प्रदेश भर में सुर्खियां बटोर रहा जबलपुर का वृद्धजन_सुरक्षा_अभियान - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

प्रदेश भर में सुर्खियां बटोर रहा जबलपुर का वृद्धजन_सुरक्षा_अभियान

प्रदेश भर में सुर्खियां बटोर रहा

जबलपुर का वृद्धजन_सुरक्षा_अभियान


Jabalpur's-Elderly-Security-Campaign


कहते है कि विपत काल मे सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है.. कमजोर कड़ी को सहेजना । क्योंकि यही वह कड़ी होती है।जो निर्धारण करती है कि विपत्ति का परिणाम कैसा होगा। ऐसे काल में मुखिया को चाहिए कि, वह इन कमजोर कड़ियों को ना केवल सुरक्षित रखें बल्कि इन्हें मजबूत बनाने का भी प्रयास करे। वर्तमान में कोरोनावायरस का संक्रमण भी ऐसी ही विपत्ति काल को दर्शा रहा है। जिसमें सबसे कमजोर कड़ी बच्चे और बुजुर्ग है। चिकित्सा विज्ञान की माने तो कुछ हद तक बच्चों का इम्यून सिस्टम काफी मजबूत होता है लेकिन इसी के विपरीत बुजुर्गों में यह रोग प्रतिरोधक क्षमता उम्र के पड़ाव के साथ-साथ काफी कम होती जाती है। यही कारण है कि कोरोनावायरस के संक्रमण के दौरान बुजुर्गों का ध्यान रखना बेहद जरूरी हो चला है। अपनी इसी दूरगामी सोच को सफलतम आदेश का रूप देते हुए जबलपुर के मुखिया कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने वृद्धजन सुरक्षा  अभियान का शुभारंभ किया है। जो ना केवल काफी कारगर सिद्ध हो रहा है। बल्कि पूरे प्रदेश भर में वाहवाही भी बटोर रहा है। इस अभियान के तहत 55 वर्ष से अधिक उम्र के 31 हजार से अधिक व्यक्तियों को चिन्हित कर उनकी काउंसलिंग करते हुए उन्हें उपचार देने की योजना बनाई गई है। गौरतलब हो कि जबलपुर जिले में चलाया जा रहा यह अभियान प्रदेश में अपनी तरह का एक अनूठा अभियान है । हो सकता है आने वाले समय में अन्य जिले भी जबलपुर से प्रेरणा लेकर इस अभियान का हिस्सा बने


खबरों में आगे है..*CM Shivraj करेंगे..* *टाइगर रिजर्व में* *"बफर का सफर" की शुरुआत*


ठंड के दौरान वृद्धजनों का शरीर होता है काफी कमजोर...


ठंड का मौसम कोरोना संक्रमण के लिहाज से काफी अनुकूल बताया जा रहा है। ऐसे में कोरोना संक्रमण के संभावित खतरे से बुजुर्गो की सुरक्षा के लिये जिले भर में वृद्ध जन सुरक्षा अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें  अभी तक पचपन वर्ष से अधिक की आयु के ऐसे 75 हजार 642  से अधिक व्यक्तियों को चिन्हित किया जा चुका है। जो विभिन्न गम्भीर बीमारियों से पीड़ित हैं और पिछले एक वर्ष के दौरान शासकीय या निजी अस्पतालों में उपचार के लिये जा चुके हैं । 


*कांग्रेसी नेता के अवैध कार्यालय पर..* *दौड़ी निगम की जेसीबी..* *गज्जू सोनकर पर कसता जा रहा..* *प्रशासन का शिकंजा...*


बुजुर्गों से संपर्क कर की जा रही सतत मॉनिटरिंग


Jabalpur's-Elderly-Security-Campaign


जबलपुर के कलेक्टर आईएएस कर्मवीर शर्मा के प्रयासों से शुरू किए गए इस अभियान के तहत चिन्हित किए गए 75642 बुजुर्गों और 55 वर्ष से अधिक उम्र के कोमोरबिडिटी वाले व्यक्तियों का डेटा डिस्ट्रिक्ट कोरोना कन्ट्रोल एण्ड कमांड सेंटर में विधिवत दर्ज किया गया है। इस विशेष अभियान के तहत प्रमुखता के साथ कोरोना कन्ट्रोल एण्ड कमांड सेंटर स्थित टेलीमेडिसिन सेंटर को  बुजुर्गों से फोन पर संपर्क करने का काम सौंपा गया है । और उनसे संपर्क साध कर उनके स्वास्थ्य की सतत मॉनिटरिंग भी जा रही है । इस अभियान के तहत एक और जहां बुजुर्गों से बातचीत के दौरान उन्हें कोरोना से बचाव के उपायों की जानकारी दी जा रही है। वहीं दूसरी ओर उनके स्वास्थ्य खराब होने पर उन्हें उपचार हेतु अस्पतालों में भर्ती भी कराया जा रहा है । वृद्धजन सुरक्षा अभियान के तहत प्रतिदिन डेढ़ से दो हजार बुजुर्गों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली जा रही है । 


गौ केबिनेट की बैठक से जुड़े सारे अपडेट्स के लिए जरूर पढ़ें ..ये ख़बर


स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ द्वारा घर-घर वृद्धजन सुरक्षा अभियान का पंपलेट बांटकर किया जा रहा जागरूक


Jabalpur's-Elderly-Security-Campaign


वृद्धजन सुरक्षा अभियान में बुजुर्गों के स्वास्थ्य परीक्षण के साथ-साथ कोरोना से सुरक्षा के उपायों के प्रचार-प्रसार पर भी जोर दिया जा रहा है । अभियान के तहत बुजुर्गों एवं कोमारबीडीटी वाले मरीजों के घर स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अमले द्वारा कोरोना के बचाव एवं रोकथाम के उपायों वाले पर्चे का वितरण किया जा रहा है । साथ ही मौखिक रूप से घर-घर जाकर स्वास्थ्य विभाग का अमला परिवार के सदस्यों को कोरोना संक्रमण से बचाव की विस्तृत जानकारी भी प्रदान कर रहा है। वही सरकारी और निजी अस्पतालों के ओपीडी काउंटर से भी मरीजों और उनके परिजनों को पम्पलेट बांटे जा रहे है ।


*क्या वाकई चाइना ने बना ली..* *कोरोना की सुपर वैक्सीन..??* *लाखों में आजमाया..* *नहीं हुआ साइड इफ़ेक्ट..*


ऑक्सीजन बेडों की बढ़ाई गई संख्या, इलाज में कोताही नहीं की जाएगी बर्दाश्त- कर्मवीर शर्मा




कोविड-19 को लेकर के जबलपुर के कलेक्टर कर्मवीर शर्मा काफी सचेत है और वे मरीजों के उपचार को लेकर किसी भी प्रकार की कोई भी कोताही बर्दाश्त नहीं कर रहे है। स्वास्थ्य विभाग के अमले के साथ खुद ही हर एक व्यवस्था का जायजा लेने वाले आईएएस कर्मवीर शर्मा ने अपनी दूरगामी सोच के चलते शहर में कोरोना को समेट कर रख दिया। साथ ही स्वास्थ्य अमले के साथ मिलकर चाक-चौबंद व्यवस्था के जरिए हर अप्रिय घटना से निपटने के लिए शहर को तैयार करा दिया गया है। इस रणनीति के तहत जिला प्रशासन द्वारा कोविड- केयर सेंटर ज्ञानोदय एवं सेठ गोविंद दास जिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन बेडों की संख्या बढ़ाई गई है। 

वर्तमान के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो शहर के अंदर शुरुआती दौर पर कुल कोविड केयर की बेड की संख्या 568 थी, उसे बढ़ाकर वर्तमान में 2085 कोविड केयर बेड की व्यवस्था की गई है।

वही ऑक्सीजन बेड जिन की उपलब्धता मात्र 325 थी। इसे बढ़ाकर 1184 ऑक्सीजन बेड व्यवस्थित किए जा चुके हैं।

फुल आईसीयू/ एच डी यू बेड की संख्या में भी इजाफा करते हुए वर्तमान में 875 नए बेड की व्यवस्था की गई है।


*अगर जेल नहीं है जाना..* *तो मास्क जरूर लगाना..* *मास्क ना लगाने पर 1216 को हुई जेल*


भरे त्यौहार में भी लोगों के घर-घर पहुंच रहे स्वास्थ्य कार्यकर्ता..


कोरोनावायरस संक्रमण को हराने और जबलपुर को जिताने के उद्देश्य से शहर में चलाए जा रहे मिशन मास्क के तहत स्वास्थ्य कार्यकर्ता कोरोना वारियर्स समाजसेवी संगठनों की टीम एवं अन्य कार्यकर्ताओं द्वारा एकजुट होकर कार्य किया जा रहा है। जिसमें शहर के हर घर में पहुंच कर कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी जानकारियां दी जा रही है। इसके साथ ही घर के परिवार के सदस्यों को पर्याप्त दूरी बनाए रखने और मास्क का इस्तेमाल करने की हिदायत भी दी जा रही है। इस अभियान की सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही कि भरे त्योहारों के दौरान भी अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए स्वास्थ्य विभाग के अमले ने दीपावली जैसे पर्व पर भी देर रात तक घर-घर संपर्क किया   और लोगों को जागरूक किया। इस अभियान के तहत अब तक 2.3 लाख घरों में संपर्क किया जा चुका है।


*फिर गरमाया* *TRP SCAME का मामला* *E.D ने दर्ज की मनी लॉन्ड्रिंग की शिकायत*


कोरोना को हराने में कारगर होगा "मिशन-मास्क" 


Jabalpur's-Elderly-Security-Campaign


जबलपुर जिले में चलाए जा रहे  'मिशन मास्क" - जबलपुर जीतेगा, कोरोना हारेगा... अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग के मैदानी स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, महिला बाल विकास विभाग की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका व स्वयंसेवी सामाजिक संगठन के सदस्यों का संयुक्त दल शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में घर-घर जाकर नागरिकों से मास्क लगाने का आग्रह कर रहा है। इस दौरान स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा  मास्क वितरण करना एवं मास्क लगाकर ही संवाद करना जैसी प्राथमिकताएं शामिल की गई है । स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर हाथों को साफ रखना , चेहरे पर मास्क लगाना ,पर्याप्त दूरी बनाए रखना और कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधित जानकारियों का  प्रचार प्रसार किया जा रहा है। इसके साथ ही कोविड-19 संक्रमण के लक्षण जैसे स्वाद का जाना ,सर्दी- खासी, बुखार होने पर निकट के फीवर क्लिनिक में कोविड जांच करवाने एवं किसी भी परिस्थिति में  जानकारी के लिए कोविड कमांड सेंटर के 24 घंटे कार्यरत दूरभाष 0761-26 37500 , 2637505 या फिर टोल फ्री नंबर 1075 से तत्काल संपर्क करने की जानकारियां भी आम आदमी को दी जा रही है।


*कोरोना को लेकर सख्त हुए शिवराज* *इन 5 जिलों में लागू होगा रात्रिकालीन कर्फ्यू*


राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक से विकास की कलम की मुलाकात...


Jabalpur's-Elderly-Security-Campaign


शहर में हो रहे इन अभिनव प्रयासों को लेकर विकास की कलम ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक (DPM) विजय पांडेय से मुलाकात की...हमसे चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि कलेक्टर जबलपुर एवं सी.एम.एच. ओ. महोदय डॉ रत्नेश कुरारिया के निर्देशानुसार अक्टूबर माह में मिशन मास्क आयोजित किया गया। जिसमें कोविड के जोखिम की और कोविड सैंपलिंग फीवर क्लीनिक में निशुल्क उपचार की जानकारी घर घर स्वास्थ्य कार्यकर्ताओ एवं सामाजिक संगठनों के माध्यम से संयुक्त दल गठित कर दी गई है।


*जनसंपर्क सहायक संचालक पर चला* *राज्य सूचना आयोग का चाबुक* *RTI को हल्के में लेना पड़ा भारी...*


DPM ने दी वृद्धजन सुरक्षा अभियान की जानकारी...


Jabalpur's-Elderly-Security-Campaign


वर्तमान में कलेक्टर महोदय के निर्देशानुसार जबलपुर में वृद्धजन सुरक्षा अभियान संचालित किया जा रहा है। क्योकि एनालिसिस करने पर पाया गया कि वृद्धजन जल्द संक्रमित होते है, उनको ही ऑक्सीजन और वेंटिलेटर लगाया जाता है अंततः उनकी मृत्यु होती है। जबलपुर में यह स्थित न बने इसलिए वृद्धजन का विशेष ध्यान रखने का आग्रह संस्कारधानी के नागरिकों से कलेक्टर महोदय बार बार कर रहे है। अभियान अंतर्गत आज दिनांक तक 75000 से अधिक 50 से अधिक आयु के लोगो से जीवंत संपर्क कोविड कमांड सेंटर में उपस्थित चिकित्सकों द्वारा कर लिया गया है। आवश्यकतानुसार उनके उपचार की व्यवस्था भी की जा रही है।


*बिना मास्क पहने सड़कों में घूमने फिरने वाले* *हो जाएं सावधान* *क्योंकि अब आ चुका है* *कलेक्टर साहब का फरमान*


कलेक्टर के संजीवनी मंत्र से शहर में जगी नई चेतना...


Jabalpur's-Elderly-Security-Campaign


जबलपुर के प्रत्येक नागरिक को कलेक्टर महोदय ने जबलपुर जीतेगा - कोरोना हारेगा का संजीवनी मंत्र दिया है। जिसके बाद हमारे स्वास्थ्य दल को जबलपुर के नागरिकों से पर्याप्त सहयोग मिल रहा है। इसके लिए जबलपुर की जनता का स्वास्थ्य विभाग आभारी है। सभी से पुनः आग्रह है कि अपने घरों में वृद्धजन का विशेष ध्यान रखे आवश्यकता होने पर जबलपुर कंट्रोल रूम के टोल फ्री नंबर 1075 पर कॉल करे। बाहर निकलते समय मास्क धारण करे।


*सेना की वर्दी पहन बन गया मेजर* *और कि करोड़ों की ठगी* *जानिए कौन है यह..??* *9वीं पास नटवर लाल..*



नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार







 

पेज