Breaking

गुरुवार, 21 जनवरी 2021

इंदौर गैंग रेप कांड में आया नया मोड़ शिकायतकर्ता ने बनाई थी गैंगरेप की मनगढ़ंत कहानी

इंदौर गैंग रेप कांड में आया नया मोड़
शिकायतकर्ता ने बनाई थी गैंगरेप की मनगढ़ंत कहानी




मध्यप्रदेश में सनसनी फैला देने वाली इंदौर की गैंग रेप की कहानी अब एक अलग ही मोड़ पर आ गई है प्राप्त जानकारी के अनुसार ना तो कोई गैंग रेप हुआ था और ना ही कोई मारपीट यह सब कुछ शिकायतकर्ता के दिमाग से उपजी एक शातिर चाल थी। पुलिस की पूछताछ में शिकायतकर्ता लड़की ने ना केवल अपनी इस मनगढ़ंत कहानी का खुलासा किया है बल्कि सिलसिलेवार तरीके से एक एक साक्ष्य भी पुलिस तक मुहैया भी कर आए हैं। खास बात यह है कि लड़की ने अपनी कहानी में जान डालने के लिए खुद ही रेलवे ट्रैक पर पहुंचकर गैंगरेप की बात फैलाई और कटर से अपने आप को घायल किया।


*यहाँ दुष्कर्म पीड़िता बालिका ने* *नींद की गोलियां खाकर की आत्महत्या..* *आखिर सरकारी आश्रम ग्रह में कैसे मिली नींद की गोलियां...??*


पहले जानिए आखिर क्या है इंदौर गैंगरेप का मामला


आपको बता दें कि बीते दिनों में 18 साल की एक छात्रा ने पुलिस को बताया कि वह पाटनीपुरा क्षेत्र में कोचिंग में पढ़ने जाती है मंगलवार की शाम कोचिंग से लौटते समय उसे एक दोस्त मिला जिसके साथ एक अन्य युवक भी था दोनों ने ही बातों बातों में उसे पूछूंगा या और बाइक में बिठाकर भागीरथपुरा रेलवे ट्रैक के पास ले गए वहां पहले से 3 लोग मौजूद थे सभी ने मिलकर उसके साथ जबरदस्ती रेप किया लड़की ने यह भी कहा था कि दुष्कर्म करने के बाद बदमाशों ने उस पर चाकू से हमला किया और बोरे में बंद कर उसे आग के हवाले करने की कोशिश की इसके बाद सभी मौके से फरार हो गए।


*कमलनाथ की खाट पंचायत पर* *शिवराज का कटाक्ष..*


इंदौर डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने किया खुलासा



गैंगरेप की खबर लगते ही पूरा पुलिस प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया पुलिस में 150 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगाले और घटना से संबंधित लोगों से पूछताछ की पूछताछ के दौरान मामला संदिग्ध पाए जाने पर पुलिस ने मुखबिर तंत्र को भी एक्टिव कर दिया इंदौर के डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि लड़की के मेडिकल टेस्ट में किसी भी तरह से गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई है लड़की ने शिकायत में अपने जिन दोस्तों का नाम लिया था सीसीटीवी फुटेज में भी कहीं नहीं दिखे वही लड़की के बयानों पर संदेह होने के बाद पुलिस ने लड़की से सख्ती से पूछताछ की इस दौरान लड़की ने खुद अपने शरीर पर कटा से चोट के निशान बनाने और गैंगरेप की झूठी कहानी बोलने की बात स्वीकार की।


*है लखपति..* *लेकिन नहीं छूट रहा..* *प्रधानमंत्री आवास का मोह..*


लड़की का पुराना रिकॉर्ड भी है संदिग्ध


घटना गैंगरेप से जुड़ी थी लिहाजा पुलिस इस पूरी वारदात के हर एक पहलू की बारीकी से जांच कर रही थी इस दौरान पुलिस ने पाया कि शिकायतकर्ता लड़की का पुराना रिकॉर्ड भी काफी गड़बड़ है पुलिस जांच के अनुसार लड़की इससे पहले भी दो अलग-अलग मामलों में लोगों के खिलाफ छेड़छाड़ के मामले दर्ज करा चुकी है प्राप्त जानकारी के अनुसार इन मामलों में एक व्यक्ति जेल भी जा चुका है खास बात यह है कि लड़की द्वारा पहले आरोप लगाया जाता है और फिर सेटलमेंट के नाम पर पैसे वसूलने का खेल भी खेला जाता है।


*एमपी में बन सकता है..* *"फिजियोथैरेपी परिषद"* *शिवराज सिंह चौहान*


खुद के खेल में फंसी तो बना ली गैंगरेप की मनगढ़ंत कहानी




बताया जा रहा है कि शिकायतकर्ता लड़की अपने साथ हुई कुछ पुरानी घटनाओं को लेकर परेशान थी लड़की उपरोक्त रेलवे ट्रैक पर आत्महत्या करने पहुंची थी लेकिन अचानक ही उसका मन बदल गया तो उसने अपने दोस्तों को फंसाने का प्लान बनाया पुलिस अब उस से यह पता कर रही है कि दोस्त को इस मामले में फंसाने का कारण क्या था वहीं पुलिस पूछताछ में शिकायतकर्ता लड़की ने दोस्त के पास कुछ पुराने वीडियो होने की बात बताई है अब पुलिस इन वीडियो की भी जांच पड़ताल में जुटी हुई है।


*अल्लाह और अली पर क्यों नहीं बनाते वेब सीरीज- साध्वी प्राची*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार