Breaking

मंगलवार, 2 फ़रवरी 2021

दिव्यांग भिखारिन से पुलिस ने मांगी घूंस.. बेटी तलाशने गाड़ी में डलवाया डीजल..

दिव्यांग भिखारिन से पुलिस ने मांगी घूंस..
बेटी तलाशने गाड़ी में डलवाया डीजल..





वैसे तो पुलिस के घूंस मांगने के किस्से काफी आम है जहां पर वह वर्दी की धौंस दिखाते हुए अक्सर लोगों से उल जलूल पैसे की डिमांड कर ही देते हैं लेकिन इस बार खाकी पहने हुए कुछ नुमाइंदों ने घूंस मांगने के स्तर को इतना नीचे गिरा दिया कि घूंस देने वाला भी शर्मसार हो गया दरअसल इस बार पुलिस ने एक दिव्यांग भिखारिन का काम करने के लिए उसके एवज में भी घूंस मांग ली है। काम करवाने की मजबूरी इतनी बड़ी थी कि भिखारी ने सड़कों पर भीख मांग मांग कर पुलिस वालों की जरूरतों को पूरा किया लेकिन इसके बाद भी पुलिस वालों का दिल नहीं पसीजा और फिर भिखारी का काम किए बिना ही उसे वहां से भगा दिया गया आइए जानते हैं कहां का है यह पूरा मामला और क्या है पूरी घटना...


आगे पढ़ें :-*एमपी का "टोटके वाला टीआई"* *महिला अधिकारी को वश में करने* *घर में फिकवाया टोटके का नींबू मिर्ची...*


कहां का है मामला..? क्या है वारदात..?


मामला उत्तर प्रदेश की पुलिस व्यवस्था से जुड़ा हुआ है जहां पर योगी सरकार की पुलिस (Police) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है, जोकि आए दिन किसी न किसी मामले को लेकर सुर्खियों में बनी रहती है। सोमवार को देश का आम बजट पेश हुआ है वहीं योगी सरकार की कानपुर पुलिस (Police) के खजाने में पैसे की कमी दिखाई दे रही है। इसका पता तब जब चला जब कानपुर पुलिस पर भीख मांगकर गुजारा करने वाली दिव्यांग बेवा महिला से घूस मांगने का आरोप लगा।


 पढ़ना ना भूलें*6 साल की मासूम को..* *जिंदा जलाने की कोशिश..* *नशेड़ी पिता हुआ गिरफ्तार..*


एसएसपी कार्यालय में  रो-रोकर लगाई गुहार


जानकारी के मुताबिक, फटे पुराने कपड़े पहने दिव्यांग बेवा महिला कानपुर एसएसपी कार्यालय पहुंचकर रो-रो कर गुहार लगाई। महिला की नाबालिग बेटी को एक महीने से पहले ठाकुर नाम का व्यक्ति उठा ले गया था, जिसकी चकेरी पुलिस ने एफआईआर तो लिखी, लेकिन जांच करने वाली पुलिस उससे टरकाती रही। महिला ने एसएसपी से बताया है कि चकेरी थाने की सनिगवां चौकी पुलिस के दरोगा ने बेटी खोजने के नाम से दो-ढाई हजार रूपये का डीजल भरवाने के लिए घुस मांगती है और मुझे मज़बूरी में देना पड़ता है। पुलिस अभी तक न उसकी बेटी ढूंढ, उल्टा महिला को चौकी से भगा भी दिया।


आस्था और अंधविश्वास की कहानी*अद्भुत शिवलिंग समझकर* *गाँववाले करते रहे पूजा-अभिषेक...* *जब हकीकत से हुआ वास्ता तो उड़ गए होश...*


भीख मांगकर उनकी गाड़ी में डीजल भरवाया


महिला ने एसएसपी से बताया कि साहब झूठ नहीं बोलूंगी, पुलिस को पैसा तो नहीं दिया है केवल तीन से चार बार इधर-उधर से भीख मांगकर उनकी गाड़ी में डीजल भरवाया है। इसके आगे उसने बताया कि सर ठाकुर नाम का एक रिश्तेदार मेरी बेटी को उठा ले गया था। एक महीना हो रहा है और पुलिस आरोपी को अभी तक नहीं पकड़ सकी।


*नशे में धुत रहने वाला लायसेंस शाखा का लिपिक निलंबित..* *परिवहन आयुक्त ने की कार्यवाही..*


शिकायत नहीं सुनती पुलिस.. धक्के मार कर थाने से भगा देती है


पीड़ित महिला ने बताया जब थाने में पता करने जाती हूं तो पुलिस उसे भगा देती है और उसकी शिकायत भी नहीं सुनती। अब तक पुलिस की गाड़ी में डीजल डलवाने के लिए पंद्रह हजार रुपये दिये हैं। इसके बाद भी पुलिस कहती है कि तुम्हारी बिटिया ही गलत होगी। हालांकि एसएसपी ने मानवता दिखाते हुए अपनी स्कॉट की गाड़ी से महिला को थाने भेजकर भेजा की आपकी बेटी को ढूंढा जाएगा। पुलिस ने बताया कि


*अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति* *डोनाल्ड ट्रंप को पहुंचा लीगल नोटिस...* *जानिए क्या है पूरा मामला..??*


चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर


प्रकरण में थाना चकेरी पर अभियोग पंजीकृत है लड़की की बरामदगी हेतु CO CANTT के निर्देशन में 04 टीमे गठित की गई है, पीड़ित महिला को पुलिस स्कार्ट कार से थाना भिजवाया गया तथा एसएसपी द्वारा चौकी इंचार्ज सनिगवां उ0नि0 राजपाल सिंह को लाइन हाजिर कर विभागीय जांच के आदेश दिये गये है।


*बम से उड़ाया ATM* *और* *8 लाख ले उड़े..लुटेरे..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार