Breaking

रविवार, 24 जनवरी 2021

समर्पण की अनूठी मिसाल.. नेत्रहीन बुजुर्ग भिखारीन ने किया मंदिर निर्माण हेतु ₹2000 का समर्पण

 

समर्पण की अनूठी मिसाल..
नेत्रहीन बुजुर्ग भिखारीन ने किया मंदिर निर्माण हेतु ₹2000 का समर्पण..





भक्त जब अपने प्रभु की भक्ति में लीन होता है तब वह अपना सर्वस्व न्यौछावर करने को आतुर होता है, कुछ ऐसा ही हुआ जबलपुर के मिलोनीगंज छोटा-फुहारा में, जहाँ श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भिक्षु दिव्यचक्षु बसंती प्रजापति ने प्रभु राम के प्रति अनन्य भक्ति भाव से श्रीराम जन्मभूमि निधि संग्रह टोली को 2000/- दो हजार रुपये की नगद राशि भेंट की. निधि समर्पित करते हुए उन्होंने कहा कि सब कुछ तो भगवान का ही दिया है, भगवान को ही समर्पित कर रही हूँ.।




दिव्यचक्षु बंसती प्रजापति के इस समर्पण पर स्थानीय निवासियों का कहना है कि वे पूर्व में भी धार्मिक आयोजनों भागवत कथा, रामकथा में भी इसी तरह समर्पण राशि देती रहती हैं।




वास्तव में जिस प्रकार से श्रीराम मन्दिर निर्माण हेतु हर वर्ग द्वारा धन समर्पित किया जा रहा है वह अद्भुत, अविश्वसनीय और अकल्पनीय होने के साथ-साथ यह बताता है कि प्रभु राम के प्रति भारतीय जनमानस में कितनी अधिक श्रद्धा और भक्ति है।



नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार