भारतीय सेना में "मानवाधिकार सेल" का गठन,मेजर जनरल गौतम चौहान बने अतिरिक्त महानिदेशक.. - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

भारतीय सेना में "मानवाधिकार सेल" का गठन,मेजर जनरल गौतम चौहान बने अतिरिक्त महानिदेशक..

भारतीय सेना में "मानवाधिकार सेल" का गठन,मेजर जनरल गौतम चौहान बने अतिरिक्त महानिदेशक..





भारत देश की सेना मैं मानवाधिकारों से जुड़े हुए मामलों की जांच करने के लिए एक विशेष प्रकोष्ठ का गठन करते हुए उसे "मानवाधिकार सेल" का नाम दिया गया है। आपको बता दें कि इस मानवाधिकार प्रकोष्ठ के पहले अतिरिक्त महानिदेशक मेजर जनरल गौतम चौहान बनाए गए हैं आप भारतीय सेना के उप प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी की  तहत काम करेंगे। आपको बता दें कि मेजर जनरल गौतम चौहान ने अपना कार्यभार भी ग्रहण कर लिया है


*शिवराज के मंत्रिमंडल विस्तार की* *तारीख हुई तय..* *राज्य भवन से आए संकेत..*


​सेना के प्रवक्ता ने बताया कि सेना के साथ संवेदनशील संघर्ष क्षेत्रों में मानवाधिकारों के उल्लंघन के आरोप सामने आते हैं​ ​लेकिन इस ओर हमेशा ध्यान नहीं जाता है।​ ​भारतीय सेना ने ​​मानवाधिकार ​अधिकारों और मूल्यों के पालन को उच्च प्राथमिकता देने के लिए ​मानवाधिकार प्रकोष्ठ का ​गठन किया है​।​ इसका ​प्रमुख ​मेजर जनरल गौतम चौहान ​को ​नियुक्त किया है​ जिन्होंने भारतीय सेना में पहले अतिरिक्त महानिदेशक मानवाधिकार के रूप में पदभार संभाल​ लिया है​।​ वह सेना के उप प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी के तहत काम करेंगे​​।​ ​मानवाधिकार सेल ​सेना में ​किसी भी ​​तरह के मानवाधिकार उल्लंघन ​मामलों की जांच ​करेगा।​ इस सेल की पारदर्शिता बढ़ाने और खोजी विशेषज्ञता ​हासिल करने के लिए ​​​भारतीय पुलिस सेवा के​ एसएसपी ​या ​एसपी रैंक के ​​एक ​अधिकारी को ​सेना में ​प्रतिनियुक्ति पर लिया जाएगा।​ वह ​​न केवल जांच ​में कानूनी सहायता ​करेंगे​, बल्कि आवश्यकता पड़ने पर अन्य संगठनों और गृह मंत्रालय के साथ समन्वय स्थापित करने में भी मदद ​करेंगे​।​


*सिर्फ कैलेंडर ही नहीं बदला..* *बदल गए है.. ये खास नियम...* *जानिए आपकी जेब मे कितना असर होगा..*


​उन्होंने बताया कि ​​​अतिरिक्त महानिदेशक मानवाधिकार का पद ​​सेना ​में घोषित कई सुधारों का हिस्सा है।​ भारतीय सेना ​में मानवाधिकार ​के मामले न के बराबर हैं लेकिन​ यह मानवाधिकार प्रकोष्ठ पेशेवर तरीके से आरोपों को देखने में मदद करेगा और आंतरिक प्रहरी के रूप में भी कार्य करेगा।​​ रक्षा मंत्रालय ​ने अगस्त​,​ 2019 में ​​मानवाधिकार प्रकोष्ठ को मंजूरी​ ​दी थी​​।​​ इसका गठन ​एक मेजर जनरल रैंक के अधिकारी की अध्यक्षता में ​किया जाना था, इसीलिए अब ​मेजर जनरल चौहान​ को पहला अतिरिक्त महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है​​।​ अभी तक वह एकीकृत रक्षा स्टाफ (मुख्यालय आईडीएस) के मुख्यालय में ब्रिगेडियर ऑपरेशन लॉजिस्टिक्स के रूप में सेवारत थे​​।​ इससे पहले ​​उन्होंने ​उत्तर पूर्व में ​गोरखा राइफल्स​ ​की ​एक ब्रिगेड का नेतृत्व किया है। उन्होंने सैन्य संचालन निदेशालय (एमओ) में भी काम किया है।


*फर्जी जाति प्रमाण पत्र मामले में* *सहायक आबकारी अधिकारी बर्खास्त..**


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार





पेज