किसान आंदोलन कैसे हुआ हिंसक.?? जानिए एक एक कदम की विस्तृत जानकारी - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

किसान आंदोलन कैसे हुआ हिंसक.?? जानिए एक एक कदम की विस्तृत जानकारी

किसान आंदोलन कैसे हुआ हिंसक.??

जानिए एक एक कदम की विस्तृत जानकारी




देश में गणतंत्र दिवस (Republic Day) के दिन राजधानी दिल्ली में किसानों के ट्रैक्टर रैली (Tractor Parade Rally) के दौरान कई जगहों पर हिंसा हुई. इस दौरान कई किसान और 83 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए. बता दें कि राजधानी दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली पहले से प्रस्तावित थी लेकिन ट्रैक्टर रैली के दौरान आंदोलनकारी किसानों और पुलिस में झड़प हो गई. आइए जानते हैं कल के पूरे घटनाक्रम के बारे में...


जानिए 26 जनवरी को दिल्ली में कब और क्या-क्या हुआ?


सुबह 9 बजे - गणतंत्र दिवस के मौके पर तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर कुछ किसानों ने तय समय से पहले ट्रैक्टर रैली निकालन शुरू कर दी. दिल्ली-हरियाणा के टिकरी बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों ने बैरिडकेडिंग तोड़ दी.


10 बजे - रिपब्लिक डे पर किसानों की ट्रैक्टर रैली टिकरी बॉर्डर से राजधानी दिल्ली में दाखिल हो गयी. जानकारी के मुताबिक किसानों की ट्रैक्टर परेड में जेसीबी भी शामिल हुई.


10.30 बजे - ट्रैक्टर परेड निकाल रहे किसानों की टिकरी बॉर्डर पर पुलिस के साथ झड़प हुई. प्रदर्शनकारी किसानों ने पुलिस की तरफ से लगाए गए बैरिकेडों को तोड़ दिया.


11.15 बजे - अक्षरधाम से पहले एनएच 24 पर किसानों के जत्थे ने ट्रैक्टरों के साथ कुछ बैरिकेडिंग को तोड़कर दिल्ली की तरफ घुसने की कोशिश की तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया. किसानों ने पुलिस के कई बैरिकेड्स तोड़ दिए.


11.20 बजे - दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर इलाके में किसानों ने पुलिस वाहन पर कब्जा जमाया. एक वाटर कैनन के उपर चढ़ गए इसीबीच प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस में झड़प हुई. हालात को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े हैं.


दोपहर 12 बजे - गाजीपुर बॉर्डर से आगे नोएडा मोड़ पर किसानों और पुलिस के बीच टकराव हुआ. भारी तादात में किसान नोएडा मोड़ पर बैरिकेडिंग तोड़ते हुए आगे घुसे.


12.15 बजे - सिंघू और टिकरी बॉर्डर पर किसानों ने जबरदस्त हंगामा किया. अवरोधकों को तोड़कर दिल्ली में दाखिल हो गए. इसके बाद किसानों के समूह पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे.


1 बजे - दिल्ली में हंगामे की स्थिति को देखते हुए इंद्रप्रस्थ सहित कई मेट्रो स्टेशन के गेट को बंद कर दिए गये.


1.30 बजे - प्रदर्शनकारी किसान दिल्ली के लाल किला में घुस गए और वहां अपना झंडा फहराया. दिल्ली की कई सड़कों पर भगदड़ और तनावपूर्ण स्थिति हो गयी.


3 बजे - आईटीओ पर एक प्रदर्शनकारी की मौत होने के बाद हालात और तनावपूर्व हो गये. किसानों ने आरोप लगाया कि किसान को पुलिस की गोली लगी है. मृतक के शव को आईटओ चौराहे पर रखा कर नारेबाज़ी हुई.


3.30 - दिल्ली में किसानों के हिंसक प्रदर्शन के कारण ग्रे लाइन के सारे मेट्रो स्टेशन अस्थायी तौर पर बंद कर दिए गये.


4 बजे - ट्रैक्टर परेड में किसानों के उत्पात के कारण Delhi-NCR के कई इलाकों में इंटरनेट सेवा पर लगी रोक


5 बजे - हालात के मद्देनजर गृह मंत्री अमित शाह (Home minister Amit shah) ने अपने आवास पर आपातकालीन बैठक बुलायी. कानून व्यवस्था को लेकर आला अधिकारियों से बातचीत.


5.30 बजे - लाल किले को पूरी तरीके से खाली कराया गया. गृह मंत्री अमित शाह ने वरिष्ठ गृह मंत्रालय के अधिकारियों से दिल्ली में कानून और व्यवस्था की स्थिति का जायजा लिया.


7 बजे - दिल्ली के कई बॉर्डर को रात 12 बजे तक अस्थायी रूप से इंटरनेट की सेवाएं बंद कर दी गईं. जिसमें सिंघु, गाजीपुर, टिकरी, मुकरबा और नांगलोई बॉर्डर भी शामिल रहे.


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार