Breaking

मंगलवार, 2 फ़रवरी 2021

साली को रंगे हाथ पकड़ने के बाद जीजा ने भी किया बलात्कार.. 10 साल बाद कंकाल ने खोला राज

साली को रंगे हाथ पकड़ने के बाद..
जीजा ने भी किया बलात्कार..
10 साल बाद कंकाल ने खोला राज





अजब एमपी के गजब क़िस्सों में एक और कारनामा जुड़ने जा रहा है और इस बार यह कारनामा मध्य प्रदेश के सीहोर जिले से सामने आया है जहां 10 साल पहले हुई 17 साल की लड़की की रहस्यमई मौत का खुलासा हुआ है। प्रारंभिक पूछताछ में प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार लड़की अपने बॉयफ्रेंड के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ी गई थी जिसके बाद लड़की को पकड़ने वाले जीजा ने किसी को ना बताने के एवज में बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर लड़की का रेप किया था बाद में लड़की की मौत हो गई और बॉयफ्रेंड ने परिजनों और जीजा के साथ मिलकर उसे कब्रिस्तान में दफना दिया था। अब 10 साल बाद एमपी पुलिस ने कब्र खोदकर मृतिका की हड्डियां बरामद की है।


*यहां पोलियो ड्राप की जगह* *पिला दिया गया सैनिटाइजर* *तीन नर्स सस्पेंड...*


शिवराज के "ऑपरेशन मुस्कान" से संभव हो पाया यह काम...


पुलिस के अनुसार साल 2011 में गांव मनखेड़ा निवासी एक व्यक्ति ने ने अपनी 17 वर्षीय बेटी के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पिछले दिनों गुम लड़कियों और बच्चियों को खोजने के लिए चलाए जा रहे अभियान के मुस्कान के तहत​​​​​ मंडी टीआई मनोज मिश्रा के सामने गुमशुदगी की फाइल आई। लड़की के पिता को पूछताछ के लिए बुलाया गया। एक-दो बार तो उसने थाने आने में ही आनाकानी की। बाद में पूछताछ के दौरान वह गोल-मोल जवाब देता रहा। जब पुलिस ने तीसरी बार बुलाया, तो वह तिलमिला गया।


*मानवता की मिसाल बनी.. लेडी सिंघम* *लावारिस लाश का अंतिम संस्कार कराने अपने कंधे पर लाद कर ले गई महिला इंस्पेक्टर..*


परिजनों के संदिग्ध बयानों के आधार पर आगे बढ़ी पुलिस


10 साल पहले हुई घटना की पुलिसिया पूछताछ के दौरान परिजनों का तिलमिला जाना और संदिग्ध बयान देना पुलिस वालों के लिए काफी चौंकाने वाला था लिहाजा संदेह की दृष्टि से पुलिस ने इसकी बारीकी से छानबीन की...

परिजनों ने पुलिस से कहा कि.. जब हमें चिंता नहीं है, तो 10 साल बाद आप क्यों इतनी बातें कर रहे हो? इस पर पुलिस को मामला संदेहास्पद लगा। मामले में जब जांच की, तो पता चला कि लड़की पहले भी दो बार घर से बिना बताए जा चुकी थी, लेकिन तब उसने रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई थी। आसपास के लोगों से पूछताछ में पता चला कि लड़की के इस्माइल और शमीम से संबंध थे। जब पुलिस ने इन्हीं लोगों को बुलाकर सख्ती से पूछताछ की, तो उन्होंने कबूला कि वह तो मर चुकी है। 


*क्या आप भी है..??* *डिप्रेशन के शिकार..* *डिप्रेशन और मानसिक तनाव दूर करने के* *रामबाण उपाय..*


जीजा ने बाॅयफ्रेंड के साथ देखा तो वो भी रेप करने लगा


पुलिस के अनुसार लड़की के पिता ने अपनी जमीन इस्माइल नाम के व्यक्ति को अधबंटाई पर दी थी। ऐसे में लड़की का इस्माइल के पास आना-जाना था। इस्माइल बहला-फुसलाकर उसका शोषण करता था, लेकिन एक दिन लड़की के जीजा शमीम ने दोनों को साथ देख लिया। शमीम भी घर में बताने की धमकी देकर शोषण करने लगा। यह बात लड़की के माता-पिता को पता चली। शमीम और इस्माइल द्वारा माफी मांगने पर मामला रफा-दफा हो गया।


*सरकार के बजट ने..* *शराबियों की तोड़ी उम्मीद..* *महंगा पड़ेगा..जाम लड़ाना..*


परिजन बोले- जहर खाकर की थी आत्महत्या


परिजन ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि लड़की की सौतेली मां उसे परेशान करने लगी। वर्ष 2011 में तंग आकर लड़की ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। मां ने लड़की के पिता को भी भरोसे में लिया। इसके बाद शमीम और इस्माइल को बुलाया। कहा- तुम्हारे कारण लड़की ने जान दी है। अब तुम ही इसे ठिकाने लगाओ, नहीं तो बदनामी होगी। इसके बाद पिता, भाई, जीजा शमीम और इस्माइल ने शव को गांव मूंडला खुर्द के कब्रिस्तान में दफना दिया। दूसरे दिन पिता ने थाने पहुंचकर लड़की की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी।


*दिव्यांग भिखारिन से पुलिस ने मांगी घूंस..* *बेटी तलाशने गाड़ी में डलवाया डीजल..*


डीएनए टेस्ट के लिए भेजी अस्थियां


पुलिस ने चारों से अलग-अलग पूछताछ की। इसके बाद सोमवार को एफएसएल टीम के साथ मजिस्ट्रेट और सीएसपी की मौजूदगी में बताई जगह पर खुदाई करके अस्थियों को एकत्रित किया। अंतिम परीक्षण और डीएनए टेस्ट के लिए मेडिकोलीगल संस्थान भेजा गया है। पुलिस अब ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर लड़की के साथ क्या हुआ था।


*एमपी का "टोटके वाला टीआई"* *महिला अधिकारी को वश में करने* *घर में फिकवाया टोटके का नींबू मिर्ची...*


पुलिस को कहानी पर विश्वास नहीं


पुलिस को परिजन की कहानी पर विश्वास नहीं है। फिलहाल पुलिस ने सभी आरोपियों को हिरासत में लिया है। मामले की जांच की जा रही है। पुलिस का कहना है कि अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं है। रिपोर्ट के बाद ही कुछ सामने आ पाएगा। इसके बाद ही आरोपियों के खिलाफ हत्या या आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया जाएगा। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।


*अद्भुत शिवलिंग समझकर* *गाँववाले करते रहे पूजा-अभिषेक...* *जब हकीकत से हुआ वास्ता तो उड़ गए होश...*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार