सुबह जब आसपड़ोस के लोगो को हुई तो तत्काल उक्त घटना की सूचना गोरबी चौकी पुलिस को दी गई। 


मौके पर पहुंची पुलिस ने *पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र कुमार सिंह* के निर्देशन एवं *एसडीओपी राजीव पाठक* के मार्गदर्शन पर तत्काल पंचनामा तैयार करते हुये पीएम उपरांत मृतिका के शव को परिजनो को सौंपते हुये आरोपी पति जीवन बैगा के खिलाफ भादवि की धारा 302 के तहत मामला पंजीबद्ध किया। वहीं मोरवा *निरीक्षक मनीष त्रिपाठी* के निगरानी में चौकी प्रभारी *उपनिरीक्षक सुधाकर सिंह परिहार* द्वारा टीम लेकर आरोपी पति की तलाश शुरू कर दी। जिसे सूचना के आधार पर रेलवे स्टेशन महदैया के पास से कल दोपहर गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में आरोपी ने कबूला की पत्नी की दूसरे के साथ अवैध संबंध के शक में उसने उसकी हत्या कर दी है। पुलिस ने आरोपी जगजीवन को पुलिस अभिरक्षा में न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।


उक्त कार्यवाही में उपनिरीक्षक सुधाकर सिंह परिहार, सहायक उपनिरीक्षक सतीश दीक्षित, सुरेश सिंह, रामायण द्विवेदी, मोहनलाल प्रधान आरक्षक अनूप मिश्रा, जीवनलाल, राजमणि पटेल, आरक्षक विष्णु रावत, प्रयाग सिंह, प्रदीप कुमार एवं बबलू की अहम भूमिका रही।


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार