Breaking

गुरुवार, 4 फ़रवरी 2021

"यूनिवर्सिटी फर्जीवाड़ा कांड" महज 40 दिन में बना देते थे डॉक्टर-इंजीनियर-अकाउंटेंट


"यूनिवर्सिटी फर्जीवाड़ा कांड"
महज 40 दिन में बना देते थे
डॉक्टर-इंजीनियर-अकाउंटेंट




पंजाब में मोहाली पुलिस ने कम पढ़े-लिखे व स्टडी गैप वाले युवकों से मोटी रकम लेकर उन्हें प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी और संस्थानों की फर्जी डिग्रियां मुहैया करवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह के शातिर कई साल में नहीं, बल्कि 30-40 दिन में ही युवकों को इंजीनियर, डॉक्टर, अकाउंटेंट, एमबीए, बीटेक, एमटेक की फर्जी डिग्रियां सौंप देते थे। इस गिरोह का नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ है। 


*बीते दिनों में ₹2000 तक* *सस्ता हुआ सोना..* *लूट सके तो लूट लो...*


ये शातिर जालसाज  पंजाब, हिमाचल, यूपी, हरियाणा, दिल्ली और मध्य प्रदेश समेत कई शहरों में स्थित 16 सरकारी और निजी यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्रियां जारी कर रहे थे। इनसे बड़ी संख्या में पुलिस ने जाली दस्तावेज, मुहर, होलोग्राम, कंप्यूटर और अन्य उपकरण बरामद किए हैं। पुलिस ने इस गिरोह के पांच शातिर गिरफ्तार किए हैं। 


*पत्नी के बार-बार मायके जाने से परेशान था पति* *फिर तंग आकर कर डाला यह काम..*


शातिरों की पहचान निर्मल सिंह निम्मा गांव करतारपुर थाना मुल्लांपुर गरीबदास, विष्णु शर्मा निवासी निधि हाई कॉलोनी मथुरा (यूपी), सुशांत त्यागी, संचालक वीर फाउंडेशन डिस्टेंस एजुकेशन मेरठ और आनंद विक्रम सिंह निवासी सेक्टर-2, वैशाली गाजियाबाद (यूपी), अंकित अरोड़ा, निवासी फतेहपुर, सियालवा, मोहाली के रूप में हुई है। 


*"सोशल मीडिया पॉवर"* *ट्रेन की लेटलतीफी से छूट रहा था* *छात्रा का एग्जाम..* *ट्वीट मिलते ही रेलवे ने दौड़ाई गाड़ी..*


बुधवार को एसएसपी कार्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी देहात डॉ. रवजोत कौर ग्रेवाल और डीएसपी जीरकपुर अमरोज सिंह ने इस गिरोह का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि पांचों शातिरों के खिलाफ धोखाधड़ी समेत कई धाराओं में केस दर्ज किए गए हैं। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है और कई और खुलासे हो सकते हैं। 


जानकारी के मुताबिक जीरकपुर थाना पुलिस जीरकपुर-कालका रोड पर गश्त कर रही थी। इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी भोले-भाले युवकों से उनके असली दस्तावेज लेकर इन पर दी गई पूरी जानकारी के आधार पर उन्हें जाली सर्टिफिकेट और डिग्री बनाकर देते हैं। इसके बाद पुलिस ने सबसे पहले एक शातिर निम्मा को गिरफ्तार किया।


*मां के मरते ही 15 वर्षीय लड़की पे* *टूट पड़े 17 रिश्तेदार..* *5 माह तक करते रहे बलात्कार..*


इसके बाद आरोपियों ने उससे पूछताछ के बाद इस गिरोह के अन्य शातिरों को गिरफ्तार कर लिया। इस गिरोह के सदस्यों ने कई राज्यों के लोगों को ठगा है। पुलिस अब उनके सभी अकाउंट और संपत्तियों के बारे में जानकारी जुटा रही है। वहीं, पुलिस ने गिरफ्तार शातिरों के बारे में सभी राज्यों की पुलिस को अलर्ट भेजा है।


आरोपी इतने शातिर है कि इन्होंने पूरे देश में स्टडी सेंटर खोल रखे हैं। वह अपने आपको एजुकेशन कंसल्टेंट बताकर काम करते थे। कई छात्र स्टडी में गैप पूरा करने के लिए तो कोई अन्य कारणों की वजह से इनके पास आते थे। इसके बाद शातिर उनसे एक से डेढ़ लाख रुपये तक वसूल कर उन्हें फर्जी सर्टिफिकेट जारी कर देते थे। वहीं, जांच में कोई उनके सर्टिफिकेट पर संदेह न करे, इसलिए यह लोग उस पर बाकायदा होलोग्राम तक इस्तेमाल करते थे। इन्होंने कई लोगों को अपना शिकार बनाया है।


*महिला अत्याचारों के मामले में* *टॉप 5 में मध्य प्रदेश..* *जानिए क्या कहते हैं NCRB के आंकड़े*


ठगी के लिए बनाते थे यूनिवर्सिटी के फर्जी डोमेन

बताया जा रहा है कि आरोपी तकनीकी रूप से काफी दक्ष हैं। जब कोई इनसे संपर्क करता था तो आवेदक को ऐसा जताते थे कि वह बिल्कुल सही काम कर रहे हैं। इन्होंने प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी के फर्जी डोमेन भी तैयार कर लिए थे। वहीं, आवेदक के सामने ही उसका रिकॉर्ड यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर अपलोड करते थे। यहां तक कि उनका रिजल्ट भी फर्जी डोमेन पर दिखा देते थे। इसके बाद उन्हें असली बताकर फर्जी सर्टिफिकेट जारी कर देते थे।


*"पोस्टर कालिख कांड"* *दो प्रिंटिंग प्रेस की लड़ाई में..* *भाजपा नेता के पोस्टर में पुती कालिख..*


इन यूनिवर्सिटी और संस्थानों के फर्जी डिग्रियां और सर्टिफिकेट आरोपियों ने बांटे


1. आदेश यूनिवर्सिटी, बठिंडा

2. आईटीसी यूनिवर्सिटी, हिमाचल प्रदेश

3. आईके गुजराल पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी, जालंधर

4. बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी

5. छत्रपति शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी, कानपुर

6. चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी, मेरठ

7. गुरु गोबिंद सिंह कॉलेज ऑफ एजुकेशन पंजाब गुरु काशी यूनिवर्सिटी तलवंडी साबो

8. हरियाणा काउंसिल ऑफ ओपन स्कूलिंग

9. सिक्किम यूनिवर्सिटी

10. काउंसिल ऑफ दि इंडियन स्कूल ऑफ सर्टिफिकेट ऑर्गेनाइजेशन, नई दिल्ली

11. मानव भारती यूनिवर्सिटी, सोलन

12. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग

13. पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड, मोहाली

14. पंजाब स्टेट बोर्ड ऑफ टेक्निकल एंड इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग चंडीगढ़ (लाला लाजपत राय कॉलेज ऑफ मोगा)

15. पंजाबी यूनिवर्सिटी, पटियाला

16. स्वामी विवेकानंद सुभारती यूनिवर्सिटी, मेरठ


*नीतीश सरकार का तुगलकी फरमान..* *हिंसक विरोध प्रदर्शन में शामिल लोगों को* *नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी..*


2012 से कर रहे थे फर्जी सर्टिफिकेट का धंधा


पुलिस जांच में सामने आया है कि कुछ आरोपी 2012 तो कुछ 2017 से यह काम कर रहे थे। यह आरोपी बड़े शातिर हैं और इनकी उम्र 21 साल से लेकर 35 साल तक है। इस गिरोह का प्रमुख आनंद विक्रम गाजियाबाद का रहने वाला है। पुलिस ने कहा कि आने वाले समय में कुछ और लोगों की गिरफ्तारी होगी।


*घर में इस दिशा में जलाएं दीपक..* *तुरंत हो जाएंगे मालामाल..* *यकीन नहीं तो आजमा कर जरूर देखें..*


यह सामान हुआ बरामद

1. आई-20 कार जाली नंबर सफेद रंग 

2. 859 जाली सर्टिफिकेट

3. 546 खाली पेपर जाली सर्टिफिकेट छापने वाले 

4. 93 जाली रबड़ की मुहरें 

5. 5102 जाली होलोग्राम

6. 16 जाली रसीद बुक

7. 1855 खाली पेपर सर्टिफिकेट तैयार करने वाले

8. तीन सीपीयू

9. एक सप्लालर हैंडर हाई ग्रैंड

10. दो की-बोर्ड

11. छह लैपटॉप

12. चार प्रिंटर

13. दो रिम पेपर जाली सर्टिफिकेट के लिए

14. एक फोटो प्रिंटर मशीन

15. दो एलसीडी स्क्रीन


*आखिरकार Jeff Bezos ने अमेज़न को कहा..अलविदा..* *जानिए क्यों दिया..??* *CEO पद से दिया इस्तीफ़ा..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार






कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार