OLX में बिक रहा था.. पीएम मोदी का कार्यालय.. पोस्ट करने वाले हुए गिरफ्तार... - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

OLX में बिक रहा था.. पीएम मोदी का कार्यालय.. पोस्ट करने वाले हुए गिरफ्तार...

OLX में बिक रहा था..
पीएम मोदी का कार्यालय..

पोस्ट करने वाले हुए गिरफ्तार...




जो जी मे आये बेच दो...ये OLX है..

ऑन लाइन एक्सचेंज के नाम से फ्रांस की यह मोबाइल एप (OLX)के विषय मे तो आप बखूबी जानते ही होंगे।  विश्वव्यापी यह इंटरनेट कंपनी अपने प्लेटफार्म के जरिये यूजर्स को सामान बेचने और खरीदने से संबंधित पोस्ट करने की सुविधा देती है। इस प्लेटफार्म के जरिए विश्व भर में लोग अपने सेकंड हैंड सामानों को बेचने की पोस्ट करते हैं जहां बाकी यूजर्स अपनी पसंद के अनुसार इन समानों की खरीददारी करते है। लेकिन इस बार इस मोबाइल साइट के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय कार्यालय को बेचने की ही पोस्ट डाल दी गई और बकायदा इसकी कीमत 7 करोड़ रुपये रखी गई आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला...


*एमपी में बिजली बिल का झटका..* *26 दिसंबर से लागू होंगी नई दरें..* *किसपर पड़ेगा कितना भार* *जानने के लिए जरूर पढ़ें..पूरी ख़बर..*


कहाँ का है मामला..? किसने डाली पोस्ट..??


ओ एल एक्स में प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय बेचने का कारनामा वाराणसी से सामने आया है जहां ऑनलाइन सामान खरीद बिक्री की बहुचर्चित वेबसाइट ओएलएक्स (OLX) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जवाहर नगर एक्सटेंशन स्थित संसदीय कार्यालय की बिक्री का विज्ञापन पोस्ट किया गया। यह पोस्ट सोशल मीडिया में काफी सुर्खियां बटोरने लगा लेकिन जैसे ही जिम्मेदारों को इस पोस्ट की भनक लगी आनन-फानन में पूरा महकमा हरकत में आया और आखिरकार पीएम मोदी के कार्यालय को बेचे जाने वाली भ्रामक पोस्ट करने वाले चार युवकों को भेलूपुर पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया । इसमें मुख्य आरोपी लक्ष्मीकांत ओझा भी शामिल है। चारों से पूछताछ के बाद पुलिस ने विज्ञापन पोस्ट करने में प्रयुक्त मोबाइल भी बरामद कर लिया है।


*कड़कनाथ कुक्कुट पालन..* *बनेगा फायदे का व्यवसाय..* *केंद्र ने स्वीकृत की राशि..*


पोस्ट में डाली गई थी, पीएम के संसदीय कार्यालय की विस्तृत जानकारी





वेबसाइट ओएलएक्स पर जवाहर नगर एक्सटेंशन स्थित प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय का फोटो लगाकर भवन को बेचने के लिए किया गया विज्ञापन पोस्ट बीते गुरूवार को सोशल मीडिया में सुर्खियों में रहा। विज्ञापन खरीदने वाले को भवन की कीमत  सात करोड़ रुपये बताई गई। विज्ञापन डालने वाले ने प्रोजेक्ट नेम में भी पीएम आफिस वाराणसी लिखा था। डिस्क्रीप्शन में उसने पीएमओ आफिस फॉर सेलिंग लिखा। इसमें चार बेडरूम बाथरूम के साथ, बिल्ड अप एरिया 6500 वर्ग फुट, दो मंजिल भवन में दो कार पार्किंग के साथ ही नार्थ ईस्ट फेसिंग भी बताया गया।। यह मामला तूल पकड़ते ही एसएसपी अमित पाठक एक्शन में आ गये। उनके निर्देश पर पुलिस टीम ने विज्ञापन को ओएलएक्स से डिलीट कराया  और आरोपितों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया। सर्विलांस सेल और साइबर सेल के माध्यम से इस कार्य में संलिप्त आरोपित दशमी रामलीला मैदान भेलूपुर निवासी लक्ष्मीकांत ओझा पुत्र सुरेन्द्र नाथ ओझा को रामलीला मैदान के सामने से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ के बाद घटना में प्रयुक्त मोबाइल भी बरामद हो गया। 


*तो क्या..बंद हो जाएंगे टोल प्लाजा* *जानिए क्या है..??* *केंद्र सरकार का एलान..*


इस भ्रामक पोस्ट को करने वाले पर हो सकती है बड़ी कार्यवाही..




लक्ष्मीकांत ओझा की निशानदेही पर घटना में संलिप्त तीन अन्य आरोपी मनोज यादव, बाबू लाल पटेल व जितेन्द्र कुमार वर्मा को भी गिरफ्तार कर लिया गया। भेलूपुर पुलिस इनके खिलाफ अग्रिम विधिक कार्यवाही में जुट गई है। बताते चले, ओएलएक्स पर मार्च 2020 से सक्रिय लक्ष्मीकांत ओझा ने इस विज्ञापन को पोस्ट किया था । इस विज्ञापन में प्रधानमंत्री के जनसंपर्क कार्यालय की चार तस्वीरें पोस्ट की गई हैं। इनमें से तीन तस्वीरें मौजूदा कार्यालय की हैं जबकि एक पुराने रविन्द्रपुरी कालोनी कार्यालय की है।


*जंगलों मे बेधड़क हो रहा..* *बाघों का शिकार..* *दो बाघों के शव सहित..* *एक शिकारी गिरफ्तार..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार


पेज