Breaking

गुरुवार, 28 जनवरी 2021

राष्ट्रपति अभिभाषण के बहिष्कार की घोषणा.. कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल हुए एकजुट

राष्ट्रपति अभिभाषण के बहिष्कार की घोषणा..
कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल हुए एकजुट




नई दिल्लीः किसान आंदोलन को लेकर चल रहे आरोप-प्रत्यारोप के बीच कांग्रेस समेत प्रमुख विपक्षी दलों ने संसद के बजट सत्र में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण का बहिष्कार करने की घोषणा की है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं राज्य सभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने बताया कि 16 राजनीतिक दलों ने कल राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार करने का बयान जारी किया है। इसका प्रमुख कारण पिछले सत्र में विपक्ष की गैर मौजूदगी में कृषि संबंधित तीन कानूनों को सरकार द्वारा बलपूर्वक पारित कराना है। कल राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ ही बजट सत्र शुरु हो रहा है । 


*आबकारी की दबिश से* *दवा बाजार में हड़कंप* *दवा व्यापारी और आबकारी आमने सामने*


विपक्षी दलों के संयुक्त बयान में कहा गया है कि बीजेपी की सरकार ने तीनों कृषि कानूनों को मनमाने ढंग से लागू किया है, जिससे देश की 60 प्रतिशत आबादी पर आजीविका का संकट पैदा हो गया है। इससे करोड़ों  किसान और खेतिहर मजदूर सीधे प्रभावित हो रहे हैं। दिल्ली की सीमाओं पर किसान पिछले 64 दिन से धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं और 155 से ज्यादा किसान अपनी जान गंवा चुके हैं। 


*लाल किला कांड के बाद..* *सामने आया* *"Deep-Sindhu" का बयान* *किसान नेताओ को बेनकाब करने की बात...*


 नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार






कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार