Breaking

बुधवार, 27 जनवरी 2021

यहां ट्रेन में लग रहे थे "पाकिस्तान जिंदाबाद" के नारे फिर पुलिस ने निकाली युवकों की देशभक्ति...

यहां ट्रेन में लग रहे थे "पाकिस्तान जिंदाबाद" के नारे

फिर पुलिस ने निकाली युवकों की देशभक्ति...




उज्जैन। अजमेर शरीफ का टिकट लेकर जयपुर-भोपाल ट्रेन में सवार हुए 8 लड़कों की सहयात्रियों से बहस हो गई। थोड़ी ही देर में सभी युवक हिंसा पर उतारू हो गए और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। नागदा जंक्शन पर पुलिस ने 8 में से 4 लड़कों को गिरफ्तार कर लिया जबकि शेष 4 ट्रेन से उतरकर फरार हो गए। 




जयपुर-भोपाल ट्रेन में 26 जनवरी की पूर्व संध्या पर 'पाकिस्तान जिंदाबाद' और 'कश्मीर लेकर रहेंगे' जैसे देश विरोधी नारे लगाने वाले चार युवकों को जीआरपी ने गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि इसमें उनके साथ चार युवक और थे, जो ट्रेन से कूदकर फरार हो गए। पकड़े गए सभी आरोपी उज्जैन से अजमेर जा रहे थे। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 153(ख)(1)(क) के तहत कार्रवाई की गई है। 


*किसान आंदोलन कैसे हुआ हिंसक.??* *जानिए एक एक कदम की विस्तृत जानकारी..*


जानकारी के अनुसार, सोमवार रात जयपुर-भोपाल एक्सप्रेस के कोच नंबर डी-2 में सवार कुछ युवक राष्ट्र विरोधी बातें कर रहे थे। कोच में सवार अन्य यात्रियों ने जब इस पर आपत्ति जताई, तो वे मारपीट पर आमादा हो गए। आरोप है, युवकों ने 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगाए और यह भी कहा कि 'कश्मीर हम लेकर रहेंगे'। इसके बाद विवाद बढ़ने पर साथी यात्रियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।



ट्रेन रात नौ बजकर 20 मिनट पर नागदा जंक्शन पहुंची। वहां जीआरपी ने चार युवकों को हिरासत में ले लिया। बताया जा रहा है, चार युवक चलती ट्रेन से कूदकर फरार हो गए। जीआरपी टीआई एच किंडो ने बताया कि अपराध क्रमांक जीरो पर रिपोर्ट दर्ज कर केस डायरी उज्जैन जीआरपी को भेज दी गई है।



उज्जैन के अंकपात मार्ग इमली चौराहा निवासी सूरज सेन ने आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं, टीआई ने बताया, पकड़े गए युवकों में शाजापुर का अरशद और इमरान खान और उज्जैन के आगर रोड सम्राट नगर निवासी जैदखान व खंदार मोहल्ला निवासी साहेबुद्दीन हैं।


*किसानों के "लाल किला" एक्शन पे..* *जानिए क्या है..सरकार का रिएक्शन..??*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार