गन्ना किसानों को मिला.. मोदी सरकार का तोहफा.. गन्ने की खेती, बनेगी फायदे का सौदा.. - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

गन्ना किसानों को मिला.. मोदी सरकार का तोहफा.. गन्ने की खेती, बनेगी फायदे का सौदा..

गन्ना किसानों को मिला..
मोदी सरकार का तोहफा..
गन्ने की खेती, बनेगी फायदे का सौदा..



(डेस्क-नई दिल्ली)


कृषि कानून को लेकर जहां देशभर के किसान सरकार के विरोध में अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर सरकार अपना दायित्व निभाते हुए देश के किसानों को एक के बाद एक लाभकारी तोहफे देती जा रही है। या फिर यूं कहें कि कृषि कानून के मसले पर जारी किसानों के अंदोलन के बीच मोदी सरकार  लगातार कृषि कानूनों के मसले पर किसानों को मनाने में जुटी है।

किसानों के आंदोलन के बीच मोदी कैबिनेट में बड़ा फैसला लेते हुए किसानों तक एक बड़ी राहत पहुंचाई है। सरकार ने 60 लाख टन चीनी निर्यात करने का फैसला लिया है, इससे होने वाली कमाई, इसकी सब्सिडी को सीधे 5 करोड़ किसानों के खाते में डाला जाएगा। कैबिनेट बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर फैसलों की जानकारी दी।


*विजय दिवस पर जली..* *स्वर्णिम विजय मशाल..* *पूरा देश याद करेगा..1971 की दास्तान*


केंद्रीय मंत्री ने पत्रकार वार्ता कर जारी की जानकारी




केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इस साल सरकार ने 60 लाख टन चीनी निर्यात पर सब्सिडी देने का निर्णय किया है। किसानों के खाते में सीधे सब्सिडी जाएगी, इसमें 3500 करोड़ खर्च होंगे। इसके अलावा 18000 करोड़ रुपये की आय भी किसानों को दी जाएगी। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इससे 5 करोड़ किसानों को फायदा होगा, 5 लाख मजदूरों को फायदा होगा। मंत्री के मुताबिक, एक हफ्ते के भीतर ही 5000 करोड़ रुपये तक की सब्सिडी किसानों को मिलेगी। 60 लाख टन चीनी को 6 हजार रुपये प्रति टन के हिसाब से निर्यात किया जाएगा।


*Twiter पर लगा..* *4 करोड़ का जुर्माना..* *जानिए क्या है मामला..*


प्रकाश जावड़ेकर के मुताबिक, इस साल शक्कर का उत्पादन 310 लाख टन होगा, देश की खपत 260 लाख टन है। शक्कर का दाम कम होने की वजह से किसान और उद्योग संकट में है, इसको मात देने के लिए 60 लाख टन चीनी निर्यात करने और निर्यात को सब्सिडी देने का फैसला किया गया है। प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि पूर्वोत्तर में बिजली व्यवस्था को सुधारने के लिए नए बजट को मंजूरी दी गई है। पहले इसपर 5 हजार करोड़ रुपये खर्च होना था, लेकिन अब 6700 करोड़ का खर्च होगा। प्रकाश जावड़ेकर के मुताबिक, इसके जरिए ट्रांसमिशन लाइन को बढ़ाया जाएगा, 24 घंटे बिजली के लक्ष्य को पूरा किया जाएगा।


केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि सरकार की ओर से स्पेक्ट्रम की नीलामी करने का फैसला किया गया है, इससे पहले 2016 में ऐसी नीलामी हुई थी। इसके अलावा सरकार ने टेलिकॉम क्षेत्र के लिए राष्ट्रीय समिति बनाने का निर्णय लिया है।


*ब्लाइंड बुक पब्लिकेशन का* *ब्लाइंड गेम* *युवाओं से की दो करोड़ की ठगी* *पढ़िए शहर में हुई 2 करोड़ की धोखाधड़ी की पूरी कहानी..विस्तार से*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..



ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार



पेज