शरीर मे जंजीरे और ताला लटका कर.. आम आदमी पार्टी का विरोध प्रदर्शन.. - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

शरीर मे जंजीरे और ताला लटका कर.. आम आदमी पार्टी का विरोध प्रदर्शन..

शरीर मे जंजीरे और ताला लटका कर..
आम आदमी पार्टी का विरोध प्रदर्शन..



दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन की आग धीरे धीरे पूरे देश को अपने कब्जे में लेती जा रही है। गौरतलब हो कि देश की राजधानी में चल रहे किसान आंदोलन को  तत्कालीन दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार का पूरा समर्थन है। यही कारण है कि देश भर में आम आदमी पार्टी से जुड़े पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने अपने अपने ढंग से विरोध प्रदर्शन करते हुए

 केंद्र सरकार से मांग की हैं की ताजा कृषि बिल को वापस लिया जाए और किसानों की वाजिब मांगों को लेकर नया कानून बनाया जाए.... 


*ट्रेन के टॉयलेट से गांजे की तस्करी..* *छत के स्क्रू खोलकर छुपाते थे गांजा..* *पढ़िए गांजा तस्करी के इस देसी जुगाड़ की पूरी कहानी*


संस्कारधानी में अनूठे प्रदर्शन के साथ किसान बिल का विरोध..




मध्यप्रदेश के संस्कारधानी कहे जाने वाले जबलपुर जिले  में शनिवार को आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने शरीर में जंजीर बांधकर और चेहरे पर ताला लटका कर मालवीय चौक पर प्रदर्शन किया। आप पार्टी के कार्यकर्ताओं ने इस दौरान केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और कृषि बिल को वापस लेने की मांग की। कार्यकर्ताओं का कहना है कि सरकार किसानों को जंजीरों में बांधना चाहती है इसलिए इस तरह का सांकेतिक प्रदर्शन कर रहे हैं।


*किसान आंदोलन का असर* *राजधानी में ठप्प हुआ कारोबार* *300 करोड़ के नुकसान की संभावना*


प्रदेश महामंत्री ने प्रधानमंत्री के नाम सौपा एसडीएम को ज्ञापन




आम आदमी पार्टी के इस प्रदर्शन की चर्चा पूरे प्रदेश में हो रही है। अपने एक अनूठे ढंग से किये गए इस सांकेतिक प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओ ने नारेबाजी करते हुए अपनी मांगों को जाहिर किया। किसान विदेयक बिल को किसान विरोधी बताते हुए आम आदमी पार्टी के  प्रदेश महामंत्री मुकेश जायसवाल ने अपनी मांगों का एक लिखित ज्ञापन प्रधानमंत्री के नाम प्रेषित करते हुए एसडीम को सौंपा है। साथ ही चेतावनी दी है कि केंद्र सरकार जल्द कृषि बिल वापस नहीं  लेती है तो पूरे प्रदेश में तीव्र आंदोलन किया जाएगा... 


*कड़कड़ाती ठंड में परेशान हो रहा किसान* *विद्युत विभाग खेल रहा आंखमिचौली* *अब..कैसे होगी सिंचाई..??*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम
चीफ एडिटर
विकास सोनी
लेखक विचारक पत्रकार





 

पेज