Breaking

गुरुवार, 28 जनवरी 2021

किसान आंदोलन को लेकर.. एक्शन में योगी सरकार.. SP, DM को दिए ये निर्देश..

किसान आंदोलन को लेकर..
एक्शन में योगी सरकार..
SP, DM को दिए ये निर्देश..





केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले दो महीने से लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों के लिए दिल्ली में ट्रैक्टर परेड निकालना और हिंसा फैलाना भारी पड़ता नजर आ रहा है. पहले तो आंदोलन में फूट पड़ गयी और दो किसान संगठन ने अपना आंदोलन खत्म कर दिया और बॉर्डर से वापस लौट गये. अब उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस मामले में कड़ा आदेश जारी कर दिया है।


*राकेश टिकैत ने रोते हुए दी..* *आत्महत्या की धमकी* *कहीं ये घढ़ियाली आंसू तो नहीं..??*


प्राप्त जानकारी के अनुसार यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने किसान आंदोलन को खत्म कराने का आदेश जारी कर दिया है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के सभी डीएम और एसपी को किसानों का आंदोलन खत्म कराने के लिए आदेश दिया है और उन्हें सारे बॉर्डर से किसानों को हटाने के लिए बोल दिया है।


*राष्ट्रपति अभिभाषण के* *बहिष्कार की घोषणा..* *कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल हुए एकजुट*


योगी सरकार के रुख को भागते हुए तत्काल ही  प्रशासन के आला अधिकारी हरकत में आए यही कारण है कि अब खबर आ रही है कि गाजियाबाद के डीएम ने बॉर्डर खाली कराने का आदेश जारी कर दिया है. डीएम ने प्रदर्शनकारियों को जगह खाली करने का कह दिया है।


*लाल किला कांड के बाद..* *सामने आया* *"Deep-Sindhu" का बयान* *किसान नेताओ को बेनकाब करने की बात...*


इधर योगी सरकार के कड़े रुख के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिये गये हैं. पुलिस बल लगातार बॉर्डर पर मार्च कर रहे हैं. इधर गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के दौरान लालकिले की घटना और दिल्ली के कई जगहों पर हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस अब बड़े ऐक्शन की तैयारी में लग रही है. जानकारी के अनुसार दिल्ली पुलिस कमिश्नर इस समय खुफिया अफसरों के साथ हाई लेवल मीटिंग कर रहे हैं।


*किसान आंदोलन कैसे हुआ हिंसक.??* *जानिए एक एक कदम की विस्तृत जानकारी..*


नोएडा में भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति का धरना समाप्त भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति ने केन्द्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ अपने प्रदर्शन को समाप्त करने की बृहस्पतिवार को घोषणा कर दी. वह पिछले 58 दिनों से दलित प्रेरणा स्थल पर प्रदर्शन कर रहे थे. भारतीय किसान यूनियन भानू ने भी बुधवार को चिल्ला बॉर्डर पर चल रहे प्रदर्शन को समाप्त कर दिया था. दोनों किसान संगठनों ने दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद अपने संगठनों को प्रदर्शन से अलग कर लिया है।


*किसानों के "लाल किला" एक्शन पे..* *जानिए क्या है..सरकार का रिएक्शन..??*


गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी में गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा के संबंध में राजद्रोह का मामला दर्ज किया है. भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए(राजद्रोह) के तहत मामला दर्ज किया गया है. इससे पहले दिल्ली पुलिस ने लाल किले पर हुई हिंसा के सिलसिले में दर्ज प्राथमिकी में अभिनेता दीप सिद्धू और ‘गैंगस्टर' से सामाजिक कार्यकर्ता बने लक्खा सिधाना के नाम भी शामिल किए हैं।


*यहां ट्रेन में लग रहे थे "पाकिस्तान जिंदाबाद" के नारे* *फिर पुलिस ने निकाली युवकों की देशभक्ति...*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार