Breaking

शुक्रवार, 22 जनवरी 2021

भारत की दरियादिली नेपाल को दिए 10 लाख टीके PM OLI ने जमकर की तारीफ...

भारत की दरियादिली 
नेपाल को दिए 10 लाख टीके
PM  OLI ने जमकर की तारीफ...




भारत की दरियादिली कि इस बार चारों ओर चर्चा हो रही है वसुधैव कुटुंबकम की तर्ज पर भारत ने एक बार फिर अपने पड़ोसी देशों में प्यार का पैगाम फैलाते हुए उनकी तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है हालांकि इस बार भारत ने अपने जिस पड़ोसी की मदद की है कुछ समय पहले वह पड़ोसी ही भारत के खिलाफ था लेकिन हर नफरत को अपनी दरियादिली से खत्म करने वाला भारत इस बार भी पूरे विश्व के सामने एक मिशाल पेश की है। आपको बता दें कि अभी तक पडोसी मुल्क नेपाल भारत (India) के खिलाफ जहर उगलता था लेकिन अब तारीफों के पुल बांध रहा है। इसकी वजह है कि भारत (India) देश ने नेपाल को 10 लाख टीके दिए है। प्रधानमंत्री केपी ओली ने पूरी दुनिया के सामने ट्विटर पर नेपाल को 10 लाख टीके देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मीदी और उनकी सरकार की तारीफ की है।


*कोरोना वैक्सीन निर्माता* *सीरम इंस्टीट्यूट के प्लांट में लगी आग..* *5 की मौत, PM मोदी ने जताया दुख*


नेपाल के प्रधानमंत्री ने की भारत की तारीफ




भारत देश से नेपाल इतना खुश है की उसने ट्विटर पर लिखा है कि ऐसे महत्वपूर्ण समय में भारत ने अपने लोगो के लिए टीकाकरण की शुरुआत की है और आज हमारी मदद भी की है। नेपाल को कोविड वैक्सीन की दस लाख खुराक के उदार अनुदान के लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ उनकी सरकार और लोगों को धन्यवाद देता हूं। भारत देश ने इससे पहले भी की मदद।


*इंदौर गैंग रेप कांड में आया नया मोड़* *शिकायतकर्ता ने बनाई थी गैंगरेप की मनगढ़ंत कहानी* *पढ़िए सनसनीखेज खुलासा*


भारत ने हर वक्त बढ़ाया मदद का हाथ


नेपाल के पीएम ने कहा, भारत देश ने पहली बार ही नहीं बल्कि इससे भी नेपाल की मदद की है। जब कोरोना महामारी तेजी से फ़ैल रही थी तब भारत ने पीपीई किट और वेंटिलेटर्स जैसे जरूरी सामान देकर नेपाल की मदद की थी और भरोसा दिया था की हर संभव मदद करेंगे। अब कोरोना के 10 लाख टीके भेजकर अपने पड़ोसी होने का फर्ज अदा किया है।


*यहाँ दुष्कर्म पीड़िता बालिका ने* *नींद की गोलियां खाकर की आत्महत्या..* *आखिर सरकारी आश्रम ग्रह में कैसे मिली नींद की गोलियां...??*


अपने पड़ोसी देशों की मदद में हमेशा तत्पर रहा है भारत


आपको बता दें, भारत ने सहायता अनुदान एवं पड़ोस प्रथम नीति के तहत गुरुवार को कोविड-19 के टीके की खेप बांग्लादेश और नेपाल भेजी। इससे एक दिन पहले भूटान और मालदीव को कोविड-19 टीके की खेप भेजी गई थी। गौरतलब है कि  भारत सहायता अनुदान के तहत भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार, सेशेल्स को कोविड-19 के टीके की आपूर्ति कर रहा है।


*है लखपति..* *लेकिन नहीं छूट रहा..* *प्रधानमंत्री आवास का मोह..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार






कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार