ठगबाजों ने NEET को बनाया निशाना.. 20 लाख रुपयों में दिलवा रहे थे एडमिशन.. - VIKAS KI KALAM,Breaking news jabalpur,news updates,hindi news,daily news,विकास,कलम,ख़बर,समाचार,blog

Breaking

ठगबाजों ने NEET को बनाया निशाना.. 20 लाख रुपयों में दिलवा रहे थे एडमिशन..

ठगबाजों ने NEET को बनाया निशाना..
20 लाख रुपयों में दिलवा रहे थे एडमिशन..




मध्यप्रदेश के इंदौर जिले से नीट(NEET) परीक्षा पास करवाने और मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलवाने के नाम पर एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ हुआ। दरअसल गिरोह के सदस्य बच्चों से दाखिले के नाम पर प्रति विद्यार्थी 20-20 लाख रुपए ले रहे थे। इधर रैकेट की भनक लगते ही  एसटीएफ की टीम ने गिरोह के दो लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों ने अब तक पांच करोड़ रुपए की ठगी की है। पीड़ितों के अनुसार एक बार ठगी करने के बाद ये अपना मोबाइल बंद कर लिया करते थे और फिर किसी नए नंबर से दूसरे शिकार को फसाया करते थे।


*पूर्व कमिश्नर की बेटी ने की आत्महत्या..* *सुसाइड नोट में किया जिक्र..*


पीड़ित की शिकायत पर हुआ खुलासा


दरअसल, अजय कुमार जैन ने इंदौर एसटीएफ में शिकायत दर्ज कराई थी कि शंकर मनवटकर और सचिन मनवटकर नामक व्यक्तियों ने उनकी बेटी का एडमिशन किसी सरकारी कॉलेज में कराने का आश्वासन दिया है। इस कार्य के लिए 20 लाख रुपये का खर्च बताया है। जिसके बाद अजय कुमार जैन ने उसे 8 लाख रुपये नगद और 11 लाख 50 हजार रुपये अपनी पत्नी के खाते से सचिन मनवटकर को दिए और 20 हजार नगद शंकर को दिए।


*तुलसी की चटनी बढ़ाएगी इम्यूनिटी..* *स्वास्थ्य और स्वाद का बेजोड़ बंधन..*


दोनों ने बंद कर लिया फोन


पैसे मिलने के बाद दोनों ने अपने मोबाइल फोन बंद कर लिए। शिकायत के आधार एसटीएफ इंदौर ने प्रकरण दर्ज करते हुए दोनों आरोपियों की तलाश शुरू की थी। विवेचना के दौरान दोनों आरोपियों के महाराष्ट्र में होने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद एसटीएफ इंदौर ने योजनाबद्ध तरीके से दोनों आरोपियों को महाराष्ट्र से गिरफ्तार कर लिया है।


*बाइक एंबुलेंस "रक्षिता" का शुभारंभ* *नक्सल क्षेत्रों में तत्काल मिलेगी स्वास्थ्य सेवा*


एमपी के कई जिलों में कर चुके हैं ठगी


एसटीएफ एसपी मनीष खत्री के अनुसार आरोपियों से पूछताछ में 5 करोड़ रूपए की धोखाधड़ी करने की बात सामने आई है। एसटीएफ इंदौर आरोपियों से सख्ती से पूछताछ कर रही है। गिरोह का एक सदस्य सौरव पंजाब के नाभा जेल में बंद है। एसपी के अनुसार आरोपी हाई प्रोफाइल परिवार के बच्चों को विदेशों में नौकरी दिलवाने और विदेश भेजने का कार्यालय खोल कर ठगी कर रहे थे। आरोपियों ने एमपी के कई जिलों में ठगी की है। इनके पास से कुछ इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी जप्त किए गए हैं।


*प्रेमी के साथ मिलकर* *बेटी ने की पिता की हत्या* *फिर लाश की बदबू मिटाने* *डालती रही परफ्यूम..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार