कमलनाथ की खाट पंचायत पर शिवराज का कटाक्ष - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

कमलनाथ की खाट पंचायत पर शिवराज का कटाक्ष

कमलनाथ की खाट पंचायत पर
शिवराज का कटाक्ष..





वर्तमान की राजनीति की बात करें तो किसान आंदोलन से जुड़े किसी भी मुद्दे को कांग्रेस भंजाने से नहीं चूक रही है। यही कारण है कि मुरैना के देवरी में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेसी नेताओं ने किसानों के समर्थन में खाट महापंचायत का आयोजन किया गया। इस आयोजन में सरकार से तीनों के सी कानून वापस लेने की मांग की गई है। इस आयोजन में कमलनाथ के अलावा दिग्विजय सिंह सहित तमाम कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मौजूद रहे


*है लखपति..* *लेकिन नहीं छूट रहा..* *प्रधानमंत्री आवास का मोह..*


जानिए खाट पंचायत को लेकर क्या बोले शिवराज..??

 

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस पार्टी किसानों का हितैषी बनते हुए खाट महापंचायत का आयोजन कर रही है जिस पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार देर शाम प्रतिक्रिया देते हुए तंज कसा है। उन्होंने कहा कि अब कमलनाथ जी के पास कुर्सी तो बची नहीं, खाट ही बची है अब वह खाट पर ही बैठेंगे। उन्होंने कहा कि अब मरता क्या न करता, उन्हें कोई काम है नहीं उनकी सिर्फ एक टीम बैठी है जो सिर्फ ट्वीट करती है और झूठे सच्चे कुछ भी ट्वीट करें कोई काम तो होना चाहिए इसलिए वह सिर्फ ट्वीट करते रहते हैं।


*अल्लाह और अली पर क्यों नहीं बनाते वेब सीरीज- साध्वी प्राची*


कमलनाथ के आरोपों पर शिवराज का पलटवार


इस दौरान शराब दुकानों को लेकर कमलनाथ के आरोपों पर सीएम शिवराज ने कहा कि हमारा पहला कदम है माफियाओं को दफन करें और वह अभियान लगातार चल रहा है। अभी कोई फैसला नहीं किया है और ना ही कुछ तय किया है। वह तो कहते रहते हैं कौवा कान ले गया, उन्हें तो यह बात भी नहीं पता कि कौवा है या कान। कुछ भी बोलते रहते हैं, तथ्य आते हैं उन पर बात होती है। उन्होंने कहा कि यह फैसला मैंने किया था 10 साल तक कोई शराब की दुकान नहीं खुली, कई दुकानें बंद कर दी थी। मैं उस विषय पर अभी कुछ बोलना नहीं चाहता, कई तरह के तथ्य आते हैं उन सब पर विचार करके प्रदेश की जनता के हित में ही कोई फैसला करेंगे।


*साहब..* *रसूखदारों के भी अतिक्रमण हटाओ..* *अतिक्रमण कार्यवाही को लेकर बोली आम जनता..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार