Breaking

शनिवार, 27 फ़रवरी 2021

दुर्घटना में पुलिसकर्मियों की मौत कुएं में जा गिरी पुलिस की अनियंत्रित स्कार्पियो

दुर्घटना में पुलिसकर्मियों की मौत

कुएं में जा गिरी पुलिस की अनियंत्रित स्कार्पियो





(हाशिम खान छपारा) 

अनियंत्रण स्कार्पियो बिजली के ट्रांसफार्मर से टकराकर खेत में बने पक्के कुएं में जा गिरी जिसमें सवार छपारा थानों में तैनात थाना प्रभारी नीलेश परतेती सिपाही चंद्रभान चौधरी की मौके पर ही मौत हो गई घटना की सूचना स्थानीय लोगों के द्वारा बंडोल थाने पर दी गई बंडोल पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों को कुएं से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया घटनास्थल पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भी मौके पर पहुंचे थे जिन्होंने घटना के संबंध में कहा है कि बंडोल थाना क्षेत्र के पौड़ी गांव में कुएं में मिलिए स्कॉर्पियो में छपारा थाना प्रभारी नीलेश पपरतेती  थी और एक सिपाही मौत हुई है मामले की जांच के बाद ही बताएंगे घटना किस तरह से हुई है। गौरतलब है कि घटनास्थल पर घटना हुई है खेत में बना हुआ सड़क के किनारे हैं जिसमें ऊपर से किसी तरह की जाली नहीं है जिससे गाड़ी आनियंत्रण होकर खेत में ना जा कर ही देते हुए के अंदर गिर गई मालूम हो कि सड़क के किनारे बने कई खेतों के कुएं इसी खुले होते हादसे का कारण बन जाते हैं इस घटना ने पुलिस महकमे को झंझार कर रख दिया है पुलिस महकमे के युवा टीआई और एक सिपाही की मौत हो गई।

*सड़क से कितनी दूरी पर बनाए जाएं कुएं..बनेगा नियम?* 

बंडोल थाना क्षेत्र के पोडी कुएं में गिरी स्कॉर्पियो के बाद थाना प्रभारी और सिपाही की मौत के बाद यह सवाल जरूर खड़े हो रहे हैं क्या शासन प्रशासन इस बात की ओर ध्यान देगा कि सड़क के किनारे कितनी दूरी पर तुम्हें बनाए जाएं इसके अलावा इस ओर भी ध्यान दिया जाना चाहिए कुओं के ऊपर जाली बनाना अनिवार्य किया जाए ताकि उसमें कोई इस तरह से हादसों का शिकार ना हो अक्सर खेत के बने कुएं में बिना जारी होने से दुर्घटनाएं होने की खबरें मिलती रहती हैं लेकिन इन पर जाली लगाना जैसी चीजों को लेकर प्रमुखता से ध्यान नहीं दिया गया है शासन प्रशासन को चाहिए कि सड़क के किनारे खेतों में बने कुएं में जाली लगाया ना अनिवार्य हो।


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार