Breaking

मंगलवार, 12 जनवरी 2021

मुरैना-जहरीली शराब कांड.. आबकारी अधिकारी और थानेदार निलंबित..

मुरैना-जहरीली शराब कांड.. 
आबकारी अधिकारी और थानेदार निलंबित..




शराब पहले से ही लोगों के घर बर्बाद करने का श्रेय ले चुकी है लेकिन अब तो इस शराब में जहर भी घुल चुका है। यहां ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए शराब माफिया घटिया स्तर की जहरीली शराब भी परोसने से नहीं हिचकीचा रहे हैं। और सबसे ज्यादा खास बात यह है कि उनके काले कारनामों में आबकारी विभाग की मौन सहमति सोने पर सुहागे का काम कर रही है। कुछ जगहों पर तो इन्हीं की मिलीभगत से इस पूरे गोरखधंधे को अंजाम दिया जा रहा है और चंद पैसों की लालच के चलते खुलेआम लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है ऐसा ही एक माजरा मध्य प्रदेश मैं देखने को मिला है जहां इस जहरीली शराब ने 1 दर्जन से अधिक परिवार के घरों में मौत का मातम फैला दिया।


कहां का है मामला..?? क्या है पूरी कहानी..??


मामला मध्य प्रदेश के मुरैना जिले से सामने आया है जहां पर मिलावटी जहरीली शराब पीने से अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है मामले के तूल पकड़ते ही प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने घटना के विशेष जांच के आदेश दे डाले। वही इस साइड इफेक्ट के चलते हैं थाना प्रभारी व आबकारी अधिकारी को भी निलंबित कर दिया गया है इस पूरी घटना को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना जहरीली शराब कांड को अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद बताया है।

आपको बता दें कि इस दुर्घटना की विशेष जांच के लिए कमिश्नर ग्वालियर चंबल ने जांच दल बनाया है और इस पूरी दुर्घटना की बारीकी से जांच की जा रही है।


यहां जानिए आखिर क्या है पूरी घटना


आपको बता दें कि मुरैना जिले के दो गांवों में शराब पीने से बड़ी संख्या में लोग बीमार हुए हैं।इनमें से 11 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है, वहीं आठ से ज्यादा बीमार हैं। इन बीमारों का मुरैना के जिला अस्पताल और ग्वालियर के अस्पताल में इलाज जारी है। वहीं मृतकों के परिजनों में इस घटना को लेकर आक्रोश है।



जिला आबकारी अधिकारी हुए सस्पेंड




जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत हो जाना मध्यप्रदेश के लिए काफी दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि प्रदेश के मुखिया मिलावटखोरों और गलत काम करने वालों पर सतत कार्यवाही करते हुए प्रदेश में गलत काम ना होने की बात कह रहे हैं और वही दूसरी ओर पूरे प्रदेश में शराब माफिया काफी सक्रिय हो चले हैं। हालांकि इस पूरी घटना को काफी गंभीरता से लेते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना में सुपर विजन में लापरवाही पाए जाने पर जिला आबकारी अधिकारी मुरैना को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है साथ ही प्रदेश की जनता को यह विश्वास दिलाया है की मामले की जांच के बाद जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।


गृह मंत्री ने मुरैना जहरीली शराब कांड पर दी प्रतिक्रिया..




इधर इस पूरी घटना को लेकर राज्य के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा काफी व्यथित हुए हैं उन्होंने कहा कि मुरैना में जहरीली शराब पीने से हुई मौत बेहद दुखद है और पीड़ादायक भी है । इस मामले में संबंधित थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है। जांच के लिए अलग से एक टीम भी भेजी जा रही है। घटना के लिए जिम्मेदार किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार