Financial Company Chairman embezzled customers' deposits ग्राहकों की जमा राशि गबन का आरोप.. - Vikas ki kalam,जबलपुर न्यूज़,Taza Khabaryen,Breaking,news,hindi news,daily news,Latest Jabalpur News

Breaking

Financial Company Chairman embezzled customers' deposits ग्राहकों की जमा राशि गबन का आरोप..

Financial Company Chairman embezzled customers' deposits

कहीं आपका पैसा भी तो..

नहीं हो गया उड़न छू..

ग्राहकों की जमा राशि

 गबन का आरोप..

कंपनी के चेयरमैन सहित 10 के खिलाफ मामला दर्ज




ग्राहकों को लुभावने सपने दिखाकर उनकी जमा पूंजी को अपने कंपनी में निवेश कराने के बाद उनके पैसों का गबन करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है जहां पर पुलिस में हुई शिकायत के बाद दोषियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज विधिवत जांच की जा रही है। वहीं अब पुलिस महकमा वित्तीय कंपनी के कागजात और निवेशकों से जुड़े दस्तावेजों की बारीकी से जांच कर रही है।


*भाजपा के इन दिग्गज नेताओं पर लगा..* *गद्दारी करने का आरोप..* *जारी हुआ नोटिस...* *यहां जानिए किनपर चला संगठन का चाबुक*


कहाँ का मामला..कौन है जिम्मेदार..


मामला बड़वानी कोतवाली का है जहां सैकड़ों निवेशकों का पैसा हजम किये जाने की शिकायत दर्ज की गई है।

पाँसेमलक्षेत्र के दोडवाड़ा निवासी प्रवीण कहलाने और उनके साथ सैकड़ों लोगों ने एक वित्तीय कंपनी के ऊपर निवेशकों की जमा राशि हजम कर निवेशकों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया गया है।


*ऐसा क्या हुआ जो..??* *करवा चौथ की तैयारी में लगी..* *महिला ने कर ली आत्महत्या...*


पुलिस ने चेयरमैन सहित 10 पर किया मामला दर्ज...


वड़वानी के नगर निरीक्षक राजेश यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि निवेशकों की शिकायत पर  एक व्यक्ति कंपनी के चेयरमैन समेत 10 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज का संज्ञान में लिया गया है यह प्रकरण निवेशकों के आवेदन पर जांच के उपरांत दायर किया गया है जिसमें कृति कंपनी के चेयरमैन के अलावा ओम प्रकाश श्रीवास्तव प्रबंधक टेरिटरी हेड वाराणसी वीके श्रीवास्तव भोपाल के जोनल मैनेजर अनिल तिवारी इंदौर के असिस्टेंट एरिया मैनेजर देवेंद्र सक्सेना खंडवा रीजनल अधिकारी अमानतुल्लाह अंसारी खंडवा मैनेजर एसके सिंह और बुरहानपुर सेक्टर मैनेजर प्रमोद कुमार प्रसाद के खिलाफ विभिन्न धाराओं और मध्य प्रदेश निक्षेपकों के हितों के संरक्षण अधिनियम के अंतर्गत अपराध दर्ज किया गया है।


कंपनी पर आरोप है कि उसने 458 ग्राहकों की डिपॉजिट योजनाओं के अंतर्गत जमा की गई राशि चार करोड़ 11 लाख 8929 हजार रुपए परिपक्वता (मैच्योरिटी) होने के उपरांत भी वापस नहीं किए हैं


"कमबख्त स्पीड ब्रेकर" *आखिर पकड़वा ही दी..* *1 लाख की अवैध शराब...* *चौकिये मत..पढ़िए पूरी ख़बर*


नोट-विकास की कलम अपने पाठकों से अनुरोध करती है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें..


ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें। साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए।


विकास की कलम

चीफ एडिटर

विकास सोनी

लेखक विचारक पत्रकार



पेज