Breaking

मंगलवार, 19 जनवरी 2021

साहब..रसूखदारों के भी अतिक्रमण हटाओ.. अतिक्रमण कार्यवाही को लेकर बोली आम जनता..

 साहब..रसूखदारों के भी अतिक्रमण हटाओ..

अतिक्रमण कार्यवाही को लेकर बोली आम जनता..




(हाशिम खान-सिवनी-छपारा)


 मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के छपारा अंतर्गत अतिक्रमण हटाओ कार्यवाही पर सवाल उठ रहे है। गौरतलब हो कि संजय कॉलोनी चौराहे पर प्रशासन के द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही करते हुए महेंद्र चौकसे नामक शिक्षक की तीन मंजिला इमारत जमींदोज कर दी गयी। इसके अलावा चौराहे के दोनों ओर बने दुकानों को शासकीय भूमि में बताकर तोड़ दिया गया।जिला प्रशासन की इस कार्यवाही पर आरोप लग रहे हैं की कई लोगों को बेरोजगार कर दिया गया।


*Adhaar Card Update:* *अब घर बैठे कर सकेंगे बदलाव..* *जानिए आधार अपडेट करने का तरीका*


लाखों की शासकीय जमीन हुई अतिक्रमण मुक्त..


आपको बतादें की सोमवार को हुई कार्यवाही में छपारा में 50 लाख से अधिक की सरकारी भूमि मुक्त कराने के बात तहसीलदार के द्वारा कही जा रही थी।जोकि मंगलवार को भी कार्यवाही जारी रही। ज्ञात हो कि जिन दुकानों पर कार्यवाही की गई है। वहां दुकान संचालित करने वाले मध्यम वर्गीय परिवार के लोग है। जिनका इस कार्यवाही से रोजगार छिन गया। 


*सोने चांदी के भावों में उछाल..* *जानिए क्या है..??* *बाज़ार का हाल..*


आम जनता ने लगाया पक्षपात करने का आरोप...




इस कार्रवाई को लेकर लोगों की तरह तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही है। और अब लोग कार्यवाही को लेकर जमकर आक्रोशित हैं। इस कार्यवाही से  प्रभावित हुए परिवारों का कहना है कि शहर में और भी लोग शासकीय भूमि पर दुकान कांप्लेक्स बनाकर संचालित कर रहे हैं। उन पर भी कार्यवाही की जानी चाहिए जबकि यह कार्यवाही जो संजय कॉलोनी चौराहे पर की गई है ऐसा प्रतीत हो रहा है जैसे कोई राजनैतिक दबाव के चलते की गई है।खास तौर पर दलित वर्ग से आने वाले परिवारों की दुकानों को बर्बाद किया गया है ।


*सरपंच सचिव की जोड़ी का कमाल..* *कब्रिस्तान की भूमि पर बना दिया पीएम आवास..*


लक्ष्मण सिंह अहिरवार ने कहा कि यह कार्यवाही प्रशासन की नहीं। बल्कि कुछ लोगों के दबाव के चलते की गई है। जिस स्थान पर छोटी मोटी दुकान चलाकर परिवार का भरण पोषण करते आ रहे हैं वह जमीन भले ही सरकारी है लेकिन पूर्वजों से कई वर्षों से उस स्थानों के आस-पास निवास कर रहे हैं। इसी तरह तकिया वार्ड में भी शासकीय भूमि में बनी दुकानों को तोड़ने की कार्यवाही की गई है।

 

*दर्दनाक सड़क हादसा:* *बेकाबू ट्रक ने फुटपाथ पर सो रहे 15 लोगों को रौंदा..*


तहसीलदार ने दिया निष्पक्ष कार्यवाही का आश्वासन...


तहसीलदार ने कहा कि यह कार्यवाही 1 सप्ताह तक चलेगी यदि कोई व्यक्ति शासकीय भूमि का व्यवसायिक उपयोग कर रहा है तो उसकी भी जानकारी उन्हें उपलब्ध कराई जाए।उन्होंने विश्वास दिलाया है कि सभी पर निष्पक्ष कार्यवाही  की जाएगी मुंह देखी कार्यवाही नहीं की जाएगी। 


*बैंक के चपरासी ने छत से लगाई छलांग..* *जानिए क्या है..??* *जेब मे रखी चिठ्ठी का राज...*


रसूखदारों के अतिक्रमण पर भी उठे सवाल...




लोगों ने मांग उठाई है,की चमरा नाला से होते हुए झंडा चौक तक सड़क के अगल-बगल पहले व्यापारियों के बड़े-बड़े अतिक्रमण जिन्होंने सड़क तक दुकान फैला ली है उन पर कभी कार्यवाही नहीं होती । केवल फुटपाथ में पान ठेले और फल दुकानों वालों पर ही कार्यवाही होती आई है। हमेशा अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही में फुटपाथ में दुकान लगाने वाले ही इस कार्रवाई की चपेट में आते हैं। और रसूखदारों को बक्श दिया जाता है।


 आक्रोशित लोगों ने कहा है रसूखदारों के द्वारा जो साथ की भूमि और सड़क के किनारे किए कब्जे पर भी कार्यवाही की जाए। जिन लोगों के रोजगार छिन गए और बेरोजगार हो गए उनके लिए कोई स्थान चिन्हित कर उन्हें रोजमर्रा का व्यापार करने के लिए जगह मुहैया कराए जाए।इस आशय की भी मांग की गई है।


*ठगबाजों ने NEET को बनाया निशाना..* *20 लाख रुपयों में दिलवा रहे थे एडमिशन..*


बारात घरों और भवनों की भी हो जांच..


अतिक्रमण विरोधी मुहिम प्रशासन के द्वारा जो चलाई जा रही है जिस पर कई दुकानों को तोड़कर जमींदोज कर दिया गया है जिसके बाद अब आवाज उठ रही है कि कई भवन और शादी घरों के द्वारा भी सरकारी भूमि पर कब्जा किया गया है जिन की भी जांच होनी चाहिए और उन   अतिक्रमण को भी हटाया जाना चाहिए


*पूर्व कमिश्नर की बेटी ने की आत्महत्या..* *सुसाइड नोट में किया जिक्र..*


सहायक अभियंता ने कहा अतिक्रमण हटाओ कार्रवाई के दौरान बिजली रहेगी बंद..


सोमवार से हटाए जा रहे अतिक्रमण से नगर की विद्युत व्यवस्था भी बुरी तरह प्रभावित हो गई है जिस पर सहायक अभियंता ने कहा है कि जब तक अतिक्रमण हटाया जा रहा है तब तक विद्युत व्यवस्था नगर की प्रभावित रहेगी कई जगह मशीन से अतिक्रमण हटाया जा रहा है जिससे मशीनों में तार फंसने की आशंका रहती है जिससे शॉर्ट सर्किट हो कर दुर्घटनाएं होने की संभावनाएं हैं जिसके चलते विद्युत व्यवस्था अतिक्रमण हटाने के दौरान बंद रखी जाएगी।


*प्रेमी के साथ मिलकर* *बेटी ने की पिता की हत्या* *फिर लाश की बदबू मिटाने* *डालती रही परफ्यूम..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार