अधिकारियों से बचे.. तब तो गरीबों को मिले.. पीएम आवास योजना में घोटाला - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

अधिकारियों से बचे.. तब तो गरीबों को मिले.. पीएम आवास योजना में घोटाला

अधिकारियों से बचे.. 
तब तो गरीबों को मिले..
पीएम आवास योजना में घोटाला




देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर कमजोर आय वर्ग वालों को शहरी या ग्रामीण इलाकों में पक्का घर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभारंभ किया था गौरतलब हो कि इस योजना के तहत घर खरीदने के लिए होम लोन पर ब्याज सब्सिडी प्रदान की जाती है केंद्र सरकार ने पीएम आवास योजना के तहत क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम को 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दिया सभी का उद्देश्य गरीब तबके के लोगों को उनके खुद के घर का सपना पूरा कराना था लेकिन यह योजना भी भ्रष्ट अधिकारियों की हवस का शिकार हो गई आलम तो यह है कि अधिकारियों से लेकर बड़े-बड़े रसूखदार और ऑफिस के बाबू तक प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ ले रहे हैं लेकिन जिस गरीब जनता के लिए यह योजना शुरू की गई थी आज भी वह सिर्फ कागजों की खानापूर्ति में जुटा हुआ है।


*यहां बिना मास्क घूमने वालों को* *मिली अनोखी सजा..* *खुली जेल में लिखवा रहे* *कोविड पर निबंध*


किस शहर में हुआ पीएम आवास योजना को लेकर बड़ा घोटाला


गरीब जनता के घरों का सपना चूर चूर करने का यह मामला मध्य प्रदेश के पन्ना जिले से सामने आया है जहां पवई नगर में अधिकारियों और बाबुओं की मिलीभगत के चलते प्रधानमंत्री आवास योजना में बड़ा फर्जीवाड़ा किया गया है इस मामले के सामने आते ही अधिकारियों की रातों की नींद उड़ चुकी है वहीं इस पूरे मामले में पवई थाना पुलिस ने नगर परिषद अध्यक्ष सीएमओ उपयंत्री समेत 7 आरोपितों के खिलाफ एफ आई आर भी दर्ज की है


*दिलजीत ने किसानों का* *दिल जीत लिया* *आंदोलन में शामिल किसानों के लिए दान में दिए एक करोड़ रुपए*


पात्र हितग्राहियों की सूची में फेरबदल कर किया फर्जीवाड़ा


वैसे तो यह पूरा फर्जीवाड़ा काफी गोपनीय तरीके से किया जा रहा था लेकिन कहते हैं ना कि झूठ के पैर नहीं होते यहां भी ठीक वैसा ही हुआ और आखिरकार इस पूरे फर्जीवाड़े का खुलासा हो गया पवई थाना क्षेत्र के नगर निरीक्षक सुदामा प्रसाद शुक्ला ने इस पूरे फर्जीवाड़े की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि नगर परिषद पवई में प्रधानमंत्री आवास योजना के पात्र हितग्राहियों की स्वीकृत सूची में फेरबदल करते हुए अपने चहेतों के नाम जोड़ दिए गए और फिर उनके बैंक खातों से राशि जारी कर फर्जी तरीके से निकाली गई


*शरीर मे जंजीरे और ताला लटका कर..* *आम आदमी पार्टी का विरोध प्रदर्शन..* *कृषि बिल वापस लिए जाने की मांग हुई बुलंद*


यहां जानिए कौन-कौन आया पुलिस की रडार में


लंबे समय से प्रधानमंत्री आवास योजना की राह देख रहे हितग्राहियों को जब सिर्फ आश्वासन मिलता रहा तो 1 दिन उनका गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने पात्र हितग्राहियों की स्वीकृत सूची का निरीक्षण किया जिसमें पाया गया कि जिन लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उनके खाते में पैसे डाले गए हैं वह किसी भी स्थिति में प्रधानमंत्री आवास योजना की पात्रता नहीं रखते धीरे-धीरे मामले ने तूल पकड़ा और एक के बाद एक फर्जीवाड़े की पोल खुलती गई इस पूरे मामले में पवई नगर परिषद अध्यक्ष किरण बागरी अध्यक्ष पति बृजलाल बागरी तत्कालीन सीएमओ विजय रैकवार उपयंत्री विक्रम बागरी और उनके साथ अन्य लोगों के विरुद्ध जालसाजी और गमन किए जाने के चलते भ्रष्टाचार की धाराओं के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है फिलहाल इस पूरे मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।


*ट्रेन के टॉयलेट से गांजे की तस्करी..* *छत के स्क्रू खोलकर छुपाते थे गांजा..* *पढ़िए गांजा तस्करी के इस देसी जुगाड़ की पूरी कहानी*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार






पेज