बैंक के चपरासी ने छत से लगाई छलांग.. जानिए क्या है..?? जेब मे रखी चिठ्ठी का राज... - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

बैंक के चपरासी ने छत से लगाई छलांग.. जानिए क्या है..?? जेब मे रखी चिठ्ठी का राज...

बैंक के चपरासी ने छत से लगाई छलांग..
जानिए क्या है..?? जेब मे रखी चिठ्ठी का राज...





(वाजिद खान-जबलपुर)


 जबलपुर के राइट टाउन इलाके में स्थित यूनियन बैंक के चतुर्थ श्रेणी एक कर्मचारी ने बैंक की छत से छलांग लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया है। इस घटना के बाद बैंक कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में घायल कर्मचारी को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसका इलाज किया जा रहा है। जिसके हाथ, पैर और पीठ में गंभीर चोटें आई हैं। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने बैंक से जानकारी ली और घटना की जांच शुरू की..


*ठगबाजों ने NEET को बनाया निशाना..* *20 लाख रुपयों में दिलवा रहे थे एडमिशन..*


जानिए आखिर कौन है यह बैंक कर्मी..?? कैसे हुई घटना..??




प्राप्त जानकारी के अनुसार बलदेवबाग पूजा नर्सिंग होम के पास रहने वाला शुभम सोंधिया उम्र 26 वर्ष यूनियन बैंक में संविदा पर कर्मचारी के पद पर कार्य करता था। घटना वाले दिन दोपहर 3:00 वह बैंक कार्यालय की पहली मंजिल की छत पर पहुंचा और वहां से उसने छलांग लगा दी प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार छत से कूदने पर वह नीचे से निकले केबल से टकराकर जमीन पर गिरा और गंभीर रूप से घायल हो गया उसके हाथ पैर व कमर में फैक्चर होना बताया जा रहा है हादसे के बाद बैंक कर्मी उसे तत्काल समीप स्थित एक निजी अस्पताल लेकर पहुंचे वहां से उसे मेडिकल कॉलेज के लिए रिफर किया गया है।


*पूर्व कमिश्नर की बेटी ने की आत्महत्या..* *सुसाइड नोट में किया जिक्र..*


ऐसा क्या कारण था जो बैंक कर्मी ने उठाया आत्मघाती कदम


सूचना पर पहुंची पुलिस ने जब अपनी जांच शुरू की तो प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि वह है कर्मियों की प्रताड़ना के चलते काफी परेशान था और आए दिन होने वाले बाद विवादों से वह इतना दुखित हो चुका था कि उसने आत्मघाती कदम उठाने का फैसला कर लिया पुलिस जांच के दौरान चपरासी पहलाद दुबे द्वारा घायल को प्रताड़ित किया जाना पाया गया है जिसके चलते चपरासी प्रह्लाद दुबे पर धारा 294, 503, 504 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।


*तुलसी की चटनी बढ़ाएगी इम्यूनिटी..* *स्वास्थ्य और स्वाद का बेजोड़ बंधन..*


घायल की जेब में मिले पत्र से हुआ प्रताड़ना का खुलासा




प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस जांच के दौरान पुलिस को शुभम की जेब से एक पत्र मिला है जिसमें दफ्तर के एक पियून पहलाद दुबे पर प्रताड़ना का आरोप लगाया गया है पत्र में लिखा है कि वह  दफ्तर के पियून(चपरासी) की प्रताड़ना से गाली गलौज से तंग आ चुका हूं परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और उसे कुछ होता है तो इसका जिम्मेदार दफ्तर का पियून होगा।


*बाइक एंबुलेंस "रक्षिता" का शुभारंभ* *नक्सल क्षेत्रों में तत्काल मिलेगी स्वास्थ्य सेवा*


अस्पताल पहुंचे परिजनों ने जमकर किया हंगामा


संविदा बैंक कर्मी के बैंक की छत से छलांग लगाने की घटना की खबर मिलते ही शुभम का परिवार भी अस्पताल जा पहुंचा शुभम के पिता सुरेंद्र सोंधिया माता विमला और तीन बेटियों ने अस्पताल पहुंचते ही जमकर हंगामा किया उन्होंने आरोप लगाया है कि बैंक में नियमित रूप से काम करने वाले चपरासी के पद पर कार्यरत प्रह्लाद दुबे द्वारा लंबे समय से उनके बेटे शुभम को प्रताड़ित किया जा रहा था शुभम ने कई बार घर में प्रहलाद द्वारा प्रताड़ित किए जाने का जिक्र भी किया था बताया जा रहा है कि अक्सर प्रहलाद जरूरी फाइल छिपा देता था और उसके बाद जानबूझकर शुभम को फाइल को खोजने के लिए कहता था शनिवार को भी ऐसी ही किसी बात को लेकर प्रहलाद और शुभम के बीच जम कर कहासुनी हुई थी और फिर सोमवार को विवाद बढ़ने के बाद शुभम ने आत्महत्या करने का फैसला लिया।


*सरपंच सचिव की जोड़ी का कमाल..* *कब्रिस्तान की भूमि पर बना दिया पीएम आवास..*


पुलिस कर रही है घटना की विस्तृत जांच




इधर घटना को लेकर मदन महल थाना पुलिस घटना के हर पहलू को बारीकी से खंगालते हुए विस्तृत जांच कर रही है। मदन महल थाना प्रभारी नीरज वर्मा ने प्रकरण की जानकारी देते हुए बताया कि बैंक में संविदा पर पदस्थ पियून द्वारा बैंक कार्यालय की पहली मंजिल की छत से छलांग लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया है प्रारंभिक जांच में सहकर्मी द्वारा प्रताड़ित किए जाने की बात सामने आई है जिसे लेकर सहकर्मी चपरासी प्रहलाद पर प्रकरण दर्ज करते हुए पूछताछ की जा रही है।


*प्रेमी के साथ मिलकर* *बेटी ने की पिता की हत्या* *फिर लाश की बदबू मिटाने* *डालती रही परफ्यूम..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार