दिलवालों की दिल्ली में... बिना पटाखों वाली दिवाली... - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

दिलवालों की दिल्ली में... बिना पटाखों वाली दिवाली...

दिलवालों की दिल्ली में... 

बिना पटाखों वाली दिवाली...





देश की राजधानी दिल्ली में इस बार दिवाली बिना पटाखों के ही मनाई जाएगी सुनने में थोड़ा अजीब लगता है लेकिन यह सच है बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण और प्रदूषण के स्तर को देखते हुए दिल्ली सरकार ने यह अजीबोगरीब फैसला सुनाया है और इस फैसले के बाद कई 100 वर्षों से चली आ रही सनातनी परंपरा पर एक और विराम लग जाएगा। जरा सोचिए दीवाली वह भी बिना पटाखों वाली आखिर कैसे संभव हो सकता है लेकिन दिल्ली सरकार की माने तो उन्होंने किसी भी तरह के पटाखे चलाने का पूर्णता प्रतिबंधित आदेश दिल्ली की जनता के लिए पारित कर दिया आइए जानते हैं क्या है यह आदेश...


खबर हटके हैं :- *आंटी शब्द सुनते ही* *महिला ने की लड़की की पिटाई* *करवा चौथ की खरीदी करने आई थी महिला..*


दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के साथ की बैठक




देश की राजधानी और दिलवालों की दिल्ली में आम आदमी की सरकार है और इसी आम आदमी पार्टी की सरकार के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को मुख्य स्वास्थ्य सचिव स्वास्थ्य अधिकारियों और सभी जिलाधिकारियों के साथ कोरोना की स्थिति का जायजा लेने एक बैठक का आयोजन किया। आगामी त्योहारों को देखते हुए कोरोना संक्रमण के प्रति ज्यादा सजग ता बरतने के आदेश अधिकारियों को दिए गए हैं वही दिल्ली में बढ़ रहे प्रदूषण के स्तर को देखते हुए दिल्ली सरकार ने राजधानी में किसी भी तरह से पटाखे जलाने पर पूर्ण प्रतिबंध का ऐलान कर दिया है यह प्रतिबंध 7 नवंबर से 30 नवंबर तक लागू रहेगा। यानी इस बार दिल्ली में बिना पटाखों की दिवाली होगी।


अजब गजब हादसा :- "कमबख्त स्पीड ब्रेकर" *आखिर पकड़वा ही दी..* *1 लाख की अवैध शराब...* *चौकिये मत..पढ़िए पूरी ख़बर*


बैठक में इन अहम मुद्दों पर हुई चर्चा


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार किए जाने की बात पर जोर दिया। उन्होंने दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन और आईसीयू बेड बढ़ाए जाने का भी ऐलान किया है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली हाईकोर्ट ने प्राइवेट अस्पतालों में आईसीयू बेड बढ़ाने की हमारी मांग पर रोक लगा दी थी। जिसके बाद बुधवार को हमने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की थी। हमें आशा है कि सुप्रीम कोर्ट स्थिति को देखते हुए रोक को हटा देगा। वही मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग पर जोर दिया जाएगा। इसके साथ ही मृत्यु दर को कम करने हर संभव प्रयास किए जा रहे है।


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अधिकारियों से मुखातिब हो रहे थे इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली इस समय कोरोना और प्रदूषण की जंग लड़ रही है। हम सभी के एकजुट प्रयास से ही हम इस जंग में जीत पाएंगे उन्होंने आशंका जताई है कि कहीं ऐसा ना हो कि बढ़ रहे प्रदूषण स्तर की वजह से कोरोना और भी भयावह स्थिति में फैल जाए।


उत्सव बना मातम:- *ऐसा क्या हुआ जो..??* *करवा चौथ की तैयारी में लगी..* *महिला ने कर ली आत्महत्या...*


घरों में लक्ष्मी पूजन कर कोरोना और प्रदूषण को भगाने का संकल्प लें - केजरीवाल




मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रदूषण और कोरोना से चल रही जंग को जीतने के उद्देश्य से दिल्ली वालों से आगामी दीपावली त्यौहार पर पटाखे ना जलाने और एक साथ लक्ष्मी पूजन करने के लिए कहा है केजरीवाल ने दिल्ली वाली जनता के नाम एक संदेश देते हुए कहा कि दीपावली के दिन रात्रि 7:39 बजे एक साथ लक्ष्मी पूजन कर कोरोना एवं प्रदूषण को दिल्ली से दूर भगाने का एकजुट होकर संकल्प करें।


खबर राजनीतिक गलियारों से :- *भाजपा के इन दिग्गज नेताओं पर लगा..* *गद्दारी करने का आरोप..* *जारी हुआ नोटिस...* *यहां जानिए किनपर चला संगठन का चाबुक*


पराली का धुआं बन रहा दिल्ली वालों की आफत


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि हर साल इसी महीने में दिल्ली का प्रदूषण स्तर चरम सीमा पर होता है जिसका सबसे अहम कारण पड़ोसी राज्यों से आने वाला पराली का धुआं है। पिछले कई सालों से यह दिल्ली वालों के लिए एक जटिल समस्या बनी हुई है लेकिन राज्य सरकारें ना तो इस ओर कोई ध्यान दे रही है और ना ही इस समस्या का कोई समाधान खोजा जा रहा है। नतीजतन हर साल इन महीनों के दौरान दिल्ली की आबोहवा में पराली के धुएं का जहर पूरी दिल्ली वालों को प्रभावित करने लगता है दिल्ली सरकार ने से लेकर एक अच्छा समाधान ढूंढ निकाला है।


*कुरकुरे खिलाने के बहाने..* *बच्ची का अपहरण..* *फिर गला घोट कर..* *कर दी मासूम की हत्या..*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार




पेज