Breaking

. विकास की कलम देश में सबसे तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है... जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रामाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने समर्पित पाठक वर्ग तक पहुंचाती है... इसकी प्रतिबद्ध ऑनलाइन संपादकीय टीम हर रोज विशेष और विस्तृत कंटेंट देती है... हमारी यह साइट 24 घंटे अपडेट होती है, जिससे हर बड़ी घटना तत्काल पाठकों तक पहुंच सके... आप भी अपने क्षेत्र से जुडी घटनाये समस्याएँ एवं समाचार हमारे Whatsapp 8770171655 पर भेज सकते है...

शुक्रवार, 20 नवंबर 2020

प्यारे मियां के आशियाने पर चला बुलडोजर घर मे मिली-आपत्तिजनक-सामग्री

प्यारे मियां के आशियाने पर चला बुलडोजर

घर मे मिली-आपत्तिजनक-सामग्री



(इंदौर-डेस्क) 


बच्चियों को कभी बहाल-फुसलाकर तो कभी दबाब बनाकर उनके साथ दुष्कर्म करने के लिए आरोपित प्यारे मियां के लालाराम नगर स्थित सर्वसुविधायुक्त बंगले में में पहुंची पुलिस और निगम की टीम ने कार्यवाही करते हुए भवन को जमीदोज कर दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार जोन क्रमांक 11 में 29 लालाराम नगर में प्यारे मियां का 30 बाय 50 के मकान में सेकंड फ्लोर पर अवैध रूप से बनाया गया 1000 स्क्वायर फीट का हॉल, कमरा, प्रथम फ्लोर पर 200 फीट की अवैध बालकनी, गैलरी, ग्राउंड फ्लोर पर अवैध रूप से शटर लगाकर बनाया गया चेंबर 200 स्क्वायर फीट को तोड़ा गया। यहां कई शराब की बोतलें भी मिली। इसी मकान में प्यारे मियां ने नाबालिगों के साथ दुष्कर्म किया था।


*फिर गरमाया* *TRP SCAME का मामला* *E.D ने दर्ज की मनी लॉन्ड्रिंग की शिकायत*


कार्यवाही के दौरान घर में मिली आपत्तिजनक सामग्री


प्यारे मियां के सर्व सुविधा युक्त  इस आशियाने में  जब निगम के कर्मचारी  सामान हटाने के लिए कमरों में दाखिल हुए, तो वहां के ऐशो आराम का नजारा देखकर भौचक्के रह गये। बताया जा रहा है कि यहां पर बार में एक से बढ़कर एक मंहगी विदेशी शराब सजी हुई थीं। इसके अलावा आलमारी से आपत्तिजनक वस्तुएं भी मिलीं। टीम जब बंगले की छत पर पहुंची तो यहां पर लग्जरी पेंट हाउस बना था, जहां पर ऐशो आराम की सभी वस्तुएं मौजूद थीं। पुलिस ने सभी वस्तुओं को बाहर निकालकर घर को जेसीबी और पोकलेन की मदद से अवैध निर्माण को ध्वस्त करवा दिया।

नगर निगम उपायुक्त लता अग्रवाल ने बताया कि प्यारे मियां के लालाराम नगर स्थित आलीशान मकान को तोड़ा गया है। इस तीन मंजिला मकान की छत पर प्यारे ने पेंट हाउस बना रखा था, जिसमें आलीशान बीयर बार था। महंगी विदेशी शराब की कई बोतलों के साथ ही आपत्तिजनक सामग्री, शक्तिवर्धक दवाएं और सांभर के सींग भी यहां से मिले हैं।


*कोरोना को लेकर सख्त हुए शिवराज* *इन 5 जिलों में लागू होगा रात्रिकालीन कर्फ्यू*


नक्शे के विपरीत बना था मकान इसलिए किया गई कार्यवाही




निगम के जोनल अधिकारी नागेंद्र सिंह भदौरिया ने बताया कि प्यारे का मकान नक्शे के विपरीत बना हुआ था। यहां से एक तलवार भी मिली है। पुलिस को पता चला था कि पलासिया के लालाराम नगर स्थित अपने बंगले पर प्यारे मियां कई नाबालिग लड़कियों को भोपाल से लेकर आ चुका है। नाबालिग लड़कियों को बंगले पर लाने के बाद उन पर दबाव बनाकर उनसे दुष्कर्म करते थे। बालिकाओं के बयानों के बाद भोपाल पुलिस ने इंदौर पुलिस को प्यारे मियां के खिलाफ तीन नए प्रकरण दर्ज करवाने के लिए जांच डायरी इंदौर भेजी थी। इतना ही नहीं पुलिस भोपाल से पीड़ित लड़कियों को इस बंगले में लेकर पहुंची थी।


*जनसंपर्क सहायक संचालक पर चला* *राज्य सूचना आयोग का चाबुक* *RTI को हल्के में लेना पड़ा भारी...*


आखिर कौन है प्यारे मियां और क्या है उन से जोड़ा सेक्स स्कैंडल


68 वर्षीय वरिष्ठ पत्रकार प्यारे मियां उर्फ अब्बा  का नाम मध्य प्रदेश के टॉप आरोपियों में शुमार हो चुका है इन पर बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने जैसे संगीन आरोप हैं बताया जा रहा है कि मासूम बच्चियों को बहला-फुसलाकर उन्हें जॉब देने के बहाने उनके साथ दुष्कर्म किया जाता था और फिर उनकी अश्लील वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल भी किया जाता था बहरहाल इस पूरे मामले की जांच जारी है


आपको बता दें कि यौन शोषण कांड का खुलासा जुलाई के दौरान भोपाल में हुआ था, जब रातीबड़ इलाके में पुलिस को चार नाबालिग लड़कियां एक महिला के साथ नशे की हालत में घूमती मिली थीं. नाबालिग लड़कियों की आपबीती सुनने के बाद भोपाल के एक अखबार के मालिक प्यारे मियां और उसके पांच सहयोगियों के खिलाफ प्रदेश की राजधानी और इंदौर में एफआईआर दर्ज की गई थीं. ये मामले लैंगिक अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम (पॉक्सो एक्ट) के साथ ही आईपीसी की धारा 376 (दुष्कर्म) और अन्य संबद्ध प्रावधानों के तहत दर्ज किए गए थे.  प्‍यारे मियां अपना भांडा फूटने के बाद फरार हो गया था, जिसके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी हुआ था. एमपी पुलिस ने 15 जुलाई को कश्‍मीर की राजधानी श्रीनगर से स्‍थानीय पुलिस की मदद से अरेस्‍ट किया था।


*बिना मास्क पहने सड़कों में घूमने फिरने वाले* *हो जाएं सावधान* *क्योंकि अब आ चुका है* *कलेक्टर साहब का फरमान* *बिना मास्क वालों को 10 घंटे की जेल*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें