Breaking

बुधवार, 16 दिसंबर 2020

साहब..न्याय करो.. टीआई साहब करवा रहे.. नौकरों जैसा काम..

साहब..न्याय करो..
टीआई साहब करवा रहे..
नौकरों जैसा काम..




(गजेंद्र सेंगर-शहपुरा)

थाना प्रभारी की मनमानी से तंग आकर गांव के कोटवारों ने एकजुट होकर टीआई के खिलाफ  हल्ला बोल दिया है। आपको बता दें कि आसपास के 25 कोटवारों ने एकजुट होकर एसडीएम कार्यालय का घेराव किया और एसडीएम को वर्तमान थाना प्रभारी महोदय की संदिग्ध कार्य प्रणालियों से अवगत कराया इस दौरान कोटवारों ने एसडीएम से न्याय की गुहार लगाते हुए कहा की साहब हमारे साथ न्याय करो थाना प्रभारी महोदय हमसे नौकरों से भी बदतर काम करवा रहे हैं आइए जानते हैं कहां का है यह पूरा मामला और आखिर ऐसा क्या हुआ कि कोटवारों ने क्षेत्र के थाना प्रभारी के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया।


*गन्ना किसानों को मिला..* *मोदी सरकार का तोहफा..* *गन्ने की खेती बनेगी* *फायदे का सौदा..*


कहां का है मामला क्या है पूरी कहानी..??




पूरा मामला मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले से है जहां शाहपुरा तहसील के अंतर्गत आने वाले थाना - बेलखेड़ा में पदस्त थाना प्रभारी सुरजीत श्रीवास्तव पर गांव के कोटवारों ने एकजुट होकर काफी गंभीर आरोप लगाए हैं कोटवारों का कहना है कि थाना प्रभारी महोदय अपने तानाशाही फरमानों के जरिए कोटवारों को बेवजह परेशान कर रहे हैं इसके साथ ही थाना प्रभारी महोदय द्वारा कोटवारों से निजी एवं घर की साफ सफाई जैसे निम्न स्तर के कार्य भी करवाए जा रहे हैं इतना ही नहीं यदि कोई कोटवार थाना प्रभारी की इस ज्यादती के खिलाफ आवाज उठाने का प्रयास करता है तो उसे जबरन फंसवा देने और कोटवारी का काम छीन लेने तक की धमकी दी जाती है। लेकिन जब थाना प्रभारी की मनमानी हद से ज्यादा बढ़ने लगी तो सभी कोटवारों ने एकजुट होकर थाना प्रभारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।


*विजय दिवस पर जली..* *स्वर्णिम विजय मशाल..* *पूरा देश याद करेगा..1971 की दास्तान*


कोटवारों ने दी एसडीएम को थाना प्रभारी के खिलाफ लिखित शिकायत...




थाना प्रभारी बेलखेड़ा की मनमानी से तंग आकर क्षेत्र के सभी 25 कोटवारों ने एकजुट होते हुए । शहपुरा भिटौनी के अनुविभागीय अधिकारी को थाना प्रभारी के खिलाफ एक शिकायत पत्र सौंपा है साथ ही मांग की है कि वह कोटवारों की समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी महोदय के खिलाफ सख्त कार्यवाही करें। यदि जल्द ही थाना प्रभारी की मनमानी पर लगाम न लगाई गई तो वह थाना प्रभारी के खिलाफ उग्र आंदोलन करेंगे और यदि जरूरत पड़ी तो थाना प्रभारी के खिलाफ धरने पर भी बैठेंगे।


*Twiter पर लगा..* *4 करोड़ का जुर्माना..* *जानिए क्या है मामला..*


कोटवारों ने लगाए थाना प्रभारी पर गंभीर आरोप




शिकायत के दौरान कोटवारों ने अपनी व्यथा सुनाते हुए एसडीएम को बताया कि थाना प्रभारी महोदय जानबूझकर अपने निवास स्थान पर इन कोटवारों से निजी काम करवाते हैं थाना प्रभारी द्वारा घर का काम जैसे झाड़ू पोछा बर्तन साफ करवाना एवं कपड़े धुल वाने तक का कार्य कोटवारों से कराया जा रहा है। कोटवारों ने बताया कि वह एक लंबे समय से कोटवारी का काम कर रहे हैं इस दौरान थाने में कई प्रभारी आए और गए लेकिन वर्तमान के थाना प्रभारी को अपनी वर्दी का कुछ ज्यादा ही रॉब है यही कारण है कि वह गरीब कोटवारों को डरा धमका कर अपनी मनमानी कर रहे हैं।


*सरकारी जमीन में* *सरपंच का ढाबा..* *फिर पीले पंजे ने* *कर दिया न्याय*


कोटवार ने बात नहीं मानी तो टीआई ने थमा दिया नोटिस




कोटवारों ने जानकारी देते हुए बताया कि बेलखेड़ा थाना प्रभारी की सेवा में उपस्थित नहीं होने के कारण मदनपुर गांव के कोटवार भगवान दास को जबरन एक नोटिस थमा दिया गया है। जबकि उसकी गलती सिर्फ यह थी कि उसने थाना प्रभारी के घर का काम करने से मना कर दिया था।

भगवान दास को नोटिस कमाने के बाद थाना प्रभारी द्वारा सभी ग्राम कोटवारों को धमकी भी दी गई है कि  यदि उन्होंने  थाना प्रभारी की बात नहीं मानी  और  उनकी सेवा में उपस्थित नहीं हुए  तो  उन सब को भी  कोटवारी से अलग करवा दिया जाएगा ।


*जंगलों में सक्रिय है शिकारी..* *लेकिन वन विभाग की नहीं टूट रही नींद* *झाड़ियों में छिपाकर रखा बम खाने से* *मवेशी का जबड़ा फटा...*


मीडिया के कैमरे में कैद हुई कोटवारों की व्यथा...


थाना प्रभारी की तानाशाही से तंग आ चुके कोटवारों ने मीडिया के कैमरे के सामने ही थाना प्रभारी की मनमानी उजागर की। पत्रकारों से बातचीत के दौरान कोटवारों ने बताया कि बेलखेड़ा थाना प्रभारी की तानाशाही इतनी बढ़ चुकी है कि अब पानी सर के ऊपर जा चुका है यही कारण है कि उन्होंने एकजुट होकर थाना प्रभारी के खिलाफ कार्यवाही किए जाने का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि फिलहाल हमने एसडीएम महोदय से थाना प्रभारी की शिकायत की है लेकिन जो अटपड़ी तो हम अन्य बड़े अधिकारियों तक इस बात की शिकायत करेंगे कोटवारों ने कहा कि यदि थाना प्रभारी के खिलाफ कार्यवाही नहीं की जाती तो वह एक साथ धरने पर बैठ जाएंगे। जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।


*ब्लाइंड बुक पब्लिकेशन का* *ब्लाइंड गेम* *युवाओं से की दो करोड़ की ठगी* *पढ़िए शहर में हुई 2 करोड़ की धोखाधड़ी की पूरी कहानी..विस्तार से*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार